तेजस्वी का तहलका! मोदी सरकार अब पीछे पड़ जाएगी! - instathreads

तेजस्वी का तहलका! मोदी सरकार अब पीछे पड़ जाएगी!

बिहार में आरजेडी सुप्रीमो तेजस्वी यादव
को मेरी एक सलाह अब मोदी सरकार साम दाम
दंड भेद से अपनी पूरी ताकत के साथ आपके
पीछे आने वाली है आपको बर्बाद करने की कोई

कसर नहीं छोड़ने वाली है क्योंकि कल आपने
जो विधानसभा में भाषण दिया बिहार की
राजनीति में इस वक्त जितने भी राजनेता हैं
उनमें आपका कद सबसे बड़ा हो गया है कुछ लम

का इंतजार कीजिएगा दोस्तों मैं आपको बतलाऊ
कि तेजस्वी यादव ने कल किस तरह का भाषण
दिया और किस तरह से वह भाषण जो है बिहार
की राजनीति का एक
ऐतिहासिक एक गेम चेंजिंग भाषण हो गया है

मगर सबसे पहले राजनीति के हॉल ऑफ शेम से
तीन चेहरे मैं आपको दिखाना चाहता हूं यह
तीन चेहरे तेजस्वी यादव से सीख सकते थे
मगर अपनी निजी महत्वाकांक्षाओं के चलते यह

लोग भाजपा की गोद में या तो बैठ चुके हैं
या बैठने वाले हैं देवड़ा 35 साल की उम्र
में यह व्यक्ति यूपीए टू में मंत्री था 10
साल से सांसद नहीं थे कुल बुला रहे थे

फड़फड़ा रहे थे अपनी पूरी विरासत को
तिलांजलि देकर भाजपा की गोद में बैठ गए
यानी कि एक ना शिंदे गुट में जाकर शामिल
हो गए अशोक चौहाण कल ही इन्होंने कांग्रेस

छोड़ दी है अभी तय नहीं है कि भाजपा
जाएंगे या नहीं जाएंगे मगर लगभग माना जाए
किय भाजपा जाएंगे क्यों क्योंकि
भ्रष्टाचार के कई मामलों को लेकर मोदी
सरकार इन पर दबिश डाल रही है और इनके साथ

बताया जा रहा है कि एक दर्जन कांग्रेस के
विधायक भी
जाएंगे यह भी तेजस्वी यादव से सीख सकते
हैं और तेजस्वी ना सही राहुल गांधी से सीख
सकते थे आपकी स्क्रीन पर जयंत

चौधरी याद कीजिएगा दोस्तों जब किसानों पर
जुल्म किया जा रहा था जब खून से लखपत एक
किसान की तस्वीर सामने उभर कर आई थी तब
यही जयंत चौधरी कह रहे थे कि मेरा खून लता

है तब यही जैन चौधरी कह रहे थे कि भाजपा
में जो किसान है लात मारो भाजपा को और
यहां आ जाओ आज किसने किसको लात मारी है
किसने किसके आत्म सम्मान को लात मारी है
दुनिया देख रही

है मैं आपको दिखलाऊंगा दोस्तों कि तेजस्वी
यादव किस तरह से विपक्ष के लिए प्रेरणा
साबित हो सकते हैं एक तरफ तेजस्वी है और
साथ ही राहुल गांधी भी है राहुल गांधी की

न्याय यात्रा चल रही है दोस्तों और एक
दिलचस्प नजारा देखने को मिला सामने भाजपा
के कार्यकर्ता थे जो नारे लगा रहे थे
राहुल उनसे डर सकते थे मगर नहीं उन्होंने

अपनी गाड़ी को रोका अपने कारवा को रोका और
फिर क्या मंजर हुआ आप खुद
देखिए
तो सही मायने में कहा जाए दोस्तों तो
भाजपा से अगर इस वक्त दो लोग शिद्दत से

