अपने ही खेल में फंस गई भाजपा, INDIA गठबंधन ने खेल पलट दिया! - instathreads

अपने ही खेल में फंस गई भाजपा, INDIA गठबंधन ने खेल पलट दिया!

देश का मिजाज एनडीए को तो 400 बार करके
रहेगा लेकिन भारतीय जनता पार्टी को 370
सीट अवश्य
देगा …. आप देख रहे हैं
4 पीएम एक तरफ सदन में खड़े होकर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया
कि एनडीए इस बार 400 पार करने वाली है
वहीं दूसरी तरफ तोड़फोड़ शुरू हो गए अब
सवाल खड़ा होता है कि क्या यह 400 पार
करने का दाव इंडिया गठबंधन में तोड़फोड़

चुनाव आयोग और ईवीएम के दम पर किया गया है
क्योंकि इंडिया गठबंधन से कितना घबरा रही
है भाजपा इसका अंदाजा आप लेटेस्ट खबरों से
लगा सकते हैं कि किस तरीके से एनसीपी का
जो सिंबल है वो उठाकर अजीत पवार को चुनाव

आयोग की तरफ से दे दिया गया नीतीश कुमार
ने पलटी मारी ममता बनर्जी ने पलटी मारी है
खबरें निकलकर सामने आ रही है लगातार
इंडिया गठबंधन में तोड़फोड़ की जा रही है
और इन सबके बीच सबसे बड़ी खबर उत्तर

प्रदेश से तब निकल कर सामने आई जब यह दावा
किया जाने लगा कि आरएलडी चीफ जयंत चौधरी
भी अब इंडिया गठबंधन का साथ छोड़ने वाले
हैं तो फिलहाल जयंत चौधरी क्या करने वाले
हैं और इस जो खबरें हैं उस पर अखिलेश यादव
ने क्या कहा है अखिलेश यादव ने क्या बड़ा

दावा किया है मैं आपको अखिलेश यादव का
बयान सुनाऊंगा बात प्रधानमंत्री ने जो 400
पार का दावा किया है उसके बाद से क्यों
इतना घबरा रहे हैं इस पर भी चर्चा करूंगी
और चर्चा करने के लिए हमारे साथ जुड़ रहे

हैं उत्तर प्रदेश से वरिष्ठ पत्रकार राशिद
जहीर जी जो कि उत्तर प्रदेश की राजनीति
में अच्छी खासी पकड़ रखते हैं नमस्कार सर
उत्तर प्रदेश में सर घमासान खींचतान खबरों
पर खबरें ब्रेकिंग न्यूज चलाई जा रही है

जयंत चौधरी ने बगावत कर दी है क्या अवस्था
ना जी बात यह है कल सबसे बड़ी खबर जयंत
चौधरी एनसीपी और जाने क्याक इस तरह की बात
है उससे दो दिन पहले की खबर आपको मालूम है
के बहुमत झारखंड में उससे तीन दिन पहले

केजरीवाल जेल में जा रहे हैं उससे थोड़ा
पहले चले जाओ नीतीश कुमार है उससे थोड़ा
पहले चलाओ 22 जनवरी है हमारा तो पूरा
पखवाड़ा पूरा महीना रोजाना ऐसी खबरों में
गुजर रहा है क्योंकि अब इलेक्शन करीब है

लेकिन फिर भी जैन चौधरी के बारे में जिस
तरह की सूचनाएं आ रही है हालांकि अभी तक
जैन चौधरी ने मेरी जानकारी के अनुसार अपने
मुंह से नहीं कहा है लेकिन फिर भी बहुत

बड़ा झटका है और झटका इस तरह से है कि जो
परसेप्शन बनाया गया था इंडिया गठबंधन का
प्रियंका जी उसमें सबसे बड़ा तो वाकई
नीतीश कुमार जी के नाम से लगा था क्योंकि
लोगों के जहन में जो पहले कभी जनता दल बना

था प्रियंका जी उसको बनता हुआ देखा टूटता
हुए देखा इसी तरह से एलायस जो है मजबूत
बनकर उभरा था इसमें नितीश कुमार ने जिस
तरह से धक्का मारा है या जिस तरह से उसको
जमी दोष करने की कोशिश की है तो उन तमाम

