भारत के ये राज्य क्यों हैं बाक़ी राज्यों से इतने अलग? | Quality Of Seven Sister States | North East - instathreads

भारत के ये राज्य क्यों हैं बाक़ी राज्यों से इतने अलग? | Quality Of Seven Sister States | North East

दोस्तों भारत में 28 राज्य है और हर राज्य
की अपनी अलग विशेषता है हर राज्य को भारत
में अलग-अलग दर्ज मिला हुआ है लेकिन उत्तर
पूर्व के राज्यों को सात बहनों का दर्ज
दिया गया है ये राज्य एक दूसरे पर निर्भर

है और एक दूसरे पर निर्भर होने के कारण ही
इन सात राज्यों को सात बहनों की भूमि कहा
गया इन सेवंथ सिस्टर राज्यों में मिजोरम
असम मणिपुर मेघालय त्रिपुरा अरुणाचल

प्रदेश और नागालैंड शामिल है सिक्किम इस
राज्यों का हिस्सा नहीं है क्योंकि इन
सेवंथ सिस्टर का गठन हुआ तब सिक्किम भारत
का हिस्सा नहीं था दोस्तों पूर्वोत्तर
भारत भी किसी वंडरलैंड से कम नहीं है इस
जगह को नेचर का आशीर्वाद मिला है और यहां

के सेवंथ सिस्टर स्टेटस भी अपने आप में ही
अलग खासियत रखते हैं तो चलिए दोस्तों आपको
करते हैं आज सेवंथ सिस्टर स्टेटस की सर
नंबर एक असम ये नॉर्थ ईस्ट का एक राज्य है

और सेवन सिस्टर राज में शामिल है असम को
राज्य का दर्ज 26 जनवरी 1950 को दिया गया
इस राज्य को पूर्वोत्तर भारत का प्रवेश
कहा जाता है यानी की भारत के नॉर्थ
ईस्टर्न पार्ट में एंट्री लेने के लिए

सबसे पहले असम में एंट्री ली जाती है इस
राज्य की राजधानी दिसपुर है इस राज्य में
33 जिले हैं इस राज्य का क्षेत्रफल
78438 किमी स्क्वायर है इस राज्य में
ब्रह्मपुत्र नदी बहती है दुनिया का सबसे

बड़ा द्वीप माजुली द्वीप असम राज्य में
स्थित है यह द्वीप मिट्टी से बने मोकूटों
के लिए भी दुनिया भर में जाना जाता है असम
का डिगबोई दुनिया की सबसे पुरानी ऑपरेटिंग
रिफाइनरी के लिए जाना जाता है एक रिफाइंड

री 1901 से चली ए रही है असम देश का सबसे
बड़ा चाय उत्पादक है असम में पूरे देश की
करीब आधी चाय का उत्पादन किया जाता है
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में हर
साल करीब 63 से 70 करोड़ किलो चाय का

उत्पादन होता है इसके अलावा साम्राज्य
कामाख्या माता के मंदिर काजीरंगा
राष्ट्रीय उद्यान वहां की चाय की बगान की
वजह से काफी फेमस है इसके अलावा दुनिया भर

में गोल्डन सिल्क के नाम से मशहूर मूंगा
रेशम का उत्पादन भी असम में ही होता है
नंबर दो नागालैंड नागालैंड राज्य का गठन 1
दिसंबर 1963 को भारत के 16 राज्य के रूप
में हुआ इसकी राजधानी को ही मैन है

नागालैंड का सबसे बड़ा शहर diwapur है
2011 की जनगणना के अनुसार नागालैंड का
क्षेत्रफल
16569 किमी स्क्वायर है जबकि नागालैंड की
जनसंख्या

19800006002 है नागालैंड में कुल 12 जिले
हैं नागालैंड टी-88% आबादी ईसाई धर्म को
मानती है दोस्तों आपको बता दें की दुनिया
की सबसे तीखी मिर्ची एक मिर्ची नागालैंड

