किसानों ने किया भारत बंद तो मोदी सरकार में मचा हाहाकार !| Farmer Protest - instathreads

किसानों ने किया भारत बंद तो मोदी सरकार में मचा हाहाकार !| Farmer Protest

कुछ ना कुछ किसानों को देकर के इसका
समझौता कर लिया जाए वरना मोदी को बहुत
मुश्किल हो जाएगा धरने मजारे भी बहुत किते
पर कोई सुनवाई नहीं हो रही असी भी किसाना

एक पक्का मोर्चा लाे असी जेला तो तो डर
नहीं हैगे चाहे सार ना कुछ मर्जी हो जावे
ये मोदी सरकार है वो शिक्षा नीति 2020
लेके आई है और वो बहुत ही खतरनाक नीति है

वो देश के देश को तबाह करके रख देगी सरकार
को 2024 की इलेक्शन में यह बता देंगे कि
यह लोगन
और यह सरकार को झुकना पड़ेगा मांगों के
ऊपर केंद्रित होना पड़ेगा हम इस देश के

वासी हैं जो आपने बात की कि वहां गोली चल
जाएगी गोली से डर नहीं लगता पंजाब वासियों
ने देश के लिए बहुत ज्यादा कुर्बानिया दी
है अब भी पंजाब को किसान को मजदूर को
मुलाजिम को बचाने के लिए हमारे किसान

कुर्बानियां देने से पीछे नहीं हटेंगे हम
दिल्ली जरूर जाएंगे मोदी ने मांगे ना
मनिया तो मोदी को 2024 में ऐसा सबक
सिखाएंगे कि मुड़के मोदी देश में नहीं आ
सकेगा 4 पीएम न्यूज नेटवर्क में आप सभी का

स्वागत है मैं हूं सतेज कांत इस समय पंजाब
के राजपुरा में हूं और यह जो लोकेशन
कहलाती है पहारा चौक है पीछे आप देख पा
रहे हैं यहां पर तमाम सारे बैनर हैं और इन

बैनर प एक तरफ देख पा रहे हैं आप ऑल
इंडिया किसान सभा पंजाब और तमाम अलग-अलग
यहां बैनर्स है और आपको बता दें यहां पर
हमारे साथ तमाम किसान यहां पर मौजूद है
पीछे भी आप एक बैनर देख पा रहे होंगे यहां

पे इस बैनर तले यहां पर लगातार एक ब
प्रदर्शन चल रहा है पीछे तक के आप देख
पाएंगे तो रोड पर सन्नाटा है और यह

सन्नाटा इसलिए क्योंकि आज भारत बंद है
सड़क पर सभी बैठ कर के प्रदर्शन कर रहे
हैं और एक तरफ आप देख रहे हैं शंभू बॉर्डर
पर पंजाब हरियाणा बॉर्डर पर लगातार किसान

डटे हुए हैं अपनी मांगों को लेकर के तीन
चरण की बैठक हो चुकी है लेकिन अभी तक के
कोई भी नतीजा नहीं निकला है किसान दिल्ली
चलने को बिल्कुल तैयार है बस इंतजार कर
रहे हैं एक मैसेज का क्या कुछ होगा अभी

कुछ कुछ भी नहीं पता है आपने देखा पिछली
खबरों में मैंने दिखाया कि किसान लगातार
बोल र है कि इसे 15 से 20 मिनट लगेगा
बॉर्डर तोड़ करके आगे बढ़ जाएंगे

शांतिपूर्ण तरीके से हमारे साथ यहां पर
तमाम किसान हैं हम इनसे बात करेंगे और
जानेंगे कि आगे की क्या रणनीति और आज भारत
बंद है इसको लेकर के क्या कुछ कहेंगे पहले
आपसे बात करते हैं आज भारत बंद सभी किसान

