सिर्फ 10 मिनट सुना और रु. 30,000,000 करोड़ का मालिक बन गया - instathreads

सिर्फ 10 मिनट सुना और रु. 30,000,000 करोड़ का मालिक बन गया

मेरे प्यारे दोस्तों आज मैं आपको बताने जा

रहा हूं एक ऐसा गुप्त मंत्र जिसे मात्र

सुन लेने से या इसके जाप करने से खत्म हो

जाएंगी आपकी सारी बाधाएं आप हो जाएंगे धनं

के स्वामी हो जाएंगे मालामाल बढ़ेगा आपका

बैंक बैलेंस दोस्तों पौराणिक ज्योतिष

शास्त्र के अनुसार यह मंत्र की

राशियों पे एक जैसा ही काम करती है प्यारे

दोस्तों बिजनेस व्यापार में आपका लगातार

नुकसान हो रहा है और यदि आप कोई प्रतियोगी

परीक्षाएं की तैयारी कर रहे हैं उसमें

आपको सफलता नहीं मिल रही है अगर आप शेयर

मार्केट में पैसा लगा रहे हैं उसमें आपका

फायदा नहीं मिल पा रहा है दोस्तों यह

गुप्त मंत्र आपके लिए मील का पत्थर साबित

होगा खत्म हो जाएंगे आपकी सारी बाधाएं मां

लक्ष्मी जी के आशीर्वाद से इन के

राशियों के जीवन में होगा बहुत बड़े-बड़े

परिवर्तन घर मकान खरीदने का आपका सपना

पूरा होगा और बिजनेस व्यापार में आपको

नए-नए अवसर मिलना प्रारंभ हो जाएंगे मेरे

प्यारे दोस्तों इस मंत्र को सुनने या जाप

करने के लिए किसी विशेष परिस्थिति या समय

की जरूरत नहीं पड़ती है जब भी आपके पास

खाली समय हो आप इस मंत्र का बार जाप

करें या फिर बार सुने इससे आपकी सारी

दरिद्रता खत्म हो जाएगी खत्म हो जाएंगी

सारी बाधाएं आपकी तो दोस्तों समय ना गवाते

हुए हम अब आपको बताने जा रहे हैं इसी

गुप्त मंत्र के बारे में दोस्तों इससे

पहले आप चैनल को सब्सक्राइब कर दीजिएगा और

वीडियो को लाइक कर दीजिएगा जिससे आप सभी

राशियों पर मां लक्ष्मी जी की समान

कृपा बनी रहे दोस्तों अब हम लोग इस मंत्र

का उच्चारण करने जा रहे हैं यह गुप्त

मंत्र कुछ इस प्रकार है

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स

कहल ही

सकल ही स

क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही क ए

ई ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री ओ

ओम श्री ही क्ली

स ओ ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का

इ ही ह स क हल ही

सकल ही

स क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स

कहल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली ए

स ओम ही का ए

इन ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स

कहल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री

स ओम ही का

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओही

का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली ए

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही सकल

ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली

श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ हीहा स

कहल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम ओ

श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

ई ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री क्ली स

ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए इ

ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली ए

सौ ओम ही का ए

ई ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इन ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली स

ओम ही का ए

इ हीहा स

कहल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए ई

ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल

ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स

कहल ही

सकल ही स

क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

ई ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री ओ

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इन ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

सौ ओम ही का ए

इन ही ह स

कहल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री

ओम

ओम श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इन हीहा स क हल ही सकल

स ए क्ली ही श्री

ओम

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स ए क्ली ही श्री ओ

ओ श्री ही क्ली

स ओम ही का ए

इ ही ह स क हल ही

सकल ही स एक क्ली ही श्री ओम

Leave a Comment