चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने कॉंग्रेस के बैंक खातों पर लगाया ताला! वाह मोदी जी वाह! - instathreads

चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने कॉंग्रेस के बैंक खातों पर लगाया ताला! वाह मोदी जी वाह!

अरे भाई मोदी सरकार इस बात का ढोंग ही कर
लीजिए कि भारत एक लोकतंत्र है आप जानते
हैं मोदी सरकार के इनकम टैक्स विभाग ने
क्या करामात की है जैसे कि आप जानते हैं
दोस्तों सिर्फ दो या तीन हफ्ते रह गए हैं
लोकसभा चुनावों का ऐलान होने वाला है और

लोकसभा चुनावों के ऐलान के बस कुछ हफ्तों
पहले मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बैंक
खातों पर ताला लग गया है दोस्तों बैंक
अकाउंट्स को फ्रीज कर दिया गया है और वजह
क्या बताई जा रही है वजह ये बताई जा रही
है कि अपने इनकम टैक्स रिटर्न्स फाइल करने

मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूं यह
लोकसभा के चुनाव क्यों हो रहे हैं इसे भी
रद्द कर दीजिए जब विपक्षी दल चुनाव ही
नहीं लड़ पाएंगे और ना सिर्फ बैंक खातों
को फ्रीज किया गया है बल्कि यह भी कहा गया

है कि आप 210 करोड़ रुपए दीजिए
तब हम आपके बैंक खाते खोलेंगे इस बीच
कांग्रेस के वाइन आर्ट से सांसद राहुल
गांधी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है राहुल
गांधी कहते हैं कि मोदी जी डरो मत
कांग्रेस धन की ताकत नहीं जन की ताकत का

नाम है हम तानाशाही के खिलाफ लड़ेंगे
मुकाबला करेंगे और कांग्रेस का हर
कार्यकर्ता इसके खिलाफ मैदान में
उतरेगा अजय माकन ने कांग्रेस के नेता अजय
माकन में इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस
की और उन्होंने कहा कि इसके जरिए लोकतंत्र
को खत्म किया जा रहा है सुनिए अजय माकन

क्या कह रहे हैं कांग्रेस पार्टी के
अकाउंट फ्रीज कर दिए गए हैं हमारे देश में
लोकतंत्र पर तालाबंदी हो गई
है और यह कांग्रेस पार्टी के अकाउंट फ्रीज
नहीं हुए हैं हमारे देश में डेमोक्रेसी
फ्रीज हुई
है हैरानी की बात यह

है कि जब दो हफ्ते
केवल या हफ्ता चुनाव घोषणा के लिए रह गए
हो ऐसे समय में प्रमुख अपोजिशन पार्टी के
अकाउंट फ्रीज
करके यह सरकार क्या दिखाना चाहती है और
किस आधार पर फ्रीज करे गए हैं मैं आपको

 

बताना चाहूंगा तो हास्य पद
है और ना केवल कांग्रेस पार्टी
के कल शाम को यूथ कांग्रेस के भी अकाउंट
फ्रीज कर दिए
गए
और यूथ कांग्रेस और कांग्रेस दोनों के

अकाउंट जो फ्रीज करे गए
हैं 210 करोड़ की रिकवरी इनकम टैक्स
डिपार्टमेंट ने यूथ कांग्रेस और कांग्रेस
से मांगी 210 करोड़ की कुल रिकवरी अजय
माकन ने यह भी बताया कि दरअसल किस वजह से
यह काम किया गया है जैसे कि मैंने आपको

पहले बताया दोस्तों कि इनकम टैक्स
रिटर्न्स फाइल करने में थोड़ी देरी हो गई
अजय माकन का कहना था आप और हम अक्सर इनकम
टैक्स रिटर्न्स फाइल करने में थोड़ी देर
कर देते हैं मगर इसका मतलब यह नहीं कि आप
बैंक अकाउंट्स को फ्रीज ही कर दें और वह
भी मामला आज का नहीं है 5 साल पहले का है