लोगों की उम्मीदों को भी झटका लग रहा है
अब य जैन चौधरी के बारे में जैसा आप कह
रही हैं वाकई जैन चौधरी अगर जा रहे हैं तो
ये हालाकि दो तीन सीटों को फर्क है कुछ

ज्यादा लंबा चौड़ा लेकिन फिर भी परसेप्शन
के तबार से बहुत बड़ा एक मामला है इसके
अंदर हम आगे बात करेंगे कि अखिलेश यादव जी
जो शिकायत कांग्रेस से करते हैं ना
कभी-कभी लिफ्ट ना मिलने की सामंजस्य नाना

बिठाने की यह छोटे-छोटे दल जो है ना चाहे
कोई से भी हो वो भी अक्सर थोड़ा सा अखिलेश
जी को थोड़ा सा जमीन पर आकर के काम करना
चाहिए और ज्यादा पीडीए की बात करते हैं तो
खाली वो

ने अखिलेश यादव की बात तो अखिलेश यादव का
बयान चलवा द क्योंकि अखिलेश यादव का पहला
बयान निकल कर सामने आया कल से खबरें निकल
कर सामने आ रही है जयंत चौधरी का कोई
अधिकारिक बयान नहीं निकलकर अभी तक सामने

आया है लेकिन अखिलेश यादव ने क्या कहा है
अपने दर्शकों को सुना देते हैं फिर चर्चा
को आगे बढ़ाते हैं जयं चौधरी जी बहुत
सुलझे हुए इंसान है बहुत पढ़े लिखे
हैं राजनीत को व समझते

हैं मुझे उम्मीद है कि किसानों की लड़ाई
और उत्तर प्रदेश की की खुशहाली की तरफ जो
संघर्ष चल रहा
है उस लड़ाई को वो कमजोर नहीं होने देंगे
बहुत सेकुलर लोग हैं अरे आडी और ये देखिए

भारतीय जनता पार्टी के द्वारा मीडिया के
माध्यम से भ्रमित किया जा रहा
है तो वो कहीं नहीं जा रहे तो सर सुना
आपने अखिलेश यादव का कहना है कि मेरी
उम्मीद है कि जयंत चौधरी नहीं जाएंगे वो

बहुत सुलझे हुए नेता है उम्मीद करता हूं
कि वो किसानों की लड़ाई के लिए संघर्ष चल
रहा है उसको और भी ज्यादा मजबूत करेंगे वो
हमारे साथ है इस गठबंधन को कमजोर नहीं
होने देंगे क्या कहेंगे सर शिवपाल यादव का
भी कहना है कि जयंत चौधरी नहीं जाने वाले

हैं यह भ्रम फैलाया जा रहा है भाजपा झूठ
फैला रही है वो इंडिया गठबंधन में रहेंगे
लोकसभा चुनाव हमारे साथ लड़ेंगे दूसरी तरफ
खबरें हैं क्या कहेंगे इस बयान पर प्रियंक
जी अगर यह कल से खबर इतनी सरगरम है देश के

बड़े बड़े मीडिया को बता रहे हैं तो जैन
चौधरी को छोटा सा ट्वीट करने में क्या
हर्ज है बताइए ज अपना छोटा सा ट्वीट कर
सकते हैं उनकी तरफ से कोई उनका बंदा
अधिकारिक बयान दे सकता है बल्कि मैं एक

बड़े नेता की बात कर रहा हूं जो अजीत सिंह
के जमाने से जुड़े हुए हैं उन्होंने कल एक
प्रोग्राम में आकर कहा कि बात लगभग कंफर्म
हो गई है चार सीटों प जो है उनकी सहमति बन
गई है और अब मैं आपको थोड़ा सा इसके पीछे

लेकर चलना चाहता हूं देखिए लोक दल जो है
राष्ट्रीय लोकदल यह जब जब भारतीय जनता
पार्टी के साथ आई है इसको थोड़ी बहुत
सीटें मिली है लेकिन 2004 से लेकर 2019 तक
अगर यह विपक्षी दलों के साथ गई है तो इनको
बहुत ज्यादा फायदा नहीं हुआ नुकसान हुआ है

