क्यों इस Lady IAS से डरता था पूरा सरकारी सिस्टम ? | 17,000 Crore Rupees Scam Story | - instathreads

क्यों इस Lady IAS से डरता था पूरा सरकारी सिस्टम ? | 17,000 Crore Rupees Scam Story |

5 मई रात 8 बजे ईडी के जॉइंट डायरेक्टर
कपिल राज दिल्ली के एक रेस्टोरा में डिनर
कर रहे थे तभी अचानक उनके पास एक कॉल आती
है कॉल करते ही तुरंत वो डिनर छोड़कर अपने
ऑफिस की तरफ जाते हैं लेकिन आखिर ऐसा क्या

हुआ था उस कॉल में कि कपिल राज को एक
अर्जेंटली ऑफिस जाना पड़ा ऑफिस पहुंचकर
उन्होंने अपनी टीम के सभी मेंबर्स को कॉल
किया और इमीडिएट राची पहुंचने के लिए बोला

और वह खुद भी ईडी की तीन टीमों के साथ
तुरंत दिल्ली से झारखंड के लिए रवाना होते
हैं सभी मेंबर्स को झारखंड के रांची में
पहुंच करर मिलना था वो अलग-अलग जगह से
डिफरेंट व्हीकल से रांची पहुंचते हैं कोई
कार से वहां पर पहुंचता है तो कोई बस या
फिर बाइक से रात के 12:00 बजे तक पूरी टीम

राची पहुंच जाती है जहां उन्हें बताया
जाता है कि यह एक टॉप सीक्रेट मिशन है
इसके बारे में किसी को कानो कान खबर नहीं
होनी चाहिए यहां तक कि इस सीक्रेट मिशन के
बारे में लोकल पुलिस को भी पता नहीं चलना
चाहिए क्योंकि यह एक बड़े आईएएस ऑफिसर के
मनी लरिंग का माम मामला है झारखंड में
करप्शन इल्लीगल माइनिंग और ब्लैक मनी का

नाम आने पर हर सुबा पर या तो ईडी का नाम
आता है या फिर इस ऑफिसर का कहते हैं इस
ऑफिसर ने दौलत और ताकत तो कमाई लेकिन कुछ
ऐसा कर गई जिसकी वजह से पैसा और इज्जत
दोनों खो दिया अब सवाल यह आता है कि आखिर

यह ऑफिसर कौन थी जिस पर रेड करने के लिए
ना केवल दिल्ली से तीन टीमें आई बल्कि
लोकल मीडिया और नेशनल मीडिया भी पीछे
घूमती रही इस कहानी की शुरुआत होती है
उत्तराखंड के देरादून से 7 जुलाई 1978 को
एक लड़की का जन्म होता है जिसका नाम था

पूजा सिंघ स्कूल और कॉलेज को टॉप करने के
बाद आईएएस के लिए प्रिपरेशन करने वाली यह
लड़की साल 2000 में महज 21 साल 7त दिन की
उम्र में उस समय की सबसे यंगेस्ट आईएएस
ऑफिसर बनी इसके लिए इसका नाम लिंका बुक ऑफ
रिकॉर्ड्स में सबसे कम एज में आईएएस बनने
वाली लड़की के रूप में दर्ज किया गया

स्कूल से लेकर यूनिवर्सिटीज तक स्टूडेंट
ऑफ द ईयर और रहने वाली पूजा सिंगल की पहली
पोस्टिंग झारखंड के हजारी बाग में एसडीओ
के पद पर होती है और फिर यहीं से इनका
आईएएस का सफर शुरू होता है यहां पर इन्हें
एजुकेशन डिपार्टमेंट में हो रहे एक घोटाले

के बारे में पता चलता है जिसमें सरकारी
योजनाओं के बुक्स को कुछ लोगों द्वारा
इलीगली बेचा जा रहा था यानी ब्लैक
मार्केटिंग की जा रही थी यह इमीडिएट अपनी
टीम को बुलाती हैं और अपनी टीम के साथ हर
उस जगह पर छापामारी करती हैं जहां से इस
इल्लीगल काम को ऑपरेट किया जा रहा था

छापामारी में मिली सभी बुक्स को जब्त किया
जाता है और ब्लैक मार्केटिंग करने वाले इन
लोगों को हवालात के पीछे धकेल दिया गया और
फिर इस रेड की सक्सेस के साथ ही इनका
प्रमोशन का दौर शुरू हो जाता है इन्हें
टाइटल दिया जाता है एक दबंग आईएएस ऑफिसर
का उस समय आईएएस की प्रिपरेशन करने वाली