की है भूत जोलो किया दुनिया की सबसे थी की
मिशन में से एक है इसका नाम गिनेस बुक ऑफ
रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हो चुका है इसको
घोस्ट पेपर भी कहा जाता है ये भारत की
सबसे तीखी मिर्ची है नागालैंड में 100 से

ज्यादा जनजाति निवास करती है नागालैंड में
आज तक कोई महिला विधायक नहीं बनी है यहां
की राजनीति में महिलाओं का योग प्रदान
बिल्कुल नहीं नागालैंड में एक से 10
दिसंबर के बीच हॉर्नबिल फेस्टिवल मनाया

जाता है जिसको देखने दूर-दूर से लोग आते
हैं नंबर 3 मणिपुर मणिपुर भी सेवन सिस्टर
में शामिल है इसकी राजधानी इंफाल है
मणिपुर भारत में 15 अक्टूबर 1949 को शामिल

हुआ लेकिन इसको पुण्य राज्य का दर्ज 21
जनवरी 1972 को मिला इस राज्य का क्षेत्रफल
22347 किमी स्क्वायर है जबकि इसकी
जनसंख्या

285594 है मणिपुर में कुल 16 जिले हैं इस
राज्य की सीमा उत्तर में नागालैंड और
दक्षिण में मिजोरम पश्चिम में असम और
पूर्व में म्यांमार से लगती है इस राज्य

को देश की आर्केड बास्केट भी कहा जाता है
ये राज्य यहां पर पाए जाने वाले सिरोही
लिली के लिए भी काफी मशहूर है क्योंकि यह
फूल पुरी दुनिया भर में सिर्फ मणिपुर में

ही पाया जाता है हर साल मणिपुर जिले में
सिरोही लिली फेस्टिवल बड़ी धूमधाम से
मनाया जाता है इसे देखने दूर-दूर से
उदयपुर आते हैं मणिपुर में की बोल लाम जो

राष्ट्रीय उद्यान विष्णुपुर स्थित विष्णु
मंदिर moraysarai गांव ukraul की
पहाड़ियां कंगला पार्क जैसे कुछ टूरिस्ट
प्लेस जो बहुत फेमस है मणिपुर एक ऐसा

राज्य है जहां दुनिया की एकमात्र तैरती
झील है ना चार मेघालय मेघालय राज्य का गठन
असम राज्य के दो बड़े जिलों संयुक्त खाल
से हिल्स और जयंती हिल्स को असम से अलग
करके 21 जनवरी 1972 को किया गया मेघालय को

 

एक पूर्ण राज्य का दर्ज देने से पहले 1970
में उसे सेमी ऑटोनोमस स्टेट का दर्ज दिया
गया इस राज्य का क्षेत्रफल
22429 किमी स्क्वायर है 2011 में जनगणना
के मुताबिक इस राज्य की जनसंख्या लगभग 29

लाख 647 है इस राज्य की राजधानी शिलांग है
मेघालय में कुल 11 जिले हैं मेघालय का
मतलब होता है बादलों का घर जो इस बात को
काफी सही भी प्रूफ करता है क्योंकि
दोस्तों मेघालय के चेरापूंजी मेघालय में

घर में होने वाली बारिश की वजह से इसे
दुनिया की सबसे नाम जगाओ में जीना जाता है
यहां का टेंपरेचर मुश्किल से 28 डिग्री
सेल्सियस तक पहुंचता है जबकि सर्दियों में
टेंपरेचर शून्य तक पहुंच जाता है ये राज्य

अपने रूट ब्रिज के लिए काफी फेमस है
मेघालय के गांव को भारत के सबसे साफ गांव
का दर्ज मिला है मेघालय में बहुत सारी
नदियां हैं जिम गन्नौर संदरा दुबई जैसी
कुछ नदियां प्रमुख हैं दोस्तों मेघालय की

