राहुल-तेजस्वी कर रहे युवा की बात! इसलिए पीछे पड़ गई बीजेपी की एजेंसी ? - instathreads

राहुल-तेजस्वी कर रहे युवा की बात! इसलिए पीछे पड़ गई बीजेपी की एजेंसी ?

नमस्कार

आपको इस बात को समझना पड़ेगा
कि मोद सरकार की एजेंसीज इन दो नेताओं के
पीछे क्य है राहुल गांधी और तेजस्वी यादव
एक तरफ भारतीय जनता पार्टी धर्म से जुड़ी

राजनीति कर रही है हमारे आराध्य श्रीराम
का ज्र करके उनके नाम वो बटोर रही है वहीं
दूस यह ने हैं जो असों उठने रहे हैं
जो युवाओं में जो बेरोजगारी है उसे
संबोधित करने की कोशिश कर रहे हैं यह बतला

की कोशिश कर रहे हैं कि देश के अंदर जो
पिछड़ी जाति के युवा हैं उनके समस्याओं का
समाधान जातीय जनगणना के जरिए होगा यह
दोनों कभी भी बुनियादी मुद्दों से भटकते
नहीं हैं भारतीय जनता पार्टी को इसीलिए इन

दो नामों से सबसे ज्यादा चिंता है यही वजह
है कि बिहार में तख्ता पलट किया गया
बावजूद इसके कि नीतीश कुमार के बारे में
ना जाने क्या क्या कहा था भाजपा के नेताओं

ने बावजूद इसके कि नीतीश कुमार की पुलिस
ने भाजपा के नेताओं पर सड़क पर घसीट घसीट
के मारा था फिर भी नीतीश को मुख्यमंत्री
बनाकर अपने सिर पर बिठाना पड़ा क्यों
क्योंकि वह चाहते हैं कि बिहार में

महागठबंधन का सूपड़ा साफ हो जाए नीतीश के
साथ आकर उन्हें लगता है कि ये सब पूरा हो
सकता है बहरहाल राहुल गांधी दोस्तों इस
वक्त उत्तर प्रदेश में और आप देख सकते हैं

कि प्रयागराज में किस तरह का जन समूह उनके
स्वागत के लिए सामने आया है इस जनसमूह में
बड़ी तादाद में युवा हैं और राहुल गांधी
लगातार युवाओं के मुद्दों को उठा रहे हैं
वोह अपने साथ मंच पर युवाओं को बुलाते हैं

उनसे समस्याओं के बारे में उनसे पूछते हैं
और उनसे पूछते हैं कि आखिर आप आपकी
समस्याएं बदस्तूर क्यों बनी हुई है किस
तरह से उन्होंने युवाओं और जातीय जनगणना
के मुद्दे को जोड़ा आइए सुनते हैं
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का चुनाव भी इसीलिए

बंद कराया गया सर एक भी वाइस चांसलर सर
वाइस चांसलर कभी ततो विषयों का नहीं सुनते
हैं वो हमेशा बड़ी जातियों का सुनते हैं
सर कोई काम नहीं होता सर पढ़ाई टाइम से
नहीं होती विरोध करने पर डांट के निकाल
दिया जाता है से सर बोला जाता
है

सुनिए सुनिए पता है आपका हथियार क्या है
हथियार का नाम जानते हो जाति जनगणना जाति
जन करना यह आपका हथियार
है आपको सबसे पहले पता लगाना है कि आपकी
आबादी कितनी दूसरे नंबर पर आपको पता लगाना

 

है इस देश के धन में आपकी कितनी भागीदारी
आप सुबह उठो और अपने आप से सवाल पूछो 73
पर के हाथ में इस देश का कितना धन है यह
सवाल पूछो
आप
बोलो बोलो सिर्फ 2 पर है सबका मिलाकर के

सभी दलित ओ विषयों का सिर्फ 2 पर धनी सभी
के पास है बाकी सारे न अडानी अंबानी इन
पूजी पतियों के पास पड़ा हुआ है जो सब
पड़ा हुआ है इनके पास सर और आपको यह आस्ते
आस्ते भूखा मार देंगे आपको भूखा मार
देंगे तो आपको अपना हक लेना

है इसीलिए सबसे बड़ा कदम और आप अपने सब
दोस्तों को बताओ जाति जनगणना देश का
एक्सरे है इससे सारा का सारा पता लग राहुल
गांधी एक तरफ जातीय जनगणना और नौकरियों की
बात कर रहे हैं वही दूसरी तरफ वह अपनी तरफ