हर स्टूडेंट का सपना था कि वह पूजा सिंघल
की तरह दबंग आईएएस ऑफिसर बने इसी बीच इनकी
मुलाकात होती है इनके सीनियर ऑफिसर
डेप्युटी क कमिशनर राहुल पुवार से और फिर
धीरे-धीरे यह दोनों क्लोज आते जाते हैं
इनकी लव स्टोरी भी आईएएस कपिल टीना दाबी

और अथर खान की तरह है उस समय अगर भैया
सोशल मीडिया का क्रेज आज की तरह होता तो
बच्चे बच्चे की जुबा पर पूजा सिंघल का नाम
होता खैर इनकी लव स्टोरी के बारे में हम
आपको वीडियो के लास्ट में बताएंगे पहले हम
यह जानते हैं कि दूसरों पर रेड करने वाली

आईएएस पूजा सिंघल पर इंफोर्समेंट
डिपार्टमेंट के द्वारा रेड क्यों की जा
रही थी देखिए ऐसा नहीं है कि शुरुआत से ही
पूजा ने कर करना स्टार्ट कर दिया हो
इन्होंने बहुत अच्छे से काम किया है जब यह
राजेंद्र इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में

डायरेक्टर थी तो इन्होंने यहां पर
फैसिलिटी को इंप्रूव करने और मैनेजमेंट को
सही करने में एक बड़ा रोल प्ले किया है
गवर्नमेंट फंड से डिसेबल लोगों की मदद की
बेडस की संख्या को 1000 से बढ़ाकर 1500
करवाया डॉक्टर और नर्सेसलैब्स
शादी भी करवाई अभी तक इनकी लाइफ में सब

कुछ सही चल रहा था लेकिन अब यह समय आ गया
था कि इन पर करप्शन के आरोप लगना शुरू हो
गए थे यह कोई छोटे-मोटे आरोप तो थे नहीं
बल्कि करोड़ों के घोटाले के आरोप थे इस पर
सबसे पहले आरोप यह लगा कि जब यह 2007 में
त्रा की डेप्युटी कमिश्नर थी तब इन्होंने

1 करोड़ 43 लाख के मनरेगा के पैसे का
घोटाला किया था और जब इन्हें लगा कि इस
घोटाले पर ध्यान देने वाला कोई है नहीं तो
इन्होंने इस घोटाले को कंटिन्यू रखा और
लगभग ₹ करोड़ रप जमा कर लिया था और फिर जब
2008 में इनका ट्रांसफर खूंटी में हुआ और

खूंटी की डेप्युटी कमिशनर बनी तो काले
पैसे को छिपाने के लिए इन्होंने यह पैसा
दो एनजीओ को दे दिया जबकि फाइल्स में ऐसा
दिखाया गया कि आयुर्वेदिक औषधि वायग्र और
मूसली की खेती में पैसा लगाया गया है जबकि
ऐसी कोई खेती तो हुई ही नहीं थी और फिर

2009 से 2010 तक इस घोटाले में लगभग 188
करोड़ की राफ फरी की गई मनरेगा घोटाला तब
सामने आया जब पूजा सिंघल की जगह पर आए
दूसरे डेप्युटी कमिश्नर ने इंजीनियर्स के
द्वारा किए गए काम के हिसाब किताब की जांच

के लिए एक इन्वेस्टिगेशन कमेटी बनाई इस
इन्वेस्टिगेशन में यह पता चलता है कि पूजा
सिंघल ने मनरेगा से फंड का जो पैसा निकाला
था उसके बारे में अपने सीनियर ऑफिसर्स तक
को नहीं बताया इस मामले को लेकर 2012 में

ईडी ने पूजा सिंघल के अगेंस्ट केस रजिस्टर
कर लिया था इस समय झारखंड में 2010 से
2013 तक अर्जुन मुंडा की सरकार थी
इन्होंने एसीबी यानी एंटी करप्शन ब्यूरो
को पूजा के बारे में जांच करने का आदेश
दिया लेकिन चीफ मिनिस्टर के आदेश के बाद