यानी कि 2018 2013 का सुनिए अजय माकन क्या
कह रहे हैं यह
201819 के इनकम टैक्स रिटर्न्स के बेसिस
के ऊपर यह 210 करोड़ की रिकवरी मांगी गई
है 201819

की अभी क्या है 2024 चल चुनाव आने वाला है
201819 के इनकम टैक्स रिटर्नस के बेसिस के
ऊपर और क्या कारण है दो कारण एक कारण कि
हम लोगों
को 31 दिसंबर 2019 तक अपने हम लोगों को
अकाउंट सबमिट करने थे और शायद 40 45 दिन

लेट अकाउंट सबमिट उस वक्त किया इनकम टैक्स
के ऊपर हम सब के सब लोग 1015 दिन अक्सर
बहुत लोग लेट हो जाते हैं
उसके बेसिस के ऊपर एक कारण यह और दूसरा
कारण क्या
है कि 20181 इलेक्शन का वर्ष

था और उस इलेक्शन के वर्ष में कुल 199
करोड़ की 199 करोड़ की रिसीप्ट कांग्रेस
पार्टी की थी जो इलेक्शंस में खर्च हुए थे
199
करोड़ उसमें से सिर्फ
1440000 रुपया सिर्फ 1440000

 

हमारे कांग्रेस के एमपी और एमएलएस ने एक
महीने की अपनी तनखा कैश में जमा कराई थी
सिर्फ 14400
हजार और सिर्फ 14400 हजार कैश में जमा
कराया इसकी वजह से 210 करोड़ का रिकवरी का

पेनल्टी कांग्रेस के ऊपर लगा दी गई है यह
कारण दोस्तों आज मैं चाहूंगा कि मैं आपका
ध्यान खीचू कि भारतीय जनता पार्टी और
कांग्रेस के बैंक अकाउंट्स में इस वक्त
कितना पैसा है यह आंकड़ा है मार्च 2023 का

दोस्तों और मार्च 203 में कांग्रेस के
बैंक खातों में 162 करोड़ रुपए थे 162
करोड़ रुपए यानी कि आज से करीब 11 महीने
पहले कांग्रेस के बैंक खातों में 162
करोड़ थे अब आप कहेंगे कि भाजपा के अकाउंट
में कितने थे तो भाजपा के अकाउंट में थे
5425 करोड़

रुप फर्क देख रहे हैं आप भाजपा के बैंक
अकाउंट में
5425 करोड़ और कांग्रेस के अकाउंट में 162
करोड़ और उस अकाउंट को भी इनकम टैक्स
विभाग मोदी सरकार के इनकम टैक्स विभाग ने

फ्रीज कर दिया है सवाल यहां पर यही किया
जा रहा है दोस्तों ऐसे में कांग्रेस चुनाव
कैसे लड़ेगी और सबसे बड़ी बात अगर यही
आपको करना है तो चुनाव ही रद्द कर दीजिए
मैं आप आपको बतलाना चाहूंगा कि कांग्रेस
अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सख्त तेवर

अपनाए हैं मल्लिकार्जुन खड़गे क्या कह रहे
हैं आपके स्क्रीन्स पर सत्ता के नशे में
चूर मोदी सरकार ने लोकसभा चुनावों से ठीक
पहले देश की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अकाउंट्स

फ्रीज कर दिए हैं यह लोकतंत्र पर गहरा
आघात है भाजपा ने जो असंवैधानिक धन इकट्ठा
किया है उसका इस्तेमाल वे चुनाव में
करेंगे लेकिन हमने क्राउड फंडिंग के जरिए
जो पैसे इकट्ठा किए हैं उसे सील कर दिया
जाएगा इसीलिए हमने कहा है कि भविष्य में

कोई चुनाव नहीं होंगे हम न्यायपालिका से
अपील करते हैं कि इस देश में मल्टी पार्टी
सिस्टम को बचाएं और भारत के लोकतंत्र को
सुरक्षित रखें हम सड़कों पर उतरेंगे और इस

