नवरात्रि स्पेशल || तेरे हाथ में डोर महा काली || भंजन सुनते ही सब दुःख दूर होंगे || Mukesh Sharma || - instathreads

नवरात्रि स्पेशल || तेरे हाथ में डोर महा काली || भंजन सुनते ही सब दुःख दूर होंगे || Mukesh Sharma ||

[संगीत]

भोली सच्चे दरबार की जय हो

जय कर महाकाली

[प्रशंसा]

[संगीत]

[संगीत]

महाकाली

[संगीत]

हाथ में डोर मैन काली

मेरे हाथ में

बुलाऊंगा जाने मारे सुई भाग जागा जाने हाथ

में बुलाऊंगा जान भर सो

लेना कोई जोर मैन काली

[प्रशंसा]

तेरे हाथ में डोर मैन काली

तेरे हाथ में डोर माता री

[संगीत]

[संगीत]

कोई है मसानी तू ऐसे मैन काली

sajdaj कहने सैमसन में बैठी खबर यानी

[संगीत]

शमशान मैं बैठी घर पर यारी

मासे

झूम झूम के आवे से संकट ने पुरी पकावे मैन

तेरे आयो शोर

[प्रशंसा]

मैन काली मेरी

और महाकाली

तेरे हाथ में धोरे मंगरी

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

अली से

आज bachavniya की से भक्तों की रखवाली से

रब्बा वे ना कोई छोड़ महाकाली

[प्रशंसा]

[संगीत]

महाकाली

मेरे हाथ में ढोल मंगा

[संगीत]

रे

[संगीत]

[संगीत]

पीड़ा लौंग सुपारी नारियल बैठ चढ़ावे

वनजा ने वर

देव दी

लाल कर दे बढ़िया

[संगीत]

नाच रही से मोर महाकाली

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

जोड़े मैं तेरे को रखता ले शिव जी

बात बताई से

gorakhna मनाई से हाथी बात बनाई

मेरे हाथ में डोर महाकाली

काले को एन

दोगे रे हाथ में डोर माता री

देखो ना गोर माता री

हाथ में डोर मैन काली

[संगीत]

Leave a Comment