यहां पर सड़कों पर बैठे हुए हैं देश के
अलग-अलग हिस्सों में सब तस्वीरें देखने को
मिल रही है क्या कुछ कहेंगे हम तो यही
कहेंगे मोदी सरकार को के किसानों का
मजदूरों का जो करय उसको ना ज्यादा परेशान

करें जो हमारी मांगे हैं तीन राउंड की बात
हो गई उसमें से कुछ न चोर नहीं निकला यही
भला है उसके लिए कि कुछ ना कुछ किसानों को
देकर के इसका समझौता कर लिया जाए वरना
मोदी को बहुत मुश्किल हो जाएगा मुश्किल

करने को तैयार है आप हां जी आज जो भारत
बंदा सदा है हिंदुस्तान दिया ट्रेड यना
हिंदुस्तान दिया किसान जथ बंदिया और जो
संयुक्त मोर्चा पंजाब दा है उन्ना सार ने
सद्दा दिता हिंदुस्तान बंद असी राजपुर दे

विच सारे किसान मुलाजिम मजदूर रल के सवेर
तो लेके इथे जाम कीता और बंदन असी सफल
बनाया है मंगा साडिया पुरानिया हीने जो
पहला 2020 दे विच सयुक्त मोर्चे लो दिल्ली
दे धरना दिता गया सवा साल जो धरना चल मोदी

सरकार ने जो समझौते कीते और लिखती मंग
दिता सन मैं किसाना न एमएसपी लागू करा इ
दे कर्जे माफ करा बिल 2020 न मैं रद करा
पराली सान ज कानून है उन भी मैं रद करूगा

पर समा हो गया तो बाद मोदी सरकार लारे ते
लारा सग जुलम बना रही है अ ड्राइवर ते एक
काला कानून लागू करता टन रन जिंदे विच असी
भी आने ड्राइवर हरेक ड्राइवरी करता है और
जड़ा जुलम उन्होने करना है वह बहुत वडे

पदर ते हो र है जड़ किसान शंभू लड़ रहे ने
असी उन्ना का पूरा समर्थन करते हैं खट्टर
सरकार ने व हिटलर उस द याद कराती है के

बीजेपी द जो गुंडा सरकार है साडे ते हमले
कर रही है य आने वाली 24 दे विच मोदी
सरकार न असी दस दंगे तेरा पंजाब दे विच तो
बीज नाश कर देना हरियाणा विच भी
हिंदुस्तान पहाड़ा तो लेके पिंडा तक आज जो
बनदा सदा दिता है साड़िया मंगा बहुत नहीं

जदा तक मंगा नहीं क्योंकि मुलाजमत हमले
कीते जा रहे ने ना नौकरी दे र थे तक जुलम
हो रहा है साडिया पहना ग्रेजुएट जिन्न
नौकरी नहीं मिल रही व पंप ते तेल पा रही
एक पीएचडी करदा सब्जी बेच र है चाहे वो

मान सरकार है चाहे वो मोदी सरकार है और
झूठ कह रहे भी असी नौकरिया दे रहे हैं जद
के बेरोजगारी है व बहुत ब पदर बध रही है ज
ब र जो पंजाब लुटा खो र व इसे द नतीजा है
सरकार ने आन वाले दिन दे विच ज बेरोजगारी

महंगाई ते किसाना दिया मंगा ना मनिया तो
बहुत वडा प्रदर्शन होएगा सरकार सन रोक
नहीं सकेगी हक्का सच्चा जो लड़ लोग नहीं व
क जेला तो नहीं डर लोग एक बात सर आपसे भी
करेंगे क्या य मान सरकार की बात करें

दूसरी तरफ खट्टर सरकार की बात करें कोई
सपोर्ट नहीं कर रहा क्या आप लोग को सान
कोई भी जड़ी सरकार है सेंटर द सरकार है
भावे बीजेपी द हरियाणा द सरकार है भावे

इथे भगवंत मान द सरकार है जड़ कीर्ति लोक
है मेहनत काश लोक है उन्ना जना बड़ा औखा
हो गया ये ज बंद एडा कामयाब होया है ये
इससे गल रिजल्ट है कि लोका न आम जिंदगी

