1.अग्निवीर के नाम पर युवाओं से इतनी बड़ी नाइंसाफी? मुद्दों से भागती बीजेपी! - instathreads

1.अग्निवीर के नाम पर युवाओं से इतनी बड़ी नाइंसाफी? मुद्दों से भागती बीजेपी!

किसानों को तुम गोलियां मारते हो उन्हें
बदनाम करते हो उन्हें खालिस्तानी आतंकवादी
बताते हो और जब युवा जो बेरोजगार है सड़क
पर उतरता है तो उसे दौड़ा दौड़ा के इस तरह
से भगाते हो और अब अग्निवीर योजना के नाम

पर जितनी बड़ी नाइंसाफी स्वत देश की
युवाओं के साथ की जा रही है ना उसकी
कल्पना भी नहीं की जा सकती कांग्रेस ने
मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इस मुद्दे
को उठाया है पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन

खड़गे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुरमू को एक
खत लिखा है शब्दों में कहा जाए दोस्तों
2019 में जिन लोगों ने सेना की परीक्षा दी
थी उनमें से करीब 2 लाख युवाओं का सेना
में चयन हो गया था सिलेक्शन हो गया था वह

लोग इंतजार कर रहे थे कि कब उन्हें
जॉइनिंग लेटर मिलेगा मगर ऐसा होता नहीं
उनका इंतजार कभी खत्म नहीं होता फिर सरकार
लेकर आ जाती है अग्निवीर योजना वो
अग्निवीर योजना जिसमें पुराने जमाने की
तरह आपको सेना में काम करने के तमाम फायदे
बेनिफिट्स पेंशन नहीं

मिलते आज कांग्रेस ही मुद्दा उठा रही है
दोस्तों किस तरह से मुद्दा उठाया गया है
यह कुछ देर बाद मगर सबसे पहले मैं आपको
उत्तर प्रदेश का एक नजारा दिखाना चाहता
हूं दोस्तों यह देखिए किस तरह से युवाओं
का गिरेबान पुलिस पकड़ रही है और बाकायदा
उनका कॉलर पकड़कर उन्हें घसीट कर ले जाया
जा रहा है उनके मोबाइल फोनस को भी जब्त
किया गया है ऐसा दावा किया जा रहा है इस
ट्वीट के
अंतर्गत मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूं
यह लोग मैदान में उतरे हैं क्योंकि पेपर
लीक हो गया था फ्रस्ट्रेटेड है तैयारी की

थी इन्होंने पहले तो भाजपा सरकार ने मानने
से ही मना कर दिया और अब भी उनके साथ
ज्यादती जारी है अखिलेश यादव ने इस ट्वीट
में इस वीडियो को पोस्ट किया है जिसमें आप
देख सकते हैं पुलिस किस तरह से युवा के
पीछे दौड़ रही है मैं एक बात स्पष्ट कर

दूं यह भर्ती को लेकर व्यायाम नहीं हो रहा
है एक एक्सरसाइज नहीं हो रहा है मगर इस
तरह से पुलिस उन्हें दौड़ा दौड़ा कर पीट
रही है मैं फिर आपसे सवाल पूछना चाहता हूं
युवाओं के साथ इतनी बड़ी ज्यादती
क्यों आप में से जो लोग नहीं जानते हैं
दोस्तों आरओ एआरओ की क्या परीक्षा है आपकी
स्क्रीन पर उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग
यानी यूपी पीएससी हर साल समीक्षा अधिकारी
यानी आरओ और सहायक समीक्षा अधिकारी यानी

एआरओ के पदों पर बहाली करती है इसके तहत
जिन उम्मीदवारों को यह नौकरी मिलती है
उन्हें सैलरी के साथ कई तरह की सुविधाएं
दी जाती
हैं कितनी मेहनत के साथ यह लोग तैयारी

करते हैं और फिर क्या होता है दोस्तों
पेपर लीक हो जाता है हम और कितनी आसानी के
साथ पेपर लीक हो जाता है गिरफ्तारियां की
गई हैं मगर बड़ा सवाल यह जब यह मामला
सामने आया था तब तो भाजपा में जो उप
मुख्यमंत्री हैं उत्तर प्रदेश के तो मामले