एक बार तीन सीट जरूर आई थी इनकी साथ में
से तो इनको ज्यादा फायदा इसमें नजर आ रहा
होगा और दूसरी बात यह है अब मैं थोड़ी सी
बात य बताना चाहता हूं आपको कि गठबंधन की
चौधरी चरण सिंह जी ने सबसे पहले याद

रखिएगा एमएलसी अगर बनाया है तो मुलायम
सिंह को बनाया था चौधरी चरण सिंह ने विधान
परिषद में भेजने वाले चौधरी चरण सिंह और
आपको मैं एक बात बता दूं कि चौधरी चरण

सिंह की प्रतिमा जो व विधानसभा में लगी
हुई है उसको लगवाने वाले मुलायम
सिंह यह दोनों जब एक बार पिछले 20222 के
इलेक्शन में आए तो मैंने इनसे डायरेक्ट
सवाल किया मैंने कहा आप जो है आप जो है

गांवों में एक दूसरे के साथ नहीं जा रहे
हैं लेकिन आपके जो पिता श्री हैं नेताजी
और पूर्व प्रधानमंत्री उन्होंने यह काम

किया है तो यह हमारे जो जैंत चौधरी है
इनको मालूम ही नहीं था कि इनके वालिद साहब
ने जो है मुलायम सिंह जी को राज्य से वहां
भेजा है विधान परिषद तो एक दूसरे का
तो बरल लेकिन इनकी केमिस्ट्री है अब जैन

चौधरी की जहां तक बात है तो मैं आपको
बताऊं की बात सात सीट मिल रही है अब खबरें
निकल कर सामने आ रही है कि बीजेपी दो
सीटें देने वाली है आरएलडी की सीटों को
लेकर गणित ही नहीं बैठ पा रहा है क्या

कहेंगे सर और यहां से वहां से तो दो ही
सीट मिल रही है अगर
ख वहां से दो मिल रही है चार वो कन्फर्म
है चार में से तीन जीत जाएंगे लेकिन यहां
सात की जगह अगर 10 भी हो रही तो वो

कन्फर्मेशन नहीं है तो बात यह है कि
उन्होने अपना फायदा नजर आ रहा है नीतीश
कुमार के बाद तो प्रियंका सच बात यह है
किसी भी नेता के बारे में कोई बात कहना

वाकई हमें भी बहुत सोचना पड़ने लगा हमें
यह लगने लगा कि इतना तो आम लोग भी अपनी
जबान से नहीं फिरते हैं जितने इतने
बड़े-बड़े नेता अपनी जबान से फिर रहे हैं

नितीश कुमार ने आकर हालांकि कई बार किया
उन्होंने पलटन को कहा गया लेकिन यह वाली
बात पहले ही एलायस बनाया उसके शिल्पकार
खुद थे और आकर के उसको धराशाई करके चले गए
हालांकि धराशाई नहीं हुआ है वो गोदी

मीडिया कह रहा है लेकिन फिर भी अब जैन
चौधरी की जहा तक बात है तो मैं आपको बताऊ
जैन चौधरी ने हो सकता है य सोचा हो यार
चार सीट मिल रही है तीन जीत जाएंगे

केंद्रीय मिनिस्ट्री हो जाएगी देखिए गोदी
मीडिया ने परसेप्शन तो बना दिया कि 400
सीट आ रही है प आ रही है 350 आ रही है कह
रहे सा 370 तो अकेले आने वाली है भारतीय
जनता पार्टी को मोदी जी ने दावा किया है

सर कल का बयान है
उनका सामने आ वही खबर देखिए सर जी सर 370
की जगह अगर वो 71 कह देते तो मुझे ज्यादा
अच्छा होता 370 भी बेसिकली कटाक्ष है पूरा
देश प्रियंका कितने लोगों का है 140 करोड़

लोग बताते हैं ना कश्मीर की जनता 80 लाख
सवा करोड़ टोटल लोग हैं वहां जो मुस्लिम
समाज के लोग हैं घाटी में बाहर अंदर अगर
मिला लिया जाए तो ये छोटा सा तबका है 80

लाख एक करोड़ लोगों को आप उत्पीड़न करके
370 जानबूझ के बता रहे हैं आप है ना जिस
370 का कोई अस्तित्व नहीं है और 370 अगर
और 371 क्या है प्रियंका फिर आपने 35 से
370 हटाया है 371 भी तो बता दो कि हिमाचल
में मणिपुर में अरुणाचल प्रदेश में और