जनी भी औखी हो गई है लोका दिया रोजी
रोटिया खोया जा रहिया है ते लोका न गरीबी
ल तक क्या जा रहा है कितने परसेंट लोग
गरीबी रेखा तो हेठा चले गए हैं बहुत घट

लोग खुश हैं इस सरकार तो क्योंकि एक
कारपोरेट घराने दे कहन ते ही नीतिया करट
दे हैं ताकि उन्हा दे जड़ होर भंडार भरे
जान अडानी ज है अबनी है य दुनिया द अमीर
बंदा बन गया राज दे विच है जड़ गरीब है
गरीबी बल तके गए हैं इस करके एडे प्रदर्शन

हो रहे हैं ते आने वाली ज लोकसभा चौन है
उद विच न पता लग जाएगा कि ना पॉलिसी की
रिजल्ट है क्योंकि वोटा तो आम लोका ने
पानी अडानी बाबानी ने वोटा नहीं पानी इसन
है असी लोग इस धरती के मालिक है असी इस
हिंदुस्तान के मालिक है साडे पूर्व जाने

आजादी की लड़ाई अपनी कुर्बानिया देके इस
हिंदुस्तान न बचाया है ते असी द राखी
करंगे असी न दि पॉलिसिया चलने नहीं
देवांगे न बंद कर देंगे और भी तीखे संघर्ष

आ रहे हैं असी अपने संघर्ष न और भी प्रचंड
करंगे धन्यवाद यहां देखिए प्रदर्शन में
महिलाएं भी हैं आप लोग की क्या मांगे हैं
मन में क्या आता है अभी जब इस तरीके का
प्रदर्शन बड़ा लगातार होता है तो
असी आंगनवाड़ी वर्कर है जो के मोदी सरकार

सारी सेंटर द जड़ तनखा है वो तीन तीन
महीने चार चार महीने भी हो जांदे ने ज सान
नहीं ह पा रहे न सान छ महीने हो गए जो सान
तनखा नहीं मिल रही ते अन्य बहाने मार रहे
ने मजार भी बहुत कितने पर कोई सुनवाई नहीं

हो रही असी भी किसाना एक पक्का मोर्चा लाे
असी जेला तो तो डर नहीं हैगे चाहे सा ना
कुछ मर्जी हो जावे एक बात और आगे बढ़ रहे
हैं वहां पर बॉर्डर पर देख रहे लगातार
गोलों की बारिश हो रही रात में भी गोलियां

चली है रबर गोलिया और आंसू गैस के बम भी
फेंके आगे बढ़ेंगे तो गोलिया भी चल सकती
है डर नहीं लगता कि जान जा सकती है नहीं
ये किसान है ये गुरुओं पीरों की धरती के

मालक हैं ये और इनको तो जो मर्जी हो वो
अपना जबर कर ले और यह सर किसान है जो यह
सरकार को दबा के ही हटेंगे और यह वाडर बडर
तो कुछ भी नहीं है यह तो अपने लीडरों की
तरफ देख रहे हैं अगर वो एक अछरा कर दें तो

वो ये तो पाड़ के रख देंगे इनको जो जितना
भी बर्डर है कोलिया चले चाहे जो मर्जी चले
और दूसरी बात ये मेरे साथियों ने पहले
संयुक्त किसान मोर्चे की मांगों की बात कर

ली है और जो मुलाजिम है यह मोदी सरकार है
वह शिक्षा नीति 2020 लेके आई है और वो
बहुत ही खतरनाक नीति है वो देश के देश को
तबाह करके रख देगी पुरानी पेंशन है वो

बहाल की जा रही और जो ये एमएलए मंत्री जो
बड़े-बड़े लोग हैं ये तो आठ आठ पेंशन ले
रहे हैं 10-10 पेंशन ले रहे हैं और एक दिन
के लिए मंत्री बने एक दिन के लिए एमएलए
बने तो उनकी पेंशन लग जाती है और जो