भी कोई ठोस सबूत ना होने की वजह से और
झारखंड में पूजा सिंगल की पदवी और पावर को
देखते हुए एसीबी ने कोई जांच नहीं की
लेकिन उन्होंने पूजा सिंघल पर नजर रखना तो
शुरू कर दिया था और अब इन इन्वेस्टिगेशन
एजेंसीज को तलाश थी तो एक अच्छे मौके और

सबूत की इन पर एक और आरोप लगता है कि कई
लोकल एरियाज में अपनी ड्यूटी सर्व करने के
बाद जब पूजा सिंघल को 2012-13 में पलामू
के एक जंगल का डेप्युटी कमिशनर बनाया गया
तो अथॉरिटी होने की वजह से पूजा सिंघल ने
अपने आसपास के एरियाज के सभी माइनिंग

 

ऑफिसर्स को अपने अंडर में लेकर अपने सीए
सुमन कुमार के जरिए कोयला आयरन बालू पत्थर
लाइमस्टोन की माइनिंग करना स्टार्ट कर
दिया माइनिंग से रिलेटेड कोई भी बात करने
के लिए पूजा ने अपने बावजी की सिम अपने
मोबाइल में डाली और फिर उसी नंबर से

माइनिंग से रिलेटेड बातें होती थी वो भी
कोड वर्ड में लेकिन पूजा सिंघल उस समय फंस
गई जब इन्होंने आदिवासियों के 33 एकड़
जमीन पर प्राइवेट कंपनी उषा मार्टिन को
बिना किसी सरकारी ऑर्डर के माइनिंग के लिए

दे दी जिसको लेकर आदिवासियों ने विरोध
प्रदर्शन किया और इस प्रदर्शन को देखते
हुए वहां के डिवीजनल ऑफिसर ने इसकी जांच
करवाई जिसमें पूजा सिंघल को दोषी पाया गया
लेकिन इन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई अब
पूजा सिंघल की इस स्टोरी का एक किस्सा यह

भी आता है कि जब 2014 से 19 में में
झारखंड के चीफ मिनिस्टर रघुवर दास बने थे
तो एक बार जब रघुवर दास जन संवाद कर रहे
थे तो इस जन संवाद में एक व्यक्ति आता है
और कहता है कि धनबाद में उसकी एक दुकान है
जिस पर कुछ लोग पैसे की वसूली करने आते

हैं और वह लोग बताते हैं कि यह पैसा रांची
में बैठी आईएएस ऑफिसर पूजा सिंघल को देना
पड़ता है यहां पर अब मजेदार बात यह है कि
पूजा सिंगल खुद चीफ मिनिस्टर के बगल वाली
कुर्सी पर बैठी होती हैं तो यह सुनकर सभी

लोग ठहा के ल गा करर हंसने लगते हैं और
सीएम साहब उसकी बात सुनकर हंसते हुए वहां
से चले जाते हैं लेकिन सीएम के साथ पूजा
के संबंध अच्छे होने की वजह से पूजा के
खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया जाता अब 2019
के हेमंत सोरेन चीफ मिनिस्टर बनते हैं और

पूजा सिंघल पर लगे इतने आरोपों के बाद
इन्हें माइंस एंड इंडस्ट्रीज डिपार्टमेंट
का सेक्रेटरी बना दिया जाता है लेकिन अगर
आपको याद है तो ईडी की नजर पूजा पर बनी
हुई है और इन्वेस्टिगेशन अभी भी जारी है

और इसी इन्वेस्टिगेशन के दौरान 2020 में
ईडी रोड कंस्ट्रक्शन में घटिया माल का यूज
करने के चलते एक जूनियर इंजीनियर राम
विनोद सिन्हा को गिरफ्तार करती है इस
इंजीनियर के पास उसकी आय से 679 पर ज्यादा
संपत्ति मिली और जब इस इंजीनियर के साथ

इंटेरोगेशन किया गया तो पता चलता है कि
घोटाले का 5 पर कमीशन इंजीनियर
डिपार्टमेंट को भी जाता था और 15 पर कमीशन
डीसी ऑफिस में जब ईडी ने इसकी जानकारी
निकाली तो पता चला कि उस समय वहां की डीसी
पूजा सिंगल थी और इस तरह ईडी को पूजा के
अगेंस्ट पुख्ता सबूत मिल जाता है लेकिन