बाकी पूर्वोत्तर के राज्य में जमीन खरीद
सकते हैं या नहीं खरीद सकते 370 तो आप
अपने सर प लेकर घूम रहे हैं यानी कि सीटों
का आंकड़ा भी दिया है तो 370 का दिया जनाब
यानी कि आप बताना चाहते हैं कि देखिए मैं

जखम दूंगा हालांकि 370 के खत्म होने का
पूरे देश ने एक्सेप्ट किया है लेकिन वो
370 ठीक कहां हम तो इतना पूछना चाहते हैं
वो पूरी दुनिया के सामने हमने एक मुखौटा

बना रखा था उसके अंदर तो इतने छेद थे 370
जैसा कोई अस्तित्व नहीं था लेकिन आप बिला
वजे 370 है ये क्या सर इसी तोड़फोड़ के
बिना पर शुरू कर दिया गया आपने बिहार का

जिक्र किया और सही बात है भाई क्या कहा
जाए क्या ना कहा जाए समझना ही मुश्किल है
जब नीतीश कुमार पलटी मार सकते हैं मर
जाऊंगा नहीं जाऊंगा ये हो जाएगा वो हो
जाएगा फिर अगले ही पल जा सकते हैं तो कुछ

कहना कहना भी हम लोग क्या कहे क्या ना कहे
ये भी समझना मुश्किल हो जाता है लेकिन सर
यहां पर समझने वाली बात ये भी है कि
पब्लिक सब कुछ देख रही है झारखंड में किस

तरीके से हेमंत सोरोन ने सामना किया है
ईडी का और झुकने से मना कर दिया है हर एक
ऑफर ठुकराया ये अपने आप में नजीर साबित
करता है और अगर बात की जाए बिहार और
झारखंड की तो अभी खबर निकल कर सामने आई कि
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी एक हफ्ते

पहले वहां पर दौरा भी करने वाले थे यानी
कि तीन और चार का दौरा भी करने वाले थे
लेकिन ना जाने ऐसा क्या हुआ कि एकदम से
उन्होंने अपना दौरा भी कैंसिल कर दिया तो
झारखंड में तो खेला नहीं हो पाया जिस

तरीके की खबरें निकल करर सामने आ रही है
क्या बिहार में भी खेला नहीं हो पाएगा
क्योंकि नीतीश कुमार आज प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए पहुंचे क्या

कहेंगे सर प्रियंका झारखंड की जहां तक बात
है तो उसके बारे में तो काफी सोशल मीडिया
पर उड़ा है कि राहुल गांधी का उसी दिन
दौरा था जिस दिन मोदी जी का दौरा वहां

निरस्त हुआ है राहुल गांधी ने जमीन पलट कर
रख दी है झारखंड की एक लाइन की बात में और
कह के अपनी बात खत्म करता हूं 11 सीट वहां
भारतीय जनता पार्टी की है अगर ये हेमंत

सरकार की हेमंत सर सरकार को गिरा करके
अपनी बना ना काम तो इन्होने किया था कोशिश
भी इनकी थी लेकिन इनको यह एहसास हुआ कि ये

आएंगी क्योंकि आज मैं एक बात और बताता हूं
प्रियंका आपको झारखंड बंगाल उड़ीसा बिहार
और उत्तर प्रदेश का पूर्व याद रखना ये चार
जगह बता रहा हूं मैं आपको ध्यान रखिएगा यह
चार जगह ऐसी है जहां से कोई आंदोलन शुरू

हो सकता है वरना पूरे देश में कहीं कोई
आंदोलन होने वाला नहीं है हां साउथ वेल्ट
में समझदार लोग हैं अच्छे लोग लोग हैं
पढ़े लिखे हालाकि हम भी ठीक हैं वो ढंग के
लोग हैं वो इतने ज्यादा उसमें नहीं रहते

हैं लेकिन फिर भी यह वाली जो पट्टी है ना
यहां आंदोलन शुरू हो सकता आदिवासी हो
बिहार के लोग हो उत्तर प्रदेश के पूरब के
लोग हो उड़ीसा के लोग हो और वेस्ट बंगाल