को मानने को ही नहीं तैयार
थे आज भी वोह युवा मैदान में है आपने यूपी
पुलिस भर्ती की परीक्षा को मुल्तवी कर
दिया हो मगर मैं समझना चाहता हूं थोड़ी तो
संवेदना दिखाइए इस तरह से पुलिस बर्ताव
करेगी उन युवाओं के साथ क्या आप उन्हें
गुंडे मानेंगे

बताइए मुझे इस बात पर हैरत नहीं होगी
दोस्तों कि जो लोग इस वक्त प्रदर्शन कर
रहे हैं ना उनके परीक्षा देने पर रो लगा
दी जाए यह कहते हुए कि क्या यह लोग कल को
जाकर आरओ एआरओ बनेंगे या पुलिस में भर्ती
करेंगे जो आंदोलन कर रहे

हैं उनका फ्रस्ट्रेशन उनका डिस्परेयूनिया
पुलिस अब भी भ्रमित कर रही है मगर कोई
जवाबदेही नहीं चाहे बेरोजगार युवा हो या
किसान आखिर भारतीय जनता पार्टी सरकार उनके
प्रति संवेदना व्यक्त क्यों नहीं करती

संवेदनशील क्यों नहीं है य सवाल तो पूछा
जाएगा ना और अब अग्निवीर योजना के नाम पर
युवाओं के साथ जो ज्यादती हो रही है
दोस्तों कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन
खड़गे ने यह लंबा चौड़ा खत लिखा है जो आप
अपने स्क्रीन्स पर देख रहे हैं उन्होंने

क्या-क्या मुद्दे उठाए हैं एक-एक करके
आपके स्क्रीन्स पर आ रहा है दोस्तों मलिका
अर्जुन खड़गे कहते हैं 2019 से 2022 के
बीच सरकार ने 2 लाख युवाओं को सेना भर्ती
के लिए चयनित किया था सिलेक्ट किया था वे

जॉइनिंग लेटर का इंतजार कर रहे थे तभी
सरकार ने 31 मई 2022 को अग्निपथ स्कीम
लाकर देश सेवा का उनका सपना तोड़ दिया अब
वह बेरोजगारी हताशा और निराशा की के कारण
आत्महत्या करने को मजबूर हैं सरकार ने इन
युवाओं के साथ अन्याय किया है राहुल गांधी

के साथ यही युवा मिलने आए थे
दोस्तों राहुल गांधी ने उनसे संवाद किया
था राहुल ने उस वक्त मुलाकात में उनसे
क्या कहा था आइए सुनते हैं दोस्तों मेरे
पास 100 200 युवा आए मेरे साथ बैठे और
रोने लगे मतलब आंसू निकलने लगे मैंने पूछा

आप रो क्यों रहे हो मुझे कहते हैं राहुल
जी हमने 5 साल सेना में जाने की प्रैक्टिस
की रनिंग की वर्जिश की हमें सेना में
एक्सेप्ट कर लिया गया हमारा जो सपना था
उसको पूरा कर दिया और फिर 3 साल बाद हमें
कहते हैं तुम्हें सेना में नहीं लिया

जाएगा क्योंकि अब अग्निवीर लागू हो गया है
ना तुम इधर के ना तुम उधर के 150000
युवाओं को पहले आर्मी में लिया और फिर
आर्मी से निकाल दिया और आज 150000 युवा
भटक रहे हैं जक मंत में बैठे हैं क्योंकि

उनके हाथों से सरकार ने रोजगार छीना और
मैंने उनसे कहा है कि कांग्रेस पार्टी
उनके साथ खड़े होकर उनको न्याय दिलवाए गी
और उनका जो हक बनता है उनके हवाले उसको
करें कांग्रेस कह रही है कि अगर वो सत्ता
में आती है तो वो अग्निवीर योजना को हटा

देगी क्या कह रहे हैं मलिका अर्जुन खड़गे
आपके स्क्रीन पर अगर वह सत्ता में आती है
तो उस योजना को निरस्त कर पुरानी भर्ती
प्रक्रिया को बहाल करेगी पार्टी अध्यक्ष
मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रपति द्रौपदी

