2024 | मोदी-शाह का खेल खराब कर रहा ये 'भतीजा' | Deepak Sharma | Modi | Amit Shah | - instathreads

2024 | मोदी-शाह का खेल खराब कर रहा ये ‘भतीजा’ | Deepak Sharma | Modi | Amit Shah |

नमस्कार मैं दीपक शर्मा और मेरे युटुब मंच
पर आपका स्वागत है
दोस्तों आज एक बात हमें और आपको समझनी
होगी और वो बात ये है की देश में यह जो दो
राज्य हैं उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र अगर

इन दो राज्यों में दो स्टेटस में अगर किसी
भी पार्टी की सियासत गड़बड़ थी गेम खराब
होता है यहां तो फिर वो पार्टी चाहे कोई
हो
वो देश में बहुमत की सरकार नहीं बना शक्ति

मेजॉरिटी गवर्नमेंट नहीं बना शक्ति
क्योंकि उत्तर प्रदेश जो सबसे बड़ा राज्य
सबसे ज्यादा सिम हैं 80 सिम हैं और
महाराष्ट्र में 48 सिम सेकंड बिगेस्ट

स्टेट अगर हम लोकसभा सीटों की बात करें
महाराष्ट्र इस बार चौपट कर लिया
और इन दोनों की स्थिति उत्तर प्रदेश में
लगातार बाइक
और महाराष्ट्र चौखट
अब सवाल यह है की मोदी और शाह इन दो

ताकतवर नेताओं के
अरमानों पर महाराष्ट्र में कौन पानी फिर
कौन है वह शख्स जो महाराष्ट्र में मोदी और
शाह के लिए मुसीबत बंता जा रहा कौन है वो
नेता
सरकार में

जो भाजपा की जड़ में मट्ठा दाल रहा है
आज इसी से पर्दा उठाने जा रहा हूं अब
दोस्तों आप इसे अजीब इत्तेफाक का सकते हैं
की जी अजीत पवार को मोदी जी ने डिप्टी कम
बनाया सरकार का नंबर दो बना दिया

सेज चाचा को छोड़ दिया महाराष्ट्र
वही अजीत पवार आजकल मोदी जी के लिए मुसीबत
बनते जा रहे हैं आप यूं का सकते हैं
मुसीबत का एक बड़ा पहाड़ बनते जा रहा है
अब दो दिन पहले ही अजीत पवार ने मोदी शाह

देवेंद्र फडणवीस शिंदे सब कुछ है उन्होंने
कहा की साहब
5% रिजर्वेशन यानी मुसलमान के लिए 5%
रिजर्वेशन होना चाहिए मुस्लिम को कोटा
दिया जाए

की जी मुस्लिम कोटा को लेकर देवेंद्र
फडणवीस राजनीति की रोटियां से करें एकनाथ
शिंदे राजनीत की रोटियां सेक रहे हो एक
डिप्टी कम जो सरकार में नंबर दो पोजीशन
वह अपने पेट में नहीं रख सकता गूगल देता
है

अजीत पवार को निगल तो लिया
लेकिन अब उनको समझ में ए गया
नहीं तो अपनी मृत्यु हो जाएगी
दोस्तों अजीत पवार जो डिप्टी कम है
इन्होंने हफ्ते भर में महाराष्ट्र में

बीजेपी का पेड़ जो है उसकी जेड हिल दी और
हफ्ते भर में इन्होंने कुछ ऐसी ऐसी
डिसीजंस लिए हैं
की मोदी और शाह तक बेचैन हो गए मिसल के
तोर पर हफ्ते भर पहले

पवार साहब ने दो मुस्लिम मंत्री सरकार में
जो दो मुस्लिम मंत्री हैं अब्दुल सत्तार
साहब और हसन मुझे इन दोनों को अपने चेंबर
में बुलाया अपने कमरे में बुलाया और वहां
पर वक्त के अधिकारियों को बुलाया वक्त
बोर्ड के अधिकारियों को भी बुलाया और
उन्होंने

जिसकी खबर
मुस्लिम कोट यहां एजुकेशन में मुस्लिम
कोटा देने की बात की गई
सवाल इस बात कहे की जब कोठी की बात बाहर
निकली कामरेज और उन्होंने ऐलान किया की हम

चाहते हैं की मुस्लिम कोटा दिया जाए
मुस्लिम को रिजर्वेशन दिया जाए
सरकार में इसी आदमी को हमने डिप्टी कम
बनाया
जब हाल में भी मुंबई

डिप्टी कम अजीत पवार मुंबई
अब अजीत पवार अमित शाह जैसे ताकतवर नेता
से मिलने ना आए उनको एक तरह से इग्नोर कर
दें मुंबई में इसका इल शायद जब हमेशा
उड़ान भर रहे होंगे दिल्ली से मुंबई उनको