लड़ रहे हैं बगैर किसी समझौते के साथ लड़
रहे हैं तो वो है राहुल गांधी और तेजस्वी
यादव और जैसे मैंने कहा दोस्तों कल
विधानसभा में तेजस्वी यादव ने जो भाषण
दिया उसके चलते वह बिहार में भारतीय जनता

पार्टी के लिए सबसे बड़ी चुनौती हो गए और
अब लिख के ले लीजिए दोस्तों लोकसभा
चुनावों से पहले भाजपा हर संभव कोशिश
करेगी तेजस्वी यादव को बर्बाद करने की मैं

जानता हूं मैं कड़े शब्दों का इस्तेमाल कर
रहा हूं मगर मैं ऐसा क्यों कह रहा हूं
दोस्तों उसके लिए आपको सुनना पड़ेगा कि
विधानसभा में क्या-क्या कहा सबसे पहले

नीतीश कुमार पर तंस कसते हुए कहते हैं कि
भाई आप तो भाजपा इसलिए छोड़कर आए थे
ना कि वह आपकी पार्टी को बर्बाद कर देना
चाहते थे फिर वापस आप उनकी गोद में जाकर
बैठ गए सुनिए उन्होंने क्या कहा हम तो

आपको इज्जत देते हैं और आगे भी देते
रहेंगे लेकिन बात समझना पड़ेगा और बिहार
जनता ये जानना चाहती है कि आखिर ऐसा क्या
कारण है कि आप कभी इधर रहते हैं कभी उधर
रहते हैं ये तो सब लोग जानना चाहता है सब

लोग की इच्छा है आखिर क्या ऐसा हो गया कि
आपको ये निर्णय लेना पड़ा 2020 का हम लोग
चुनाव जीत करके आए मात्र बैमानी के बाद
12000 का डिफरेंस था पूरे महागठबंधन और

एनडीए में आप क्यों छोड़ के आए आपने यही
बोला था ना कि हम एनडीए इसीलिए छोड़ रहे
हैं
क्योंकि हमारे पार्टी को तोड़ा जा रहा है
हमारे विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है

और आपने यह कहा था मर जाएंगे मिट जाएंगे
तो आप कहते ही रहते हैं हमेशा लगातार ही
कहते
ते उस उस हम नहीं जाए लेकिन आपने तो कहा
था भाई हम लोगों का एकही लक्ष है

प्रधानमंत्री बनना है ना किसी को
मुख्यमंत्री बनना देश भर के विपक्ष को ल
बंद करके जो तानाशा है उसको दोबारा नहीं
आने देना है इसलिए
थे और आप जब गवर्नर हाउस मुख्यमंत्री जी

जब आप बाहर आए तो आपने बोला आपका मन नहीं
लग रहा आपने बोला कि मन नहीं लग रहा था मन
नहीं लगेगा तो हम नाचने गाने के लिए थोड़ी
आपका मन लगाने के लिए हम तो आपका साथ ना

देने के लिए थे जो काम आप बोलते थे असंभव
है उसको हम लोग ने मुम करके दिखाने का काम
किया आपने 2020 के चुनाव में क्या कहा था
झूठ मत बोलिएगा देखिए हम आप लोग से उम्र

में छोटे अपने बाप के पास से लाएगा जेल से
पैसा लाएगा नौकरी पाटी का और संभव
है क्या बोले और हम उस समय चुनाव के दौरान
रोजगार पर विशेष र पर हमने बोला था हमने

साइंटिफिक अध्ययन किया रि प है इतनी इतनी
है उसको हम लोग जो है भरने का न
करेंगे हमको दुख इस बात का नहीं है कि हम
लोग विपक्ष में आ गए हमको तो खुशी है कि

उन 17 महीनों में जो देश में किसी सरकार
ने नहीं किया उसको हमारी
महान और सुना आपने अंत में उन्होंने नौकरी
वाली बात कही दरअसल यही जो है तेजस्वी