मुरमू को पत्र लिखकर आग्रह किया कि उन
करीब 2 लाख नौजवानों के साथ न्याय किया
जाए जिनका चयन सेना की नियमित सेवा में
होने के बावजूद उनकी भर्ती नहीं की गई थी
उन्होंने दावा किया कि सरकार द्वारा इनकी
भर्ती रोककर

अग्निपथ योजना लाई गई जिसके कारण इन
युवाओं को पीड़ा झेलनी पड़ रही
है आगे क्या कहते हैं मल्लिकार्जुन खड़गे
अग्निपथ योजना सैनिकों के समानांतर कैडर
बनाकर हमारे जवानों के बीच भेद भाव पैदा
करने वाली है 4 साल की सेवा के बाद अधिकतर

अग्निवीर को नौकरी ढूंढने के लिए छोड़
दिया जाएगा इसके बारे में कुछ लोगों का
तर्क है कि इससे सामाजिक स्थिरता प्रभावित
हो सकती है कांग्रेस कह रही है कि चाहे
किसान हो चाहे युवा भाजपा सरकार ने दोनों
के साथ नाइंसाफी की है क्या कह रहे हैं
पवन खेरा आइए सुनते हैं तो आपने सुना कि

कैसे जवान और किसान दोनों के साथ जो शोषण
दोनों का हो रहा है इन्हीं किसानों के
परिवारों के बच्चे हमारी फौज में जवान
बनते हैं और दोनों की जो स्थिति है आपको
जंतर मंतर पर भी दिख रही है सड़कों पर दिख

रही है दिल्ली की सीमाओं पर दिख रही है
इसी कड़ी में युवा न्याय के लिए जो कदम
राहुल जी ने उठाया खड़गे साहब ने उठाया वो
अभी हमने आपके साथ साझा किया मगर आज मैं
आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूं यह तमाम
मुद्दे आपके सामने हैं दोस्तों मगर क्या

आप इसकी गूंज किसी भी गोदी मीडिया में
सुनते हैं कहीं नहीं मैं आपको मिसाल देना
चाहता हूं दोस्तों किस तरह के कार्यक्रम
किए जा रहे हैं अगर आप इन स्क्रीनशॉट्स को
पढ़ेंगे गोदी मीडिया में तो इसका मकसद
सिर्फ एक है वह राहुल गांधी या वह अखिलेश

यादव या वह तेजस्वी यादव जो इन मुद्दों को
उठा रहे हैं उन्हें बदनाम किया जाए उन्हें
निशाने पर लिया जाए
सारे जो गोदी मीडिया के शोज है उसका मकसद
सिर्फ एक है विपक्ष पर निशाना साधा जाए
क्यों साधा जाए क्योंकि वह अग्निवीर योजना
के नाम पर जिन युवाओं के साथ नाइंसाफी हुई

है उस मुद्दे को उठा रहे हैं क्यों
क्योंकि वह किसानों के साथ खड़े
हैं इस बात को समझना मुश्किल नहीं है मगर
मेरा आज सवाल इस देश की जनता के साथ है उन
आंदोलन करने वाले युवाओं के साथ है आज
आपके सामने चुनौती है मगर आखिर क्या हो

जाता है कि जब वोट देने की बारी आती है तब
आप वोट धर्म के आधार पर देते हैं जाति के
आधार पर देते हैं क्या वजह है कि उस वक्त
मुद्दे जो हैं वह बोने हो जाते हैं मैं यह
नहीं कहता हूं कि आप किस पॉलिटिकल पार्टी
को वोट दीजिए हर पॉलिटिकल पार्टी में

अच्छे उम्मीदवार हो सकते
हैं मगर आखिर क्या हो जाता है कि जब वोट
देने की बारी आती है तब हिंदू खतरे में आ
जाता
है तब आप यह नहीं देखते हैं कि एक खास
पॉलिटिकल पार्टी है जो अराजकता मचाने की
कोशिश कर रही है जो आपकी भावनाओं के साथ

खिलवाड़ कर रही है मगर आपके लिए व कोई
मायने नहीं रखता क्योंकि आप भी उन भावनाओं
में बह जाते हैं आप भूल जाते हैं कि आप पर
किस तरह से लाठियां भांजी गई थी आप भूल
जाते हैं कि किसानों पर किस तरह से
गोलियां चलाई गई थी आप भूल जाते हैं कि जब