के लोग हो ये लोग इनके अंदर आज भी एक
आंदोलन वाला एक जज्बा मौजूद है तो यहां पर
अगर झारखंड में कोई खेला करते तो हो जाता
मैं जैन चौधरी पर आने की कोशिश करता हूं

जैन चौधरी की जहां तक बात है नीतीश कुमार
की जहां तक बात है रंका जैन चौधरी के बारे
में एक बात आपको बता हूं बहुत काम की 2014
में जब अजीत सिंह को भारतीय जनता पार्टी
ने 10 सीटें देने की बात कही थी कितनी 10

सीटें 2014 में तो यही वह लड़का था जो
अपने बाप के खिलाफ हो गया था इसने कहा
नहीं हम भारतीय जनता पार्टी के साथ नहीं
जाएंगे अड़ गया था ये लड़का तो फिर आज ऐसी
मजबूरी क्या है मैं बताना ये चाहता हूं कि

अखिलेश यादव हालांकि मैं बहुत संभल के बात
कर रहा हूं देखिए छोटा और बड़ा कुछ नहीं
होता जब राज भर उनको उठा कर के अमित शाह
प्रधानमंत्री के बराबर में बिठा देते हैं

तो जैन चौधरी तो फिर भी तीन चार सीटों पर
वो करता है एक मुजफ्फरनगर की सीट पर
अखिलेश यादव उसको इतना ज्यादा नाक का
प्रश्न बना रहे हैं कि उनको नाराजगी हो गई
नितीश कुमार भी ऐसे नाराज हुए थे ये

कांग्रेस आई के ऊपर आरोप लगाते हैं कि
कांग्रेस आई ढिलाई का रवैया इख्तियार करती
है छोटे दलों को महत्व नहीं देती अखिलेश
यादव भी कुछ कुछ इस तरह से करना है ये

जाटों के जाने से जाटों के आने से जैन
चौधरी के जाने से जैन चौधरी के ना आने से
एक बात बता रहा हूं कोई फर्क नहीं पड़ेगा
सुन लीजिए क्यों नहीं पड़ेगा अजीत सिंह को
इसी मुजफ्फरनगर में हराया था संजीव

बालियान ने अजीत सिंह को और बागपत में
इनको हरा दिया गया था क्यों मैं आपको
बताता हूं ये लोकनीति का आंकड़ा है 2017
में जाट समुदाय ने जितने वोट दिया था 2022
में किसान आंदोलन के बाद प्रियंका जी यह

उम्मीद की जा रही थी कि किसान और जाट गुजर
यह सारा का सारा भारतीय जनता पार्टी के
खिलाफ जाएगा लेकिन 2000 202 का आंकड़ा
लोकनीति का उठा लीजिएगा आप कहे तो मैं
आपको दे दूंगा उसके अंदर 2017 से ज्यादा

जाट लोगों ने वोट दिया भारतीय जनता पार्टी
कोय 35 साल से भारती 35 वर्ष से भारतीय
जनता पार्टी को वोट दे रहा है जाट और पूरी
दुनिया में जाट क है नहीं इसी पट्टी में
जाट है सिर्फ मैं आपको बता दूं ये

मुजफ्फरनगर शामली केराना मथुरा यहां तक
चले जाइए अलीगढ़ भी चले जाइए इस पट्टी पर
जाट है आलू वाला जाट है और गन्ने के गन्ना
किसान है ये दो लोग है और प्रियंका जी

आपने बिल्कुल सही य नीतीश कुमार यह तमाम
शिंदे इनको घेरने की बात ही है कि 303
सीटें कहां से लाए अब एक मिनट की बात मैं
और लूंगा आपसे मैंने एक आंकड़ा लिखा है

अगर आपके आप भी सुने और हमारे दर्शक भी
उसको सुन लेंगे इन्होंने कहा साहब हम जो
है 400 सीटों प जीत रहे हैं 370 तो हम
जीतने जा रहे हैं बिल्कुल अच्छी बात है
370 जीत सकते हैं ये लेकिन अब एक बात

बताइए प्रियंका जी मैं आपको एक ही लाइन
में ज्यादा समय आपका लूंगा नहीं बहुत
इंपोर्टेंट समय है आपका लेकिन मैं एक ही
लाइन में एक बात बताने की कोशिश करना