अभी भी ईडी और इंतजार करती है जब इन्हें
माइन सेक्रेटरी बनाया गया तो उसमें भी
लगभग 4000 करोड़ का मनी लरिंग का घोटाला
हुआ और फिर इसी घोटाले के साथ पूजा सिंघल
के इस केस में मनरेगा से शुरू हुई ईडी की

यह जांच इल्लीगल माइनिंग की तरफ मुड़ गई
झारखंड के कोयले की खान धनबाद के
बैकग्राउंड पर बनी बॉलीवुड फिल्म गैंग्स
ऑफ बसपुर तो आपने देखी ही होगी इसमें एक
गाना है काला रेस सैया काला रे तन काला रे

मन काला रे काली जुबा की काली गाली सैया
करते जी कोल बाजारी अब यह गाना माइंड
सेक्रेटरी आईएएस पूजा सिंगल पर 100 फीसद
फिट बैठता है और अब वो डेट आ चुकी थी
दोस्तों कि जब कई सालों के बाद ईडी का
इंतजार खत्म हुआ यानी 5 मई 2022 की रात को

पूरी टीम रांची में ही स्टे करती है और
फिर अगले दिन सुबह होते ही सूरज की पहली
किरण के साथ ईडी और अदर इन्वेस्टिगेशन
एजेंसीज सीआरपीएफ और सीआईएस टीम के साथ
मिलकर मनरेगा और माइनिंग घोटाले के
आरोपियों को रेड करने के लिए रवाना हो जा

दि है जिसके लिए ईडी की टीम ने पांच
स्टेट्स झारखंड बिहार पश्चिम बंगाल
हरियाणा और राजस्थान में 25 जगह पर रेड
किया जिसमें रांची जयपुर दिल्ली कोलकाता
मुजफ्फरनगर शामिल भी हैं सबसे पहले ईडी की
अलग-अलग तीन टीम पूजा सिंघल के बंगले पर

उनके सीए सुमन सिंह के घर और पूजा सिंघल
के पति डॉक्टर अभिषेक झा के पल्स हॉस्पिटल
में पहुंचती है अब आप सोच रहे होंगे कि
भैया इनकी प्रेम कहानी तो डेप्युटी
कमिश्नर राहुल पुरवार के साथ चल रही थी

इनके बारे में भी आपको बताएंगे फिलहाल
चलते हैं अपनी कहानी पर देखिए जब ईडी की
टीम पूजा सिंघल के घर का दरवाजा खटखटा है
और कहती है कि हमें आपके घर की तलाश लेनी
है हमारे पास वारंट है यह सुनते ही जल्द
से जल्द पैसा कमाने का लालच रखने वाली

पूजा सिंघल को एक शोर का झटका लगता है
इनके घर की जांच के समय एक रेड डायरी
मिलती है जिसमें इस घोटाले से जुड़े हुए
नेता और ऑफिशल्स जानकारी भी मिली इनके पति
के पल्स हॉस्पिटल में हुई अचानक रेड में
हॉस्पिटल में प्रेजेंट सभी लोगों को रोक

लिया गया और बिना आईडी प्रूफ दिखाए किसी
को बाहर तक नहीं जाने दिया सबसे ज्यादा
रुपया पूजा के सीए कुमार के पास मिला जब
उससे इस पैसे के बारे में पूछा गया तो
उसने बताया कि मैं कई कंपनीज का सीए हूं
तो इसमें से किसी का भी पैसा हो सकता है

इससे ईरी को समझ में आ गया कि इतनी आसानी
से जानकारी मिलने वाली नहीं है और फिर ईडी
ने उसके पास से चार कार्स को भी जब्त कर
लिया लिया और उससे भी पूछताछ के लिए
हिरासत में ले लिया दूसरी तरफ पूजा सिंघल
से भी लगभग 17 से 18 घंटे पूछताछ की गई

जिसमें पूजा ने कोई भी इल्जाम एक्सेप्ट
करने से मना कर दिया और उल्टा ईडी के
ऑफिशल्स को धमकाया कि यह मेरा एरिया है
तुम मुझे नहीं जानते यहां तुम मेरा कुछ
नहीं बिगाड़ सकते और फिर दिसंबर में ईडी
ने उनके पति के अस्पताल डायग्नोस्टिक

सेंटर और दो जगह जमीन के टुकड़ों को जबत
कर लिया जिनकी टोटल कीमत लगभग 82 करोड़ की
तो थी इन सब अलावा उनके ससुर कामेश्वर झा
के घर पर भी रेड की गई इसके अलावा जहां
पूजा के माता-पिता और भाई रहते थे उस जगह