मुलाजिम है मुलाजिम वो 28 30 साल वो सरकार
को देता है उसको ये पेंशन नहीं दे रहे और
उसको मारने की तैयारी कर रहे हैं और मैं
एक बात कहना चाहता हूं किसानों की मांगों
पर अगर सरकार ने ध्यान ना दिया तो अगर
सरकार ये किसान मरा तो मुलाजिम भी मरेगा

दुकानदार भी मरेगा व्यापारी भी मरेगा
मजदूर भी मरेगा विद्यार्थी भी मरेगा तो
इसलिए यह सारे इकट्ठे हुए हैं और ये सरकार
को 2024 की इलेक्शन में यह बता देंगे कि
यह लोग कौन है और यह सरकार को झुकना
पड़ेगा मांगों के ऊपर केंद्रित होना

पड़ेगा क्या मांगे हैं मेन मांगे आपकी
मांगे मेन ये है संयुक्त किसान मोर्चे की
एमएसपी है वो लागू की जाए किसानों के ऊपर
जो केस दर्ज किए गए हैं उनको रद्द किया
जाए लखमीपुर में जो दोषी है उनको सजा दी

जाए व मंत्री जो बैठा रखा है उसमें केंद्र
में सरकार में उसको बर्खास्त किया जाए अजय
मिश्र टनी को अजय मिश्र टनी को और जो इनके
किसानों के कर्जे हैं वो माफ किए जाए
पुरानी पेंशन बहाल की जाए शिक्षा नीति

2020 है वो रद्द की जाए और मांगों की जो
मांगे हैं मुलाजिमों की तमाम मांगे और
संयुक्त किसान मोर्चे की उनको मांगों को
माना जाए एक बात और करेंगे अभी दिल्ली
जाने की पूरी प्लानिंग है आप लोग की सबसे
बड़ी बात यह सरकार को किसान से अपने देश

के किसान से डर क्या है किस बात का डर है
जो आप लोग को आगे नहीं बढ़ने दिया जा रहा
यही तो हम मोदी से पूछना चाहते हैं कि
पंजाब देश का हिस्सा नहीं है जो जो सिंभू
बॉर्डर को पाकिस्तान का ही बॉर्डर बना
दिया गया है यही मोदी को हम पूछना चाहते

हैं उनके मंत्रियों ने हमारे साथी जो वहां
बैठे हैं तीन गेड की मीटिंग कर लिया उनको
कोई जवाब नहीं आया कि हम इस देश के बासी
नहीं है हम इस देश के बासी है जो आपने एक
बात की कि वहां गोली चल जाएगी गोली से डर

नहीं लगता हमारे पंजाब के पंजाब वासियों
ने देश के लिए बहुत ज्यादा कुर्बानियां दी
हैं अब भी पंजाब को किसान को मजदूर को
मुलाजिम को बचाने के लिए हमारे किसान
कुर्बानियां देने से पीछे नहीं हटेंगे

लेकिन संयुक्त मोर्चे का जो 18 तारीख की
मीटिंग है पंजाब के बीच में उस मीट के बाद
जो भी निर्णय होगा हमको दिल्ली जाना पड़ा
तो दिल्ली दूर नहीं दिल्ली जाएंगे जितनी
मर्जी रोके लाए जितनी मर्जी गोलियां चले

हम डरने वाले नहीं है जरूर जाएंगे हमारी
जो मांगे हैं एमएसपी की मांग है
स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू करनी चाहिए जो
किसानों पर दिल्ली मोर्चे में केस दर्ज
हुए हैं सारे केस वापस लेने चाहिए और

किसान मजदूर का जो कर्जा है वह माफ करना
चाहिए उतनी देर किसान मजदूर मुलाजिमों का
जितनी एकता है वह पीछे नहीं हटेगी हम
दिल्ली जरूर जाएंगे ज मोदी ने मांगे ना