यादव की अपील है युवाओं में वो लगातार
युवाओं से बोल रहे हैं कि तुम्हें मंदिर
मस्जिद के नाम पर लड़ना है या नौकरी हासिल
करनी है वो जरूरी मुद्दों पर प्रदेश के

युवा का ध्यान अपनी तरफ खींच रहे हैं और
इसलिए मैं कह रहा हूं कि विपक्ष के लिए
तेजस्वी यादव एक प्रेरणा हो सकते हैं मैं
आपको बतलाना चाहूंगा दोस्तों तेजस्वी यादव

ने एक बड़ा खुलासा भी किया उन्होंने कहा
कि जब नीतीश कुमार ने भाजपा का साथ छोड़ा
था तब वह नीतीश कुमार के साथ नहीं जाना
चाहते थे उन्होने यह तक कहा कि हम सरकार

को बाहर से समर्थन करते और कोई भी माइका
लाल सरकार नहीं गिरा सकता था सुनिए वो
क्या कह रहे हैं हम तो नहीं आना आपके साथ
आना चाहते थे एक बात हम आपको कहे भी थे कि

हम तो नहीं आना चाहते हैं मुख्यमंत्री जी
न देश भर के सभी नेताओं का दबाव है कि भाई
एक बार 204 के चुनाव में हम लोग एकजुट हो
जाए और एकजुट होकर के मोदी जी को हराने का

काम करें तब हमने क्या कहा था मुख्यमंत्री
जी विजय जी आप भी सामने हम कहते मुखमंत्री
हम सरकार में नहीं आएंगे हम बाहर रह कर के
आपको समर्थन देंगे और आपकी सरकार को कोई

खतरा आप चलाइए सरकार नि हो चलाइए क हम
लोगों का भी लक्ष है भाजपा को देश से
भगाने का काम कर संप्रदायिक शक्ति की जो
विचारधारा जो समाज में जरने का काम करती

है उसको हम भगाने का काम कर इसीलिए ना हम
लोग एक साथ आए थे और तो कोई कारण नहीं था
अब हम को बताना हम नहीं चाहते हैं
दशरथ तो नहीं चाहते राम बनवा ले जरूर
चाहती थ राम बनवा चले जाए मुख्यमंत्री जी

आप हमको बेटा कहे हम चाहते हैं कि आप लंबी
उम्र हिए और जो सिलसिला आपने चलाया था
उसको जरूर आ चला उस समन रोग नक धी मैदान
से आपने लान किया था लेकिन के को भी
पहचानी बै हु

हैई को पहचानिए या प्र को का बहुत ही
चतुराई के साथ तेजस्वी इस्तेमाल कर रहे
हैं और यहां पर कोई बनावटी बात नहीं दिखाई
देती यहां पर आपको ठेट राजनीति दिखाई देती
है और उसमें वह धार्मिक प्रतीकों का

इस्तेमाल कर रहे हैं उनके सामने सम्राट
चौधरी भी थे भाजपा नेता जो आज डेप्युटी
चीफ मिनिस्टर है वो सम्राट चौधरी नितीश
कुमार के साथ बैठे हुए थे सुनिए तेजस्वी
ने क्या कहा सम च प पहनते

पह फिल्म का शूटिंग चल रहा है मद बा पग
चलो बाद में आप
खोलिए अरे हम गलत बात सुनलो यार नवीन जी
सुनिए नामा मिल जाए बहुत कृपा होगी आप आगे
काम कीजिएगा

बो उपाध्यक्ष मद बो से
बोलिएगा बना हमें विश्वास है हमारे एक और
वि जी बैठे य हमको जरूर लगता कि इन्होने
जरूर सला दि होगी समराट चौधरी जी को पगड़ी
उतार लो दिए कि नहीं दिए आप तो हमको सलाह

देते थे हमको पता है आपके मन में भी पीड़ा
है दर्द है लेकिन आप एकदम अपने नेता के
साथ जो निर्णय है उसी में लेते लेकिन नेता
तो निर्णय लेते हैं साथ देना चाहिए लेकिन