अन्याय व तानाशाही के खिलाफ पुरजोर तरीके
से लड़ेंगे दोस्तों मैं आपको बतलाना चाहता
हूं कि ये बैंक अकाउंट सुप्रीम कोर्ट के
उस ऐतिहासिक फैसले के ठीक एक दिन बाद किए
गए हैं याद कीजिएगा दोस्तों कल ही सुप्रीम
कोर्ट का फैसला आया है जिसमें उन्होंने

मोदी सरकार द्वारा लाए गए
सीक्रेट इलेक्टोरल बंड यानी गुप्त चुनावी
चंदे को रद्द कर दिया है उसे
अनकंस्टीट्यूशनल बताया है उन्होंने यह तक

कहा था और गौर कीजिएगा उन्होंने यह तक कहा
था यह जो गुप्त चुनावी चंदे हैं कई धन्ना
सेठ कई उद्योगपति यह गुप्त चुनावी चंदे
देते हैं सत्ता पक्ष को पता चल जाता है कि
भैया किसने कितना चंदा दिया है और फिर
पॉलिसी मेकिंग में यानी नीति निर्धारण में

उन औद्योगिक घरानों को तरजीह दी जाती
है राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल ने तो इसे
सबसे बड़ा भ्रष्टाचार बताया है जी हां
कांग्रेस भी इसे सबसे बड़ा घोटाला बता रही
है क्योंकि हो क्या रहा है दोस्तों सरकार

को पता चल जाता है कौन सा औद्योगिक घराना
कितने पैसे दे रहा है अब वह जो पैसे दिए
जा रहे हैं उसकी एवज में सरकार उनको क्या
फायदा पहुंचा रही है यही वजह है कि
सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि एस आए
तुरंत बताए कि किस औद्योगिक घराने ने किस

 

पॉलिटिकल पार्टी को कितना पैसा दिया
है दोस्तों जैसे ही जानकारी सामने आएगी यह
पता चल जाएगा कि किस औद्योगिक घराने को
पिछले 10 सालों में या 2018 के बाद से
कितना फायदा मिला है कितनी अनड्यू फेवर्स
मिले

हैं मैं इंतजार कर रहा हूं उस फेहरिस्त का
उस फेहरिस्त का जिसमें कौन-कौन से िक
घराने किन-किन औद्योगिक घरानों के किन-किन
गुनाहों को माफ किया गया किन-किन गुनाहों
पर पर्दा डाला गया और अब तो कमाल ही कर

दिया गया दोस्तों कांग्रेस के बैंक खातों
को ही फ्रीज कर दिया गया है आप भाजपा के
समर्थक हो सकते हैं मगर आप भी इस बात से
इत्तफाक रखेंगे कि लोकतंत्र में चुनावों
में मुकाबला जरूरी है मगर जब एक पॉलिटिकल
पार्टी की जेब में पैसे ही नहीं होंगे तो
मुकाबला कैसे करेगी अब कांग्रेस मैदान में
उतर रही है व वो कह रही है कि हम इसके

खिलाफ संघर्ष करेंगे मगर ये जो भाजपा
सरकार कर रही है ना दोस्तों इन्होंने
1975 और 1977 के बीच का जो दौर था जब
आपातकाल थी उस दौर तक को शर्मसार कर दिया
है वो दौर भी इस दौर के सामने बौना दिखाई
दे रहा है वाकई शर्मनाक है मैं उम्मीद
करता हूं कि मोदी सरकार को सद्बुद्धि

मिलेगी क्योंकि इनकम टैक्स विभाग ने जो ये
काम किया है वो निहायत ही शर्मनाक है और
सिर्फ इसलिए कि 45 दिन इनक टैक्स रिटर्न्स
देर से फाइल हुए यह करना निहायत ही
शर्मनाक है अभ सार शर्मा को दीजिए इजाजत

नमस्कार स्वतंत्र और आजाद पत्रकारिता का
समर्थन कीजिए सच में मेरा साथी बनिए बहुत
आसान है दोस्तों इस जॉइन बटन को दबाइए और
आपके सामने आएंगे ये तीन विकल्प इनमें से

एक चुनिए और सच के इस सफर में मेरा साथी
बनिए

Leave a Comment