मांगों नदी को देश की सबसे साफ नदी माना
जाता है इसका पानी इतना साफ है की नव कांच
पर तैरती हुई सी नज़र आती है मेघालय में
भारत का सबसे ऊंचा झरना नवल की गे फॉल्स
भी मौजूद है इसके अलावा डॉन बॉस्को

म्यूज़ियम मसाई गुफा करो पहाड़ियां
एलिफेंट फॉल्स जैसी कुछ जगह है जिनको
देखने के लिए पुरी दुनिया से लोग आते हैं
दोस्तों मेघालय भारत का बहुत ही खूबसूरत

राज्य है और अपनी खूबसूरत
भी कहा जाता है नंबर पंच त्रिपुरा
त्रिपुरा भी सेवन सिस्टर स्टेटस शामिल है
जहां पर भारत की खूबसूरती देखने को बनती
है यह भारत का तीसरा सबसे छोटा राज्य है

जिसका क्षेत्रफल
100491 वर्ग किलोमीटर है इसका गठन 21
जनवरी 1972 को हुआ था त्रिपुरा में कुल आठ
जिले हैं त्रिपुरा बांग्लादेश तथा

म्यांमार की नदी घाटियों के बीच स्थित है
इसके उत्तर पश्चिम और दक्षिण में
बांग्लादेश है जबकि पूर्व में असम और
मिजोरम मौजूद है यानी की राज्य तीनों तरफ

से बांग्लादेश से गिरा है त्रिपुरा की
राजधानी अगरतला है पूर्वोत्तर भारत में
govaahti के बाद अगर दलाई सबसे महत्वपूर्ण
शहर है त्रिपुरा की जनसंख्या 36 लाख 73917

है त्रिपुरा दिस इसे ज्यादा जंगलों से
घिरा हुआ है इसलिए ये स्टेट टूरिस्ट को
अपनी तरफ काफी अट्रैक्ट करता है नंबर छह
अनुराचल प्रदेश दोस्तों ये सात बहनों में
सबसे बड़ी बहन है जी हान मतलब की सेवंथ

स्टेटस सिस्टर में से ये राज्य सबसे बड़ा
है इस राज्य की राजधानी ईटानगर है इस
राज्य में 25 है इस राज्य का कुल
क्षेत्रफल
83743 किलोमीटर स्क्वायर है क्षेत्रफल के

हिसाब से यह भारत का 15वां सबसे बड़ा
राज्य है 2011 की जनगणना के मुताबिक राज्य
की कुल जनसंख्या 13 लाख 82611 है अरुणांचल
प्रदेश को लैंड ऑफ डॉन भी कहा जाता है

जिसका अर्थ होता है उगते सूर्य का घर
क्योंकि दोस्तों भारत में सबसे पहले सूर्य
anuwanchal प्रदेश में ही उदय होता है
anuwanchal प्रदेश में सूर्य की पहली किरण

सुभाष 4:30 बजे कृति है दोस्तों आपको
जानकर हैरानी होगी लेकिन अरुणांचल प्रदेश
और गुजरात में सूरज निकलने का टाइम का
अंतर लगभग 2 घंटे का है आजादी के काफी साल

तक बाद भी अरुणाचल प्रदेश नाम का कोई
राज्य नहीं था उसे समय अरुणाचल प्रदेश को
नेफा यानी की नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर एजेंसी
के नाम से जाना जाता था साल 1972 में श्री

बाबा सूरदास शास्त्री जी ने अरुणाचल
प्रदेश को उसका यह नाम दिया और उसे एक
केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया
फारबारी को अरुणाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य
का दर्ज मिला और यह भारत का 24वां राज्य

बन गया इस स्टेट की सीमा असम और नागालैंड
से मिलती है जबकि इसका इंटरनेशनल बॉर्डर
मैं अनवर भूटान और चीन से लगता है तीन
देशों की सीमा लगने के कारण अरुणाचल