से एक बहुत ही बोल्ड बयान भी देते हैं
उन्होंने यह भी कहा जब श्रीराम के मंदिर
की प्राण प्रतिष्ठा हुई थी तब क्या मंच पर
एक भी गरीब या पिछड़ी जाति का कोई व्यक्ति
दिखा मंच पर सिर्फ एक्टर्स दिखाई दिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े उनके
प्रचार तंत्र के लोग दिखाई दिए मगर कोई
गरीब उस मंच पर नहीं दिखाई दिया सुनिए
उन्होंने क्या कहा पूछना चाहता आपने राम
मंदिर का फक्शन देख
देखा उसम आपने एक ओबीसी चेहरा देखा एक
दलित चेहरा देखा एक आदिवासी चेहरा देखा

नहीं उसम एक नहीं था उसम अमिताभ बच्चन
थे नरेंद्र मोदी
थे 7 का एक व्यक्ति नहीं था
उसम
73 पर की आबादी कहीं दिखती नहीं
है आप लोग पता है कहां हो बिहारी मजदूरी

जो करते हैं ना उन लोगों की लिस्ट निकालो
वहां आपके नाम मिलेंगे और ये लोग क्या
चाहते हैं ये लोग चाहते हैं कि आप लोग कभी
भी इस देश को कंट्रोल ना कर पाओ ये देश
आपका है 73 पर का है

और ये ये जो पेपर चोरी किया है ना
आपका ये आपको रोकने का तरीका
है यह आपको ने का तरीका है यह आपसे चोरी
करने का तो एक तरफ जहां राहुल गांधीय तमाम
मुद्दे उठा रहे हैं वही दूसरी तरफ तेजस्वी
यादव नौकरी और उससे जुड़े मुद्दों को

छोड़ने को तैयार नहीं है उन्होंने अपनी
तरफ से एक बयान जारी किया है दोस्तों
जिसमें आप देख सकते हैं एबीपी न्यूज को
दिए गए कुमार के इंटरव्यू का हवाला है यह

वो दौर है जब नीतीश कुमार भाजपा के साथ
हुआ करते थे अब एक बार फिर भाजपा के साथ आ
गए वो बात अलग है मगर उस दौर में नीतीश
कुमार ने तेजस्वी यादव पर ताना मारते हुए
कहा था कि नौकरियां कहां से लाओगे बकौल

तेजस्वी हमने उस सोच को पलट दिया एक थके
हुए मुख्यमंत्री को काम करने पर मजबूर कर
दिया क्या कह रहे हैं तेजस्वी यादव मैं
आपको पढ़कर सुनाना चाहता हूं तेजस्वी कहते
हैं 2020 चुनाव में 10 लाख नौकरियां देने
के मेरे संकल्प पर आदरणीय मुख्यमंत्री

कहते थे 10 लाख नौकरी देना एकदम असंभव है
यह गुमराह करने वाली बात है कहां से देगा
कुछ पता है पैसा क्या आसमान से आएगा पैसा
क्या जेल से आएगा इसे कुछ सेंस है पैसा
क्या ऊपर से आएगा राज्य में तो पैसा नहीं

है 9 अगस्त 2022 को मेरे उप मुख्यमंत्री
बनते ही 15 अगस्त 2022 को स्वतंत्रता दिवस
के अवसर पर पटना के गांधी मैदान से इन्हीं
मुख्यमंत्री से 10 लाख और 10 लाख रोजगार
की घोषणा करवाई वहां इन्होंने कहा कि नई
पीढ़ी के लोग साथ आए तो यह आपको नौकरी

देंगे 17 महीनों में डेप्युटी चीफ
मिनिस्टर के तौर पर ही सही लेकिन हमने 4
लाख से अधिक नौकरियां दी और 3 लाख
नौकरियां अंतिम चरण तक प्रक्रियाधीन करवा
दी हैं जो इस साल युवाओं को अवश्य मिल
जाएंगी कहने का अर्थ क्या है दोस्तों कि

विपक्ष के लिए सबसे प्रबल उम्मीद यह दो
चेहरे हैं तेजस्वी यादव और राहुल गांधी जो
मुद्दे पर बने हुए हैं बावजूद इसके कि
उनके सामने राम जैसा मुद्दा है जिस पर
भारतीय जनता पार्टी वोट बटोरने की कोशिश

