नॉनस्टॉप माँ काली भजन | Kali Mata Bhajan | Maa Kali Song | Maa Kali Pooja Bhajan @bhajanindia - instathreads

नॉनस्टॉप माँ काली भजन | Kali Mata Bhajan | Maa Kali Song | Maa Kali Pooja Bhajan @bhajanindia

[संगीत]

अंबे तू है जगदंबे काली जय दुर्गे खप्पर

वाली तेरे ही गुण गए भारती ओ मैया हम सब

चाहते तेरी आरती तू है जगदंबे काली जय दूर

जी काली मैया हम सब उतारे तेरी आरती

[संगीत]

करके सिंह सवारी सिंह सवारी

[संगीत]

है भारी दाना

विटर के सिंह सवारी

गत भुज वाली दुखियों के दुखने वर्ती

हान हम सब उतारे तेरी आरती

तू है जगदंबे काली जय दुर्गे खप्पर

वाली गुंडे ओ मैया हम सबको करके

[संगीत]

माही मेरे मन्नता

उठे पारना माता सुनी कुमाता सुनने को मौका

[संगीत]

तो सुनिए है परनाम का सुनी कुमाता आकाश में घूमता

ने वाली बरसाने वाली दुखियों के दुख देने वाले ओ

मैया आरती तेरी

वाली दुनिया

हम सब उतारे तेरी आरती

[संगीत]

नहीं मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना

चांदी ना सोना

मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना चांदी ना सोना

छोटा सा पूर्ण शोटास सबकी बिगड़ी बनाने वाली ने

बचाने वाली

ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती

[संगीत]

[संगीत]

संकट हारने वाली चल

तुम्हारे लिए पूजा की थाली पूजा की थाली

भर दो हट हर्निया वाली मैया

भर्गो मैया हम सब उतारे तेरी आरती

[संगीत] जय काली काली मल्हार महिमा

[प्रशंसा] [संगीत]

arimad [संगीत]

[संगीत] प्यार

दुष्ट दलन जग में छाता

शीश शत्रु का साजन तुझे हाथ लिए मधु प्याला

तीसरे सौ हक भला चा

उठे छुई शत्रु जांच सप्तम कर

[संगीत] दम मात तुम्हारी

तू भवानी मिस बिन रेट ऋषि मुनि ज्ञानी

सुनीता तू ही काली तू ही सीता पत्ता

ऋण जग्गू कल्याण

पापी कुल खलक

शेष सुरेश ना पवन पर

एक पर तुम समान दांत नहीं दूजा

जान पूजा रूप भयंकर जब तुम धारा संथारा

नाम

[संगीत] भक्तजनों के संकट तारे

शान हरिणी ख्वाब है

मोती यश गांव में नारद शार्क पार ना पावे

ऊपर भर बड़ों जब भारी

तुम प्रकृति महा

[संगीत] सागर का

उसमें राम तुम्हारा लीला

उसको सदा अब है वर्दी ना ध्यान धर श्रुति

शेष सुरेशन कल

रूपेश कलवा

हिट रूप भयानक धरे सेवक

सन रहे द अगर सत जो गण ए kyakari

त्रेता में रघुवर हिट आई

दास कंधार की सेन साई

खेला रन का खेल निराला

भरम आसा से प्याला

रौद्र रूप

लकीरों गवन भवन निज त्यागे तब ए सो

[संगीत] तमने को भेद

भुला शंकर राह रोक चरनन में

ढाई सब mukhjeeb कर जो

प्रचलित है मैं

दुबारी पीड़ित की शकल नर नारी करूं

पुकार मिटा बन हिट जन-जन की

[संगीत]

के सदा सहायता भक्त भी कल के तीन विहीन

का पाव मैन वंचित फल मेवा

संकट में जो सुमिरन कर ही उनके कष्ट मा तो

प्रेम सहित जो कीरत गांव में

काली सांचो पढ़ी

स्वर्गलोक बिन बंधन चढ़

[संगीत]

कर हूं मात भक्तन

रख जयति काली कंकाली सेवक दिन

अंत अनाड़ी भक्ति भाव jyotishaaran तुम्हारी

प्रेम सहित जो करें

काली चालीसा पाठ

दिन की पूर्ण

का [संगीत] हो सकल जग

[संगीत] उठा

खुदा [संगीत]