चाहता हूं आपको आप जरा मेरी बात को ध्यान
से सुनिए बहुत अच्छा लगेगा 370 सीट तो
इनकी 400 प्लस इनके गठबंधन की अब देखिए
आंध्रा में डबल जीरो है डबल जीरो आनी है
जी तमिलनाड में इनकी डबल जीरो है केरला

में इनकी डबल जीरो है तेलंगाना में इनका
कोई मसला नहीं है एक डेढ़ दो सीट है वहां
प चार सीट आ गई थी पिछली बार दो ती वहां
पर कोई गेन होने वाला नहीं है व कांग्रेस
साइब अच्छी मजबूत हो रही है कर्नाटक में

इनको नो गेन है भा 27 में से आप 28 तो
जीतने से रहे आप 25 जीत लेंगे वहां प कमी
हो नो गेन बिहार के अंदर आप नो डाउट 40 के
40 ही जीतेंगे हम तो ये कह रहे हैं आपसे
39 जीत थी ना 40 जीत लेंगे एमपी के अंदर

27 सीटें 29 सीटें आप सारी जीत लेंगे पहले
भी आपने जीती थी छत्तीसगढ़ में भी आप जीत
लेंगे कोई वहां पर राजस्थान की 25 सीटें
आप जीत लेंगे गुजरात की 23 आप जीत लेंगे

वेस्ट बंगाल की आप 18 सीटें हैं वहां 48
तो करने से रहे 18 से नीचे होंगी झारखंड
के अंदर 11 सीट हैं वो आप जीत लेंगे आसाम
के अंदर जितनी जीत उतनी जीत लोगे उत्तर

प्रदेश की 80 सीट जीत लोगे अब इसके अलावा
आप यह बताओ एक साहब लिखते हैं कि क्या
नेपाल से बांग्लादेश से लेकर आओगे सीटें
अरे 300 सीट 300 सीट 303 सीट जभी तो जीते

थे जब आप शत प्रतिशत आपका रिजल्ट निकला था
कहां से लाओगे भाई भाई तमिलनाडु में आपको
नहीं आंध्र प्रदेश में आपको नहीं तेलंगाना
में आपको नहीं अच्छा आप सुनिए कर्नाटक में
घट मध्य प्रदेश में घटने के चांसेस है

तेलंगाना में तो आप कुछ थे ही नहीं अब
मध्य प्रदेश में घट जाए उत्तर प्रदेश में
भी 10 पाच सीटें घट जाएंगी चलिए ना घटे हम
तो पूरी दे रहे हैं हरियाणा में आप घट रहे
हैं दिल्ली में आप घट रहे हैं पंजाब में
आप घट रहे हैं बिहार में भी पांच सात

सीटें घट जाएंगी पता नहीं कहां से आ रही
है अब एक बात बताइए 545 में से 150 सीट तो
प्रियंका जी साउथ की है वहां प आप डबल
जीरो है आप प कुछ है नहीं अब बचती है 400
तो एक बात बताइए 400 सीटों में 350 आपके
बानते पड़ रहे हैं उसमें तेलंगाना भी है

करना मतलब क्या बताऊं मैं आपको लेकिन
बहरहाल ये परसेप्शन बनाया जा रहा है और उस
परसेप्शन को तोड़ने का काम है जैन चौधरी
वाला नीतीश गए शिंदे गए जैन चौधरी गए अब
आम आदमी क्या सोचेगा अरे यार इंडिया

गठबंधन कुछ नहीं है बेकार है लेकिन इतनी
ही तेजी के साथ आना चाहिए गठबंधन के
नेताओं को अखिलेश यादव को जमीन पर उतरना
चाहिए अखिलेश यादव अगर हमारी बात सुन रहे
हैं तो हम तो तजुर्बे में उनसे कम है

लेकिन पीडीए जो उन्होंने बनाया था आप
अल्पसंख्यक में तो बिल्कुल बेफिकर रए छोड़
दीजिए वो तो वोट आप प आएगा आएगा लेकिन जो
दलित का वोट है जो पिछड़े का वोट है
पिछड़ा वोट बहुत मजबूत है मुलायम सिंह ने