कर रही है श्री राम का मुद्दा आखिर बीजेपी
क्यों उठाती है ताकि वो मुद्दों से बच सके
आगे जाकर मैं आपको बताऊंगा कि अमित शाह ने
परिवारवाद और भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया
है और उसके जरिए राहुल और तेजस्वी पर हमला
बोलने की कोशिश की है मगर वह खुद फंसते

हुए नजर आ रहे हैं राहुल गांधी की उत्तर
प्रदेश में यात्रा जारी है और वह युवाओं
से लगातार संवाद कर रहे हैं वो यह भी कह
रहे हैं कि अपने आसपास देखिए मीडिया में
देखिए कंपनियों में देखिए और कंपनियों में

आपको कभी भी पिछड़ी जाति के लोगों की
भागीदारी
नहीं दिखाई देगी सुनिए उन्होंने क्या कहा
आपकी आबादी 7 पर है मगर हिंदुस्तान के
सबसे बड़े कंपनियों

में 200 कंपनियों में मैंने आकड़ा निकाला
एक मालिक ओबीसी दलित आदिवासी नहीं है एक
नहीं
है मैनेजमेंट टीम में एक आपका आदमी नहीं
है हिंदुस्तान की सरकार के सबसे बड़े आईस
अफसर की मैंने लिस्ट निकाली उसमें तीन लोग

आपके हैं तीन दलित है एक आदिवासी है आपकी
आबादी 73 पर और आपकी वहां पर भागीदारी 5
पर मीडिया में आपका एक आदमी नहीं
है कचरिया में कॉप्स में 650 में से आपके
100
है तो आप लोग चलाते हो आप
अपना और आपका यहां कुछ नहीं है आपको

भड़काया जा रहा है आपको अंदर किया जा रहा
है बार-बार उत्तर प्रदेश हो बिहार हो इन
तमाम राज्यों में पेपर लीख वाला मुद्दा
सामने उभर कर आता है मुख्य धारा की मीडिया
तो इस मुद्दे को कभी नहीं उठाती मगर राहुल
गांधी ने एक बार फिर युवाओं से जुड़े इस

ज्वलंत मुद्दे को उठाया अपने मंच पर क्या
कहा उन्होंने आइए सुनते हैं यह आपके साथ
जो हो रहा है आरओ एर एग्जाम के साथ जो हो
रहा है आपके जो पेपर लीक हो रहे हैं यह
अन्याय है आपके खिलाफ अन्याय है और यह
अन्याय आपके प्रधानमंत्री करवा रहे हैं इस

बात को मत
भूलिए यहां संगम की पवित्र धरती
में आप पर अत्याचार किया जा रहा है जी हां
एक ऐसा मुद्दा जो मीडिया उठाने से कतरा है
उसे राहुल गांधी उठा रहे हैं और ना सिर्फ
उठा रहे हैं बल्कि युवाओं से संवाद करते

समय उठा रहे हैं दोस्तों वही दूसरी तरफ
भाजपा की राष्ट्रीय अधिवेशन की बैठक होती
है और अमित शाह परिवारवाद का मुद्दा उठाते
हैं भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते हैं और जब
अमित शाह परिवारवाद का मुद्दा उठाते हैं
तो उन्हें कुछ सवालों के जवाब देने

पड़ेंगे कि आखिर मिलिंद देवड़ा उनके
गठबंधन में कैसे शामिल हो जाते हैं वो
मिलिंद देड़ा जो कांग्रेस में थे जिनके
पिता जो हैं वो खुद कांग्रेसी थे आखिर
ज्योतिरादित्य सिंधिया क्यों बीजेपी में

शामिल हो जाते हैं आरपीएन सिंह वो भी
परिवारवाद का परिणाम वो क्यों भाजपा में
शामिल हो जाते हैं जितिन प्रसादा वो क्यों
भाजपा में शामिल हो जाते हैं और सबसे बड़ी
बात हाल ही में अशोक चौहाण जो कांग्रेस की
तरफ से दो बार मुख्यमंत्री रहे हैं और

उनके अपने पिता थे एस भी चवण बड़ा सवाल यह
यह अशोक चौहान वो आखिर क्यों आपकी पार्टी
में है उन्हें आप क्यों राजसभा भेज रहे
हैं यह सवाल तो उठाया जाएगा ना क्या इन

सवालों से बचा जा सकता है बहरहाल मैं आपको
बतलाना चाहता हूं कि परिवारवाद पर अमित
शाह ने दरअसल कहा क्या अमित शाह कहते हैं
विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए अमित शाह
ने कहा तुष्टीकरण के लिए जाने जाने वाली
परिवार वादी पार्टियों का नेतृत्व