[संगीत]

ने मैन की कथा सुनते हैं मैन की कथा सुनते

हैं दया सिंधु bhataarini माटी का खा गा ग

[संगीत]

सबके सब मुख लेट हैं सबके सब मुख लेट हैं

दया सिंधु bhataarini मैन की गाथा गेट हैं

हम गाथा गेट हैं

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत] भगवती भवानी जग की है हितकारी

कल रात के रूप में जाने मैन को दुनिया सारी

[संगीत] मैं रूप भयंकर धर कैसे बनी

कैसे माता बन जाती है दुष्ट जनों का कल

रात्रि के रूप में मैया कैसे जग में आई

आप आदम से सारी धरती कैसे मैन ने बचाई

रूप में आड़ शब्द ने अपना खेल रचाया

मैन की कृपा से सारे जग में फिर से मंगल छाया

वेद पुराण के पन्नो को हम पलटते हैं मैन

की महिमा गेट [संगीत]

गाथा गेट हैं हम कथा सुनते हैं

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

वरदान मिला तो बन गए अत्याचारी हम जैसे

बलवान जनों को क्या मारेगी नारी

पाल पर उन्हें हुआ है बहुत बड़ा अभिमान

साधु संत छुप-छुप कर रो राज करें शैतान

धर्म का कम करें तो उनको देते मैन

मार्ट जैसा बना दिया था उन्होंने यह संसार

उन दोनों के पाप जगत में बढ़ते जाते हैं

दया मैन की गाथा गेट हैं

हम कथा सुनते हैं

[संगीत]

[संगीत]

साथ भी उन दोनों को रोक नहीं था

लोकता आसान भी उन्होंने था हत्या या

स्वर्ग लोक के सत्ता अब द उन दोनों के हाथ

उन दोनों को दे नहीं सकता जग में कोई मैन

इन डी देव तब तोड़ दौड़कर हम लोग में आए

बार्क लौट के सारी हालत ब्रह्मा को बतलाए

देवता आप से पाया उन्होंने ये वरदान आप निकालो इस विपदा का कोई भी समाधान सब

देवों को ब्रह्मा जी एक युक्ति बताते हैं हम कथा सुनते हैं

दया सिंधु भक्त रिनी मैन की गाथा गेट हैं

हम कथा सुनते हैं मैया

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

करो मैन शक्ति के बिना एन कोई

[संगीत] सबके बोन मैया को फिर अपना हाल सुनाया

सदी भी पता दूर करूंगी मैन मैं भीड़ बनाया

रूप विराट बना कर मैया इसको दुनिया में आए

कल को वश में करने वाली कालरात्रि कहलाए

जी ने रन में है ललकारु थार थार का पेड़

दुनिया सारी मैन ने भरा हूं तारा माता ऐसा रूप देखकर सब घबराते हैं

हम कथा सुनते हैं दया सिंधु भाव तरीन मैन की कथा गेट हैं

हम कथा सुनते हैं

राखी भैया बढ़ती है कोई नई

[संगीत]

[संगीत] जगह चंदा मुंड bhajvae

मा दुष्ट है दंड मुंड जो मैन से लड़ने आए

[संगीत] दे दोनों करते मैया जी पवार अस्त्र

शास्त्र फिर उन दोनों के माने की ये बेटा

आंखें मैया के बिखरे बिखरे बाल उनके सर पर

नाच रही मैन बन दोनों का कल मैन के क्रोध

को जाते हैं हम कथा सुनते हैं

गया सिंधु भक्त रिनी मैन की कथा

सुनते हैं [संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

बी की शक्ति भक्तों सारे जग से यारी

[संगीत]

इसीलिए तो उसे हराना नहीं तनिक आसान

[संगीत] रूप बनाकर माने लिया है खप्पर धार इस धरती

पर गिरने नहीं दी उसके रथ की धार

भी मैया खड्का चलते थप्पड़ को भर लेते

रक्त धारा पर गिरना पाए इसलिए वो पी लेती

मैया जी के खेल जगत को samajhnate हैं

हम कथा सुनते हैं दया सिंधु भक्त रिनी मैन की कथा गेट हैं

हम कथा सुनते हैं

[संगीत]