कोरोना की पहली और दूसरी लहर हुई थी तब
किस तरह से गंगा के तट पर को दफनाया गया
था तब अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर्स
नहीं मिल रहे थे मगर हां जब वोट देने की
बारी आती है तब हिंदू खतरे में आ जाता
है मैं आपसे बार-बार कहता हूं दोस्तों

हिंदू खतरे में नहीं है और ना मुगल हम पर
राज करेंगे खतरे में वह राजनेता है जो इस
तरह के तर्कों का इस्तेमाल करते
हैं मैं आपको एक छोटी सी मिसाल देता
हूं यह है मुंबई के मीरा रोड में भाजपा के

विवादास्पद विधायक टी राजा सिंह का
जुलूस ये वो राजा सिंह है जो भड़काऊ बयान
देते हैं यह वो राजा सिंह है जिस पर
सुप्रीम कोर्ट ने सख्त तेवर अपनाए यह वो
राजा सिंह है जिस पर खुद महाराष्ट्र सरकार

ने एक दो जगहों पर सभाएं आयोजित करने को
लेकर पाबंदी लगाई थी मगर राजा सिंह को
देखिए खुलेआम मुंबई के मीरा रोड में रैली
निकाल रहा है भड़काऊ बयान दे रहा है यह
व्यक्ति मंच पर खड़े होकर मां बहन की
गालियां भगता है
दोस्तों क्या यह भाजपा का चाल चरित्र चहरा

है क्या आप यह हालत करेंगे मेरे मुंबई
मेरे महाराष्ट्र की वह महाराष्ट्र जो इस
देश की आर्थिक नब्ज है उसे आखिर भारतीय
जनता पार्टी सरकार अराजकता की तरफ क्यों
ढकेल रही है क्यों राजा सिंह जैसे लोगों
को जगह मिलती है इस तरह की सभाएं करने
की क्या क्या वजह है आप

बताइए जवाब बहुत आसान है दोस्तों
ताकि आप नौकरी को लेकर अपने मुद्दे ना उठा
सके ताकि किसान अपने मुद्दों के साथ
दिल्ली की तरफ कुछ ना कर सके क्योंकि जब
इस तरह से राजनेता आपके बीच में आके
भड़काऊ बयानबाजी करते हैं तब आपको ऐसा
लगता है कि मेरा धर्म खतरे में है तब आप

असली मुद्दों को भूल जाते हैं यही वजह है
कि भाजपा राजा सिंह जैसे लोगों को उतारती
है आपको जिसे भी मैदान में उतारना है
उतारिए मुद्दा वो नहीं है मुद्दा यह है कि
से लोगों को उतारने से आप समाज में एक

अराजकता एक अशांति पैदा कर रहे हैं और
उससे हमें बचना चाहिए क्योंकि य समाज हम
सबका है हम सब जो अलग-अलग धर्म से हैं इस
समाज में हम जब रहते हैं तो हम अकेले नहीं
रहते हैं हमारे बुजुर्ग मां-बाप हमारे साथ
हैं हमारे बच्चे हैं जो स्कूल जाते हैं

मैं समझना चाहता हूं कि क्या हम एक ऐसे
समाज को बढ़ावा देना चाहते हैं जहां हमारे
बुजुर्ग मां-बाप बाहर चले जाते हैं और
हमें लगातार डर लगा रहता है कि वह वापस
आएंगे या नहीं
आएंगे ऐसी अराजकता ऐसी अशांति आखिर हम

क्यों पैदा करना चाहते हैं मेरी इस बात पर
गौर कीजिएगा आसार शर्मा को दीजिए इजाजत
नमस्कार स्वतंत्र और आजाद पत्रकारिता का
समर्थन कीजिए सच में मेरा साथी बनिए बहुत
आसान है दोस्तों इस जॉइन बटन को दबाइए और
आपके सामने आएंगे ये तीन विकल्प इनम से एक
चुनिए और सच के इस सफर में मेरा साथी बनिए

Leave a Comment