पर भी रेड की गई इस रेड में पूजा सिंघल के
सीए सुमन सिंह के रांची वाले आवास में 19
करोड़ 31 लाख नकद और 150 करोड़ से ज्यादा
के अलग-अलग सेक्टर में किए गए
इन्वेस्टमेंट के डॉक्यूमेंट मिले इस
छापामारी के बाद 8 मई को ईडी ने पूजा

सिंगल को पूछताछ के लिए सामान भेजा और फिर
लगातार तीन दिन यानी न 10 और 11 मई को
पूजा सिंघल से घंटों घंटों तक इंटेरोगेशन
किया गया और फिर अगले दिन 12 मई के

न्यूज़पेपर की ब्रेकिंग न्यूज़ थी पूजा
सिंघल अरेस्टेड इस पूरी इन्वेस्टिगेशन में
पता चलता है कि पूजा के पास दो पैन कार्ड
थे इनके पति के हॉस्पिटल की जो जमीन थी वह
विवादित थी जिसे पूजा ने ही अपने पावर का

यूज करके अपने पति को दिलाई थी इस जमीन को
खरीदने के लिए पूजा ने बैंक से 23 करोड़
का बैंक लोन दिलवाया था गुन्हा साबित होने
के बाद बा झारखंड की स्टेट गवर्नमेंट ने
पूजा सिंघल को उनकी ड्यूटीज और माइनिंग

 

सेक्रेटरी के पद से हटा दिया जेल पहुंचते
ही पूजा सिंघल को चक्कर आ गया जेल
कर्मियों ने दवा खिलाई तब जाकर वह होश में
आई इसके बाद वह पूरी रात वहां मच्छर काटने
और वर्ड में पसरी गंदगी बदबू के चलते नहीं
सो सके सुबह जेल के जमादार पर रॉब दिखाया
और जेल का खाना खाने से इंकार कर दिया

पूजा का कहना है कि उन्होंने
इन्वेस्टिगेशन में ईडी टीम की हर तरीके से
मदद की है और आगे भी वो ऐसे करती रहेंगी
अभी उनका फिलहाल स्वास्थ्य सही नहीं है
जिसकी वजह से वह चाहती हैं कि उन्हें

जमानत मिलनी चाहिए लेकिन कोर्ट का कहना है
कि पूजा सिंघल पर गंभीर आरोप है और इन
आरोपों के पर्याप्त सबूत भी हैं जेल से
बाहर आने के बाद वह इस मामले को प्रभावित
कर सकती हैं ऐसा बोलते हुए इनके वकील

सिद्धार्थ लूथर को तारीख पर तारीख दी जाती
रही है वहीं बात करें तो पूजा सिंघल ने दो
शादियां की थी जिसमें उनकी पहली शादी
राहुल पुरवार से हुई थी जो 1999 बैच के
आईएएस हैं जबकि पूजा 2000 बैच की आईएएस

ऑफिसर हैं मतलब राहुल पूजा के सीनियर
ऑफिसर थे फिर बाद में इनकी आपसी अनबन के
चलते उनके बीच झगड़े हुए और बात तलाक तक
पहुंच गई उनकी एक बेटी भी है जिसका नाम

आयुषी पुरवार है और फिर तालाब के बाद पूजा
सिंघल की मुलाकात एक बिजनेसमैन अभिषेक झा
से होती है इस समय पूजा पलामू में
डेप्युटी कमिश्नर थी इनकी बातचीत की
शुरुआत
अच्छे होते चले गए और फिर इन्होंने शादी
कर ली अभिषेक राची में पल्स हॉस्पिटल

चलाते थे अब देखिए ईडी की जांच के बाद
पूजा सिंघल की कुल संपत्ति में राची का 80
लाख का घर 8000 का 7800 स्क्वा फीट का एक
प्लॉट है 4500 स्क्वा फीट का एक कमर्शियल
प्लॉट है जिसकी कीमत 1.10 करोड़ है इन

सबके अलावा कोलकाता में भी एक कर है जिसकी
कीमत ₹ लाख है तो फिलहाल दोस्तों आज की
वीडियो से हमें ये सीखने को मिलता है कि
लालच बुरी बला है भैया इससे हमें बचकर
रहना चाहिए

Leave a Comment