मनिया तो मोदी को 2024 में ऐसा सबक
सिखाएंगे कि मुड़के मोदी देश में नहीं आ
सकेगा दादा एक बात और करेंगे यह
लोकतांत्रिक देश है और सबसे बड़ी बात अगर
हम कर ले तो यहां पर देखते हैं बाबा साहब

भीमराव अंबेडकर का जो संविधान है उसको
माना जाता है पीछे भीमराव अंबेडकर की हम
एक बड़ी मूर्ति भी देख रहे हैं बात करें
तो इस संविधान को कैसे देख रहे कैसे चल
रहा है सब कुछ देखो जी जड़ भीमराव अंबेदकर

ने संविधान बनाया सी व तो रोज द रोज तोड़
जा र और काले कानून ज व लागू कीते जाने
पहला न खेती कानून लागू कीते सी और न एट
प्रेजेंट हिंदुस्तान दे साडे किसाना दे
नाल रवैया ता जा र जि असी पाकिस्तान दे

उते अपनी आम गोलाबारी चल स सा उते बम सटे
जा रहे ने और एक्सपायरी डेट वाले अथ गस ज
गोले ने वो सिटे जा रहेने सा ऊपर और
गोलिया सिटिया जा रही एक बात आपसे भी कर

ले मोदी जी कहते सब चंगा स न साल बेमिसाल
क्या वाकई में
है सच बोल दे मोदी
जीद चंगा सी सड़का क्यों लया सार जबिया
किसाना नाल किना धक्का कर रहेने हो ही खतम
करन आ रहे ने की पंजाब ना डर सी उ बडर बना

के रखता उने जबी उ राज खुश होई द दो चंगा
जबी जा किसे मुलाज उने पूरा किता मुलाज
पहले स चंगा सी चाहे ट सीगी जो भी
कंटिन्यू आ रही सीगी कुछ सा ज ज बंदी
आंगनवाड़ी मुलाजिम यूनियन है ठीक है जी

मिडे मेलने सा ज साथी आसा वर्कर ने उने
चलो जो भी मिल र सी कम से कम उ मने मिलते
जा छछ महीने वर्क बैठ ने इ खर्चा उ सिरते
तनखा दे सिरते ही नहीं उन्न टाइम ना मिल र

कि करने विधवा ने विच जि खर्चा से दे तो
सारी जबिया किसाना नाल की कर रहे ने इ ने
कानून किव नवे लागू करते ने ते जड़ी सा
नौजवान पीढ़ी उ वास्ते ज इने शुरू करता है
आर्मी दा उ की अग्निवीर इने नमा किता वो
वधिया किता है न वधिया है न साल अच्छा एक

चीज और पूछे क्या जहां पर वहां पर मैं
बॉर्डर पर देख रहा हूं पुरुष किसान ज्यादा
है क्या महिलाएं भी जाएंगी दिल्ली तक मैं
जा रही है आप जाके देखो हम वहीं से आए हैं
मैं शंभू से ही हूं मेरे तो नजदीक में है

गांव हम तो जा रहे हैं कल भी गए थे आज भी
जाना था तो यहां भीली के लिए आप लोग भी
निकलोगे निकलेंगे साथ में निकलेंगे हमारी
फसले ही तो वहीं से तो हमारे परिवार का

होता है किसान ही तो हम तो किसान हैं वहीं
से ही तो खाना है और हम इनकी सरकार की
सरकार तो हमें आज नहीं कल निकाल देगी जैसी
वो दिन प्रतिदिन नीतियां ले आ रही है उनके

आश्रय थोड़ी हमने तो यहीं से खाना है
किसानी से ही खाना है तो हम तो जाएंगे
अपने जो भी है परिवार के साथ किसानों के
साथ भाइयों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर

चलेंगे बिल्कुल आखरी में अगर पूछे कि अगर
बातें अगर नहीं मानी जाती है
और रविवार का दिन दिया गया उस दिन भी आपकी
बातें जो रखी गई है क्लियर नहीं होती तो
आगे की क्या तस्वीरें होने वाली क्या अभी

तो सब बॉर्डर पर बैठे हैं इसका जवाब जी जी
जी बताए हाज गले है जी साडी मंगा नहीं
मांदे हैं तो साडी 18 तारीख न संयुक्त
किसान मोर्चे पंजाब मीटिंग हो रही है उ वि
फैसला लेया जाएगा कि अगला प्रोग्राम की

डिप पर्सन जो आदेश आएगा पूरा अपने लो आप
राप कोई नहीं करता जो हुकम जिने कने उने
बंद कर य नहीं है अप मर्जी करते क्या
कहोगे आप मैं नब सिंह लोमा जन सत्र भारत
निर्माण मिस्त्री मजदूर सीआईटी लो जिथे

अपने कंस्ट्रक्शन वर्कर सा उ दि मंग
वास्ते लड़ रहे पंजाब सरकार नाल साडी
लड़ाई है साडिया स्कीमा कटौती कर दतिया
उथे असी साडी आंगनवाड़ी सा मनरेगा मजदूर
यूनियन ते उस सारी कृति यूनियन असी सारे

रल के सीटू नाल जो संबंधित है अपनी मंगा
वास्ते जिथे लड़ रहे हैं उथे साड़ी ट्रेड
यूनिन द ते संयुक्त किसान मोर्चे द ऊपर
समझौता होया समझौता इस करके असी सारे इठे
हुए क्योंकि देश खतरे है संविधान खतरे है

साडा भाईचारा खतरे है भाईचारे न निशाना
बना के सारा कुछ कराया जा रहा रोज मीडिया
ते मंदिर मस्जिद मंदिर मस्जिद हिंदू
मुस्लिम हिंदू मुस्लिम लोकान पाड़ के
नरेंद्र मोदी 2024 गद्दी ते आना चाहता इस

करके सारे इकट्ठे होके साडा निशाना इ को
है नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र
मोदी न हटाओ ते देश न बचाओ देखिए नाराजगी
कितनी है आप देख रहे बॉर्डर पर लगातार
तमाम किसान बैठे हुए लगभग चार से पा

किलोमीटर तक के ट्रैक्टर खड़े हुए हजारों
की संख्या में लाखों की संख्या में वहां
पर किसान मौजूद हैं लगातार मैं आपको
तस्वीरें दिखा रहा हूं बॉर्डर से पंजाब
हरियाणा बॉर्डर से और यहां पर इस समय अगर
मैं बात करूं फुहारा चौक की यहां पर किसान

बैठे हुए थे लगातार यहां पर प्रदर्शन जारी
था आज पूरे देश भर में भारत बंद का ऐलान
कर दिया है और तस्वीरें आपने देखी सभी में
नाराजगी और बोल रहे हैं अगर बातें नहीं
मानी गई तो 204 लोकसभा चुनाव में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को और भारतीय
जनता पार्टी को सरकार से हटा देंगे देखने
वाली बात होगी कि क्या जो तीन चरण की बैठक
के बाद चौथी बैठक जो रविवार को जो बोली गई
है क्या उसमें बातें मान ली जाएंगी या अभी

भी बड़ा संशय रहेगा और जिस तरीके से
किसानों ने बोला है दिल्ली कुछ करेंगे
यहां महिलाओं ने बोला दिल्ली कुछ करेंगे
तो क्या तस्वीरें आगे होने वाली वो भी
दिखाऊंगा और सबसे बड़ी बात यह सरकार को

किसानों से डर क्या है यह प्रश्न पूरे देश
के किसान पूरे 10 पूरे देश के एक-एक
व्यक्ति पूछ रहे हैं जो इन किसानों के
अन्न दाताओं के अन्न खाते हैं

धन्यवाद

Leave a Comment