कांग्रेस कर रही है हमारी प्राथमिकता देश
रहा है हम देश के विकास के बारे में सोचते
हैं जबकि विपक्षी गुट इंडिया के नेता अपने
बच्चों को प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री बनाने
के बारे में सोचते हैं
जयह बातें कर रहे थे दोस्तों तो मुझे याद

आ रहा है बीसीसीआई का यह ताकतवर शख्स जय
शह क्या मुझे आपको बतला की जरूरत है कि जय
शह किसके बेटे हैं जय शह तो इस वक्त
राजनीति में नहीं है उन्होंने जिंदगी में
शायद कभी बल्ला भी नहीं पकड़ा होगा मगर वह

बीसीसीआई के सबसे ताकतवर व्यक्ति हैं जब
वो मंच से बात कह रहे थे तो उसी मंच पर
राजनाथ सिंह बैठे हुए थे जिनके बेटे पंकज
सिंह यहां नोएडा से

विधायक इतने दोहरे मापदंड कहां से आ जाते
हैं और जैसा कि मोदी जी ने कहा भी था
हिपोक्रिटस की बात करते हैं दोस्तों क्या
कहा उन्होंने भ्रष्टाचार पर पढ़ के सुनाना

चाहता हूं क्योंकि इन बयानों के जरिए कहीं
ना कहीं व राहुल और तेजस्वी पर हमला बोल
रहे हैं और राहुल और तेजस्वी दोनों भाजपा
के लिए एक नासूर बने हुए हैं भ्रष्टाचार
पर वो क्या कहते हैं मैं पढ़ के सुनाना

चाहता हूं जब कांग्रेस इतना भ्रष्टाचार
करती है तो साथी भला क्यों पीछे रहेंगे आम
आदमी पार्टी ने शराब घोटाला मोहल्ला
क्लीनिक और न जाने कितने घोटाले किए
इन्होंने लोगों के मेडिकल टेस्ट कराने में

भी घोटाला किया इसी वजह से आज इनका सारा
नेतृत्व कोर्ट और एजेंसियों से दूर भाग
रहा
है यहां पर अमित शाह से कुछ सवाल आपको याद
है नरेंद्र तोमर के बेटे धीरेंद्र तोमर
उनका एक वीडियो सामने आया था उस वीडियो

में वह करोड़ों के लेनदेन की बात कर रहे
थे वह एक एड्रेस की बात कर रहे थे वह भाभी
जी की बात कर रहे थे और वह एड्रेस नरेंद्र
तोमर का था जो आपके पूर्व कृषि मंत्री थे

और इत्तेफाकन उसी एड्रेस के पास आपका यानी
कि अमित शाह का घर है क्या आपने उस बात की
जांच
कराई जो अशोक चवण भाजपा में शामिल हो गए
हैं क्या मुझे यह बतला की जरूरत है कि
अशोक चौहाण पर भारतीय जनता पार्टी ने

भ्रष्टाचार के कितने आरोप लगाए थे इन
चेहरों पर गौर कीजिए अजीत पंवार छगन भुजबल
नारायण राणे हेमंत विश्व
शर्मा इनमें से कुछ लोग आपके मोर्चे में
शामिल हो गए हैं कुछ पर गंभीर आरोप थे
भ्रष्टाचार के और कुछ जिन पर आप
भ्रष्टाचार के आरोप लगाया करते थे वो आज

ना सिर्फ आपकी पार्टी में है बल्कि आपके
एक राज्य के मुख्यमंत्री यानी कि असम के
मुख्यमंत्री
हैं ऐसे में क्या अमित शाह को भ्रष्टाचार
पर कहने का अधिकार है क्या परिवारवाद पर
कहने का अधिकार है परिवारवाद भ्रष्टाचार

का मुद्दा उठाना सिर्फ इसलिए कि आपको
राहुल गांधी और तेजस्वी यादव पर हमला करना
हो दूसरी तरफ समानांतर तौर पर आपकी
एजेंसीज भी लगातार उन पर हमला कर रही
हैं यह दोहरे मापदंड नहीं तो आप आखिर क्या
है अभिसार शर्मा को दीजिए इजाजत नमस्कार

स्वतंत्र और आजाद पत्रकारिता का समर्थन
कीजिए सच में मेरा साथी बनिए

Leave a Comment