नहीं था एक बेहद चौंकाने वाला आप का सकते
हैं कम अजीत पवार का था जो अमित शाह को
मिलकर चाणक्य को भी समझ नहीं आया की होने
क्या जा रहा है महाराष्ट्र में दोस्तों
जानकारी का कहना है महाराष्ट्र में की

अजीत पवार ने पिछले कुछ मीना में जब से वो
डिप्टी कम बने हैं या बीजेपी के करीब आए
तब से उनके खिलाफ जो भी जांच थी एड में
इनकम टैक्स में और केंद्रीय जांच एजेंसी

में उन फाइलों को दुरुस्त करती है और एक
बड़े मामले में कर सीट से उनका नेम उनका
जो नाम है वो ड्रॉप कर दिया गया उनका उनकी
पत्नी का वहां एक बड़ी राहत मिली आप का
सकते हैं संकट दूर हुआ दूसरी चीज यह है की

अजीत पवार को लगता है
की अमित शाह और मोदी ये जो गुजरात लोधी है
उनको मुख्यमंत्री शायद ना बनाएं अधर्मी
मटका के रखें और ये जो सिचुएशन ये जो
स्थिति अजीत पवार को पसंद उनको लगता है एक

तरफ उनका जो सेकुलर वोट है उनके हाथ से
निकाल रहा है जो मुस्लिम वोट है वह भी
उनके हाथ से निकाल रहा है तो कहानी ना
कहानी उनको पर्सनल लॉस है यहां तक वोट
बैंक की बात है और उनको
ये जो तेवर है अजीत पवार के पिछले हफ्ते

भार्या 15 दिन में ये बहुत साफ संकेत
है की ऐसा तो नहीं की चुनाव से पहले चुनाव
से पहले दिया 2014
चाचा की गॉड में फिर बैठ जाए क्योंकि चाचा
वैसे भी बड़े दिलवाले अब दोस्तों अगर अजीत

पवार अजीत पवार मोदी जी को शाह साहब को
भाजपा को अगर
कहानी ना कहानी बीच मझधार में छोड़
सवाल यह है की फिर हिंदुस्तान के सेकंड
बिगेस्ट स्टेट 48 सीटों वाले महाराष्ट्र
में मोदी जी का क्या होगा मोदी जी ने 2014
में तोक के भाव महाराष्ट्र

इस बार अगर यह गांव हो गया और उधर वैसे भी
जो महाविकास अगड़ी है उसके वोट शेर में
कोई फर्क नहीं आया उधर ठाकरे आज भी मजबूत
शरद पवार आज भी मजबूत कांग्रेस कंपैक्ट कर
रही है बीजेपी एक भी में इलेक्शन जीत नहीं

का रही है महाराष्ट्र अगर ये स्थिति है
पृथ्वी जो 41 सिम मिली है जो तोक के भाव
होल सेल में जो सिम मिली है
रिटेल ना हो जाए कहानी ये 10 के नीचे सीट
मुझे लगता है ये एक बहुत बड़ा सवाल है और
आज

इन सवाल का हमें जवाब ढूंढना होगा समझना
होगा की महाराष्ट्र में क्या होने जा रहा
है क्योंकि मैंने पहले भी कहा था की अगर
महाराष्ट्र की राजनीति गड़बड़ाई तो बहुमत
की सरकार नहीं बन सकते

हैं आप गुजराल वाली सरकार बना सकते हैं
लेकिन महाराष्ट्र को लॉस करने के बाद
यह मोदी वाली सरकार नहीं बन शक्ति 14 वाली
सरकार नहीं बन सकते 19 वाली सरकार थी
सरकार

टाइगर पहले सवाल जी तरह से अजीत पवार ने
मुस्लिम कोट की मांग कर आप सोचिए देवेंद्र
फडणवीस जो बार-बार यह का रहे हो पृथ्वीराज
चौहान जब के मिनिस्टर थे और उन्होंने कोटा
प्रूफ किया था उसे वक्त फडणवीस ने कहा की

यह असंमजनेक है तो जो फडणवीस जो अमित शाह
बार-बार मुस्लिम कोट का विरोध कर रहे हैं
असंवैधानी बता रहा हूं उन्हें की सरकार
में अजीत पवार मुस्लिम कोटी की डिमांड कर

रहे हैं 5% मुस्लिम कोटा और इसके अलावा जो
दो मुस्लिम मंत्री हैं जिसमें अब्दुल
सत्तार हैं
इन दो मुस्लिम मंत्रियों के साथ वह मीटिंग
कर रहे हैं वक्त के अधिकारियों को बुला

रहे हैं आपको लगता है की अजीब पवार ने
दुखती राग पकड़ ली है
कहानी ना कहानी वो एक तरह से परेशानी का
शबाब है महाराष्ट्र के लिए मोदी के लिए और
अगर मैं कहूं की बीजेपी के अंदर