कभी कोई सलाह और एक स्टैंड भी लेना चाहिए
कोई गलत निर्णय ना
हो इससे नेता का ही नुकसान होता इससे नेता
का ही नुकसान होगा तो इस बात की तो हमको
चिंता रहेगी अभी समरा चौधरी जी क्या क्या

बोलते थे उस हम नहीं जाना चाहेंगे लेकिन
समरा चौधरी जी के पिता भी हमारे ल में रहे
उनका शब्द मुख्यमंत्री जी के लिए क्या
क्या रहा है वो हम यहां नहीं बताना चाहते

आपके भी दिल में है आपके भी कान में है आप
लोगों के भी होश में है और पूरा बहार
बच्चा बच्चा से पूछ
लीजिए सुन अरे सुन तो

लोग किसी भी बिहार में बच्चा बच्चा से पूछ
लीजिए कि क्या होने जाएगा नीतीश जी पर
भरोसा है नहीं है वो क्याक शब्द का प्रयोग
करेंगे जो हम लेना नहीं चाहते और मोदी जी
का गारंटी तो बहुत मजबूत वाला गारंटी है ए

मोदी जी के गारंटी वालो क्या मोदी जी
गारंटी लेंगे फिर से पलट कि नहीं पलट जरा
बता के दिखा दो बताइए मोदी जी का गारंटी
वालो बताओ बताइए पलट कि नहीं पलट मोदी जी
का
गारंटी मोदी की

गारंटी क्या वो गारंटी ले सकते हैं कि
नीतीश कुमार पलट या नहीं
और फिर निहायत ही ड्रामा अंदाज में निहायत
ही अग्रेसिव अंदाज में उन्होंने इस बात का
ऐलान कर दिया कि मोदी को बिहार में रोकने

का काम आपका भतीजा करेगा तेजस्वी यादव ने
जो बात कही ना दोस्तों इसकी गूंज बिहार की
हर गली में सुनाई दे रही है सुनिए
उन्होंने क्या कहा मुख्यमंत्री है सबसे

बड़ा दल हमारा है कम से कम एक बार बुला के
बोल दे आपको हम कुछ
कते बताइए हम आपको कुछ कहे हैं कितना
अच्छा हम लोग बातचीत करते थे हर चीज करते

थे लेकिन चलिए ठीक है अच्छे पल को तो हम
जिंदगी भर याद करेंगे सुजो को रखेंगे उसम
हमारे मन में कोई खोट नहीं और हम लोग एकदम
मजबूती के साथ टा गाड़ के खड़े हैं कि
आपने जो संकल्प महोदय मुख्यमंत्री जी आज

तो आपसे हम कही सकते हैं आप तो बला नहीं
खुद ही चले गए गवर्नर हाउस लेकिन आज हम
इतना तो आपसे कह सकते हैं ना इतना बात तो
कह सकते थे आप बला लेते हम बात कर लेते

नहीं है ठीक है उसका भी व्यवस्था करते
हमारे सरकार से हमारे म से तो फिर बाहर से
समन देते और कोई ला देता सरकार को मन में
शका मत पालिए जब हमने आपसे कमिटमेंट कर
दिया था तो मन में कभी भी शका आपके मन में

भी बोलते कोई क्यूजन होगा तो बला कर बात
कर करिए क्यों क्योंकि हम आपको अपना
परिवार समझते हैं हम लोग समाजवादी परिवार
के मुखमंत्री जी और इसको ध्यान में रखना

चाहिए जी विजय जी सब लोग को बा रना और क
जो आप झंडा लेकर के चले थे कि मोदी जी को
देश में रोकना है आपका भतीजा झंडा उठा
करके मोदी जी को बिहार में
रो तेजस्वी यादव अपनी राजनीति को लेकर

इसलिए आश्वस्त हैं क्योंकि उनका जो पिच है
वो स्पष्ट है वह उन मुद्दों पर ध्यान नहीं
दे रहे हैं जिससे जनता को बांटा जा सके वह
नौकरी की बात कर रहे हैं वह जरूरी मुद्दों