प्रदेश में काफी मिक्स कल्चर देखने को
मिलता है अरुणाचल प्रदेश बहुत खूबसूरत है
अरुणाचल प्रदेश को पूर्वोत्तर का आभूषण भी
कहा जाता है इसे भारत का फिनलैंड कहा जाता
है क्योंकि सर्दियों में इस राज्य का

ज्यादा हिस्सा बर्फ से धक जाता है इस
राज्य का लगभग 80% भाग जंगलों से घिरा हुआ
है अरुणाचल प्रदेश का सबसे लोकप्रिय
टूरिस्ट डेस्टिनेशन तवांग मठ है जो की 400
साल पुराना है ये भारत का सबसे बड़ा

bodhmath है वो ताला महल के बाद दूसरा
सबसे बड़ा मठ है अरुणांचल प्रदेश के कौन
में खेती पर डिपेंडेंट है ना बरसात मिजोरम
दोस्तों सेवन सिस्टर स्टेटस में आखिरी

राज्य है मिजोरम मिजोरम राज्य साल 1972 तक
असम का ही हिस्सा था
1987 को इसे भारत का 23 वान राज्य बना
दिया गया मिजोरम की राजधानी असोल है
मिजोरम का क्षेत्रफल

2100081 किमी स्क्वायर है साल 2011 की
जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या लगभग
10 लाख
9111 है मिजोरम में कुल 11 जिले हैं

मिजोरम राज्य का बॉर्डर त्रिपुरा असम और
मणिपुर से मिलता है जबकि इसका इंटरनेशनल
बॉर्डर बांग्लादेश और म्यांमार से मिलता
है विश्व की कर्क यानी की कैंसर रेखा इस
राज्य के बीच से होकर गुजरती है मिजोरम
देश के उन राज्यों में से एक है जहां की

लिटरेसी रेट सबसे ज्यादा है भारत में केरल
और लक्ष्यदीप के बाद मिजोरम थर्ड पोजीशन
पर है जिसकी लिटरेसी रेट सबसे ज्यादा है
मिजोरम गाने जंगलों से भरा पूरा राज्य है
जिसके कारण यहां मार्च से सितंबर के महीने

में जमकर बारिश होती है मिजोरम राज्य की
सबसे बड़ी नदी का नाम चिंटू पी है जिसे
कलादान भी कहा जाता है और सबसे बड़ी झील
का नाम पलक लेख है तो दोस्तों आपको बता
दें की मिजोरम शब्द को मौसम से मिलाया गया

है जिसका मतलब होता है अकाल दरअसल दोस्तों
मिजोरम में लगभग 50 साल के बाद बांस के
फूल आते हैं और इन फूलों को खाने की वजह
से वहां पर बहुत ज्यादा चूहे हो जाते हैं
बांस के फूल ना सिर्फ चूहा का पसंदीदा

भोजन होता है बल्कि इसे खाने से उनकी
प्रजनन क्षमता भी और तेज हो जाती है जिसके
कारण ये चूहे ना सिर्फ बांस के फूलों पर
बल्कि लोगों के रखे हुए अनाज पर भी धावा
बोल देते हैं जिस वजह से वहां पर अकाल

जैसी स्थिति पैदा हो जाती है इसके अलावा
दोस्तों मिजोरम अपने ब्लू माउंटेन के लिए
भी काफी फेमस है दोस्तों ये द सेवन सिस्टर
स्टेटस जो भारत में अपनी खूबसूरत ही के

लिए जाने जाते हैं और उत्तर भारत की शान
है आपको इनमें से कौन से स्टेट पसंद आया
और आप कौन से स्टेट में घूमना चाहेंगे
हमें हमारे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं

अगर आपको ये वीडियो पसंद आई हो तो वीडियो
को लाइक और शेयर करें

Leave a Comment