उसे उसे साधा था बेरी प्रसाद वर्मा
सोनेलाल पटेल ये तमाम लोगों को लेकर के आप
पिछड़ों में और दलितों में लोकल छत्र पैदा
पैदा कर दीजिए बड़े-बड़े नेता निकाल लाइए
लोकल उनको लड़ाई है ना मुसलमान तो वोट

देने को तैयार है लेकिन घर से आप निकलेंगे
नहीं विज्ञप्ति आप जारी कर देंगे ट्वीटर प
आप लिख देंगे तो राहुल गांधी को फिर आरोप
लगाने की जरूरत नहीं है छोटे दलों को
देखिए एक बात सुन लीजिए अब इनके मामले हैं

दो चार सीटों प 10 सीटों प इनका फर्क है
जब वो भूषण साहब जो थे वो क्या कहते हैं
ओलंपिक वो कुश्ती वाले उनके ऊपर पूरे
हिंदुस्तान ने धम मचा दिया दिल्ली के अंदर

हमारी बहन बेटियां जमीनों पर लेट गई लेकिन
भारतीय जनता पार्टी को मालूम था कि छह सात
सीटों पर वोट का फर्क पड़ेगा हटाया नहीं
उसे मैडम एक जमाने बाद जाकर के उसको खत्म
किया गया तो जब वो इतनी परवा करते हैं तो

आप भी आज जैन चौधरी की परवा कीजिए ओम
प्रकाश राजराज दारा सिंह यह तमाम लोग आपसे
छूट कर जा रहे हैं महान दल वगैरह पहले थे
37 पर वोट आप ही तो लेकर आए थे ना गठबंधन
को मिलाकर देखिए अखिलेश यादव अगर वाकई इस
काम को जैसा वो करना चाहते हैं अगर वो

एक्टिवली प्ले हो जाए तो आप यकीन मानिए
भारतीय जनता पार्टी को 30 से 35 सीटों का
नुकसान उत्तर प्रदेश में हो जाएगा दिल्ली
नहीं पहुंच पाएंगे बिल्कुल
स उत्तर प्रदेश से ही हो जाता है दिल्ली

का रास्ता बिल्कुल सही सर आपने जो उत्तर
प्रदेश की राजनीति को लेकर पूरा समझाया है
सीटों के गणित से लेकर क्या फार्मूला जो
बताया वो अपने आप में बहुत-बहुत रोचक है
और सोचने वाली बात यह है कि जिस तरीके से

यहां पर इंडिया गठबंधन की अगर बात की जाए
तो इंडिया गठबंधन तभी मजबूत होगा जैसा कि
आपका कहना है जब छोटे-छोटे दलों का भी आप
ध्यान रखेंगे ख्याल रखेंगे बहुत-बहुत
शुक्रिया सर जो भी जानकारी आपने हमें दी

है तो ये है उत्तर प्रदेश का अपडेट जिसमें
आप जानते हैं कि खबरें तो चलाई जा रही है
कि जयंत चौधरी बगावत करने वाले हैं जयंत
चौधरी ने एक ट्वीट भर भी नहीं किया कि वो

क्या करने वाले हैं क्या नहीं करने वाले
हैं अखिलेश यादव ने कहा है कि वो सुलझे
हुए आदमी है वो नहीं जाएंगे मैं उम्मीद
करता हूं फिलहाल उम्मीद पर पूरा चुनाव
टिका हुआ है मोदी जी भी उम्मीद कर रहे हैं

कि 370 आएगा एनडीए 400 पार कर जाएगी
फिलहाल किस तर्ज पर कर जाएगी ये भी सोचने
वाली बात है क्योंकि 150 सीटों पर तो साउथ
है और साउथ में बीजेपी का पत्ता साफ है तो

फिलहाल इन बयानों पर इस खबर पर और इस
चर्चा पर और जो राशिद जहीर जी की तरफ से
फैक्ट एंड फिगर पेश किए गए हैं उस पर आपकी
क्या राय है हमें कमेंट बॉक्स में जरूर
लिखें वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर

करें सब्सक्राइबर बटन दबाए हमारे चैनल को
जवाइन करें लाइक करें सब्सक्राइब करें फिर
मिलती हूं अगली खबर के साथ तब तक के लिए
धन्यवाद

Leave a Comment