की बात कर रहे हैं वो स्वास्थ की बात कर
रहे हैं और वो कह रहे हैं कि हम 17 महीने
ने साथ थे और उन 17 महीनों में मैंने बतला
दिया कि थके हारों से भी काम करवाया जा
सकता है देखिए नौकरी और 17 महीनों वाली

बात पर उन्होंने क्या कहा अरे कब्जा
छुड़वाने चले थे अब तो खुद ही कब्जा
हो अब देख लीजिए
लेकिन जितने मीडिया के लोग हैं अरे कब्जा
ना हो गया है हां आप लोगों पर कुछ लिखने
देगा कुछ बोलने

देगा तो अब तो कबजा आप ही प हो गया है र
जो भी अमित श जी कहते हमारा तो दरवाजा बंद
है र उनका क्या उनके बात में दम
है

बातम र हम लोग जो कहते हैं वो करते हैं और
हम लोगों ने 17 महीने काम कर करके दिखाने
का काम किया
है नौकरिया तो निकल ही रही है और कई बार

मुख्यमंत्री जी जब हम आपसे मिलने गए थे
सरकार बनाना था हम लोगों को तो मेरा सबसे
पहला कंडीशन विजेंद्र जी आपको याद होगा हम
बोले थे कि हम अगर आपके साथ आएंगे तो

भाजपा के रोकने के लिए तो आएंगे लेकिन साथ
में आप हमको विश्वास
दिलाइट मेंट करने का काम किया कि 10 लाख
सरकारी नौकरी देंगे आप वो करवाइए अपने
नेतृत्व में मुख्यमंत्री जी बोले हो जाएगा

हो जाएगा दूसरा दिन अपने अधिकारी को भेज
देते हैं जब हम लोग तने लिए अने स जी
होंगे ठीक है विज जी विजय जी ठीक है ना एक
वित्त मंत्री थे ना तो वि सेक्रेटरी थे उस
समय सिद्धार्थ जी तो सिद्धार्थ जी को भेजा

गया बहुत काबिल अधिकारी है बहुत सम्मान है
हमारा तो सिद्धार्थ जी आक के हमारे पास
बोलते हम बोले मुख्यमंत्री जी को क्या हुआ
नौकरी का क्या हुआ दीपक जी को बोले

मुख्यमंत्री जी को बोले विजय जी को बोले
सब बोल रहा है आपने वादा किया था चुनाव
में हालांकि हम सीएम बने नहीं कि हम 10 कट
कर देते लेकिन उप मुख्यमंत्री बने फिर भी
हमारे परस जिम्मेदारी थी फिर भी

कई बार जो है कहा तो उसके बाद फोन आता है
और कहा जाता है कि सिद्धार्थ जी जा रहे
हैं फाइनेंस से है मुखमंत्री जी के भी
प्रधान सचिव है व आपको एक्सप्लेन कर देंगे

तेजस्वी यादव बहुत ही चतुराई से जनता दल
यूनाइटेड के विधायकों के लिए असहज करने
वाली स्थितियां पैदा कर रहे हैं वो लगातार
कह रहे थे कि भाई नितीश कुमार तो एक ही

कार्यकाल में उन्होंने तीन बार
मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली आप जब जनता
के सामने जाइएगा तो आप क्या जवाब
देंगे तो जनता दल यूनाइटेड के एक विधायक

ने उनसे कहा कि आप क्या जवाब देंगे तो
सुनिए तेजस्वी यादव ने एक बार फिर नौकरी
वाला पंच किस तरह से मारा स्थिरता जब तक
नहीं रहेगी कोई सरकार में जब तक कोई
स्टेबिलिटी नहीं रहेगी सरकार में तब तक

विकास संभव नहीं है और हमको तो पीरा होती
है जनता दल यूनाइटेड के विधायको के प्रति
इस बात के लिए मुख्यमंत्री जी इधर से उधर
भाग गुना कर लेते हैं जो करना है कर लेते