रात्रि मैया

[संगीत]

[संगीत]

पर धीरे-धीरे थोड़े दीवान उसकी जीवन दूर

[संगीत]

कसो दिशा में गूंज रही है मैया की जयकार

खुद में बने चंद को परी कालरात्रि के रूप में आई मैया शेरा

वाली रूप बीकरार देखकर हो ना

भयभीत दोस्तो का संघार करें मैन संत जनों

से प्री ब्रह्मा विष्णु शंकर भी नीतीश

झुका के हम कथा सुनते हैं

दया सिंधु भक्त ऋण मैन की कथा गेट हैं

हम कथा सुनते हैं मैया ये कल रासी मैया

करती है पानी नहीं निकले

[संगीत]

[संगीत]

पाल पाल देने वाली देते अभय का डैन सारे

जगत में कोई नहीं है दादी मैन के समान

कालिका रूप में करती भक्तों पर पुख्ता

बन के भैया कर देती है सबके नैया पार मैया

है ब्रह्मानंद से बढ़कर हम हैं भूल समान

अपरम पार है मैन की महिमा कैसे कर गुड्डन

कृपा करो ही आदि शक्ति हम तुम्हें मानते हैं

हम कथा सुनते हैं दया सिंधु भक्त रिनी मैन की कथा

सुनते हैं मैया

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत] ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

[संगीत]

ओम जयंती [संगीत]

शिव रात्रि [संगीत] सहस्रनाम स्तुति

[संगीत]

[संगीत]

जयंती वंदना काली भद्रकाली कमली दुर्गा

क्षमा धात्री स्वाहा swadhalam स्तुति

[संगीत]

[संगीत] ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

महासभा [संगीत]

ओम जय जगदीश मंगल

[संगीत]

मूर्ति [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

[संगीत]

ओम जय जगदीश मंगल को काली कमली

[संगीत] माता [प्रशंसा] [संगीत]

सहस्रनाम स्तुति [संगीत]

[संगीत]

फूल काली कमली दुर्गा क्षमा

शिवरात्रि स्वाहा सदानम स्तुति

[संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

शाबाश [संगीत]

ओम जय जगदीश मंगल [संगीत]

मूर्ति [संगीत]

[संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भक्त काली

कमली दुर्गा क्षमा शिवरात्रि

स्वाहा सदानम स्तुति

[संगीत]

ओम जयंती ना काली भद्रकाली का पवन री दुर्गा क्षमा

धात्री स्वाहा स्वभाव स्तुति

[संगीत]

[प्रशंसा] [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली कपार

का क्षमा स्वाहा

जयंती मंगलो कल ghataenge

[संगीत]

[प्रशंसा] [संगीत]

ओम जय जगदीश [संगीत]

हरे [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भा

[संगीत] सह सदा नमो स्तुति

[संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भक्त काली कमली

दुर्गा क्षमा शिवरात्रि स्वाहा स्थलम

स्तुति मंगला काली भक्त काली कमली

[संगीत]

कमली दुर्गा जय श्री राधा श्री

स्वाहा साधनम् स्तुति जगत मंगल

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली का

[संगीत] क्षमा शिवरात्रि [संगीत]

सहस्रनाम स्तुति [संगीत]

ओम जयंती [संगीत] काली कमली

दुर्गा क्षमा शिवरात्रि [संगीत]

सहस्रनाम स्तुति mangalata है

[संगीत]

काली कमली दुर्गा क्षमा शिवरात्रि

स्वाहा स्थानम स्तुति [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली

[संगीत]

महासभा [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली का पानी

दुर्गा क्षमा शिवा [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली कापणे

दुर्गा क्षमा शिवरात्रि [संगीत]

सहस्रनाम स्तुति [संगीत]

ओम जयंती मंगला काली भक्त काली

कमली दुर्गा जय श्री राधा श्री

स्वाहा साधनम् स्तुति

मंगला काली भक्त काली कथा

[संगीत]

ओम जयंती माना काली भद्रकाली

[संगीत]

काली घटा ले [संगीत]

[प्रशंसा] [संगीत]

काली भद्रकाली [संगीत]

[संगीत]

Leave a Comment