हैं लेकिन जनता के बीच तो व आप विधायक ही
लोग ना जाक के जवाब देगा व आप ही लोग ना
दीजिएगा अब आपसे कोई पूछेगा कहे बताओ दती
जी तीन बार शपथ लिए तो क्या बोलिए तू

गरिया रलो पहले अब तू बढ़ाई करता रहो क्या
बोल हमने नौकरी दिया ही
क क्या बात कर रहे
हो दोस्तों मैं आपको बतलाना चाहूंगा कि
आरजेडी के तीन विधायक
भाजपा के खेमे में जाकर बैठ गए थे तेजस्वी

चाहते तो नाराज हो सकते थे मगर उन्होंने
उन तीनों को किस तरह से संबोधित किया मैं
चाहूंगा आप सुने कोई आए ना आए जब समय आएगा
तो तेजस्वी
आएगा स किया जाए याद कीजिएगा मेरा छोटा

भाई चेतन जब थक थका करके क आप लोगों ने
कुछ नहीं किया हमने टिकट इसको दे जिताने
काम और इनके पिता के गुण प नहीं इनके
गुण
नौजवान लंबा चलर टीम बनाना है नौजवानों को

हमने टिकट दिया नौजवान आए राजनीति में
राजनीति कर सकारात्मक राजनीति कर बिहार को
आगे लेकर के जाए थका हु लोग नहीं चाहिए था
हमको लेकिन हमको पता है क्या क्या मजबूरी
है ये कोई नई बात नहीं है बहुत दिनों से

पीड़ित है और इस पीड़ा में कहीं भी रहे हम
इसके
साथ
और नीलम जी जो आप महिला है आपने जो नि
लिया हम स्वागत करते
हैं तो कहने का अर्थ क्या है दोस्तों

तेजस्वी यादव का मुकाम बिहार की राजनीति
में लगातार बढ़ रहा है और यह कहा जा सकता
है कि बिहार में तेजस्वी यादव और
राष्ट्रीय स्तर पर राहुल गांधी यह दोनों
नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए

सबसे बड़ा नासूर बन गए हैं मैं फिर दोहरा
दूं आने वाले दो महीनों में इन दो नेताओं
पर खास तौर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
की पूरी मशीनरी की निगाह रहेगी हर संभव

कोशिश की जाएगी कि इन नेताओं को नीचे लाया
जाए इन्हें फंसाया जाए इन्हें डराया जाए
धमकाया जाए यही वजह थी कि तेजस्वी यादव के
तीन विधायक जो हैं वह भाजपा के पाले में

जाकर बैठ गए वो डर ही तो है ना जिसका
जिक्र तेजस्वी यादव ने किया और यही बात
लगातार तेजस्वी कह रहे हैं यही बात राहुल
गांधी भी कहते रहे हैं कि मैं डरने वाला

नहीं और हकीकत यह है दोस्तों कि अगर इस
राजनीति में मौजूदा राजनीति में विपक्ष को
मुकाबला करना है भाजपा का तो डर को
डिक्शनरी से हटाना पड़ेगा क्योंकि अगर आप
डरेंगे दोस्तों तो अशोक चौहान मिलिन

देवड़ा और जयंत चौधरी जैसी मिसाले सामने
उभर कर आएंगे लालच और डर इन दोनों शब्दों
को विपक्ष को हटाना पड़ेगा अगर वह वाकई
भाजपा से मुकाबला करना चाहती है अभिसार

शर्मा को दीजिए इजाजत नमस्कार स्वतंत्र और
आजाद पत्रकारिता का समर्थन कीजिए सच में
मेरा साथी बनिए बहुत आसान है दोस्तों इस
जॉइन बटन को दबाइए और आपके सामने आएंगे ये
तीन विकल्प इनमें से एक चुनिए और सच के इस
सफर में मेरा साथी बनिए

Leave a Comment