देखिए दीपक भाई अजीत पवार ने अपना व्यवहार
नहीं बदला और अजीत पवार व्यवहार बदलेंगे
नहीं
होते
स्पोकन है और अजीत पवार यही करते हैं जो
करना है आप उनको गण पॉइंट पर तो बीजेपी
में ले आएगा लेकिन मैं आपको सिर्फ 30 से

कर लूंगा मुझे मालूम है बिल्कुल समय काम
है
जब कई ऐसे वीडियो आपने देखें होंगे की कोई
अजगर अपने औकात से ज्यादा का जाता है
वो चीज
वो अपने पेट में नहीं रख सकता है

अजीत पवार को अपने साथ लेने के पहले आप
अजीत पवार को जज नहीं कर पे यह आपकी
मूर्खता है
टाइगर एक बात और ए रही है और बात वो ये ए
रही है लोग का रहे हैं बॉम्बे में लोग इस
तरह की बातें कर रहे हैं मेरी भी अकड़

लोगों से बात हुई उनका कहना है की साहब
अजीत पवार पे अमित शाह ने पहले मुकदमेट
तोक दिए एड पीछे ग गई फाइलें खोल दी अब
इतना बड़ा साम्राज्य जी पवार का उनको लगा

की भाई अब तो जय जाएंगे और नवाब मलिक को
जय भेज ही दिया था अनिल देशमुख को जय भेजी
दिया था तो डर तो था जय जान का ऐसा लोग
कहते हैं की वह सिर्फ मोदी और अमित शाह के
लिए इसलिए आए की फाइनली अपनी ठीक कर लेने

और बीच में एक मामले में कोऑपरेटिव बैंक
के मामले में कर सीट से उनका नाम भी ड्रॉप
कर दिया तो क्यों क्योंकि अब अजीब पवार ने
अपनी फाइलें ठीक कर ली हैं
तो क्या वो सीन चौड़ा होकर ललकार रहे

देखिए दीपक भाई मैं और इसके आगे जाता हूं
जब पहले बार 80 घंटे की सरकार बनाई थी और
अजीत पवार चले गए थे उसे 80 घंटे में अजीत
पवार ने सिंचन
घोटाले में से अपना नाम निकलवा दिया

फिर भी अजीत पवार लाड रहे थे
फिर भी लोहा ले रहे थे बीजेपी से
लेकिन उनके बेटे
को लेकर जब इंक्वारी शुरू हो गई
जय
की स्थिति थी जैसे तेलंगाना के

मुख्यमंत्री जो कर है उनकी बेटी को लेकर
कैसे में जब सम्मान भेजो गया तो वो अपनी
बेटी के आगे डब गए
इनके बेटे को इनकी बेटी को
इसी तरह
जैसे ही नोटिस गया
बी हो गई थी उनके ऊपर जो पीड़ा चल रही थी

उसे डर गए
उसमें से 90% लोग ऐसे हैं जो बहुत ही छोटे
स्टार से उठकर की दुकान चला रहा था कोई
ऑटो चलता था हाथ की भट्टी चलता था कोई
टिकट ब्लैक करता था यह लोग बाला साहब
वो फूड सोल्जर राज्य बन गए

तो निकाल रही है
आपके एग्रीकल्चर में इतना तो इनकम नहीं हो
सकता की आप इजरायल का भी रिकॉर्ड तोड़ दें
टाइगर यहां पर
एक सवाल और जी जी समय महाराष्ट्र में
रिजर्वेशन को लेकर आरक्षण को लेकर आज लगी

हो मराठा अपना रिजर्वेशन मांग रहे हैं
ओबीसी अपना रिजर्वेशन मांग रहे हैं धनगर
कम्युनिटी वो अपना रिजर्वेशन मांग रही है
और अजीत पवार ने भी मुस्लिम रिजर्वेशन
कोठी की बात कर देगी साहब मुस्लिम कोटा

दीजिए क्या आपको लगता है की अजीत पवार एक
ऐसी पॉलिटिक्स खेल रहे हैं की बीजेपी के
हर बड़े नेता को बेनकाब कर देंगे क्या
आपको ग रहा है की अमित शाह जो पिछली बार
गए थे अभी दो दिन पहले मुंबई में थे अजीत

पवार उनसे मिले नहीं वह एकनाथ शिंदे के घर
गए देवेंद्र फडणवीस उनके साथ थे वह लालबाग
राजा के मंदिर में भी गए वहां भी हमें जो
है पवार नहीं देखें फिर एक फंक्शन किया
उन्होंने यहां पर अजीत पवार को बुलाया गया

था बॉम्बे यूनिवर्सिटी के वहां अमित शाह
दिखे वहां देवेंद्र फडणवीस देखें
अजीत पवार वहां भी गए आपको क्या ग रहा है
की
अजीब पवार का एक गलत नंबर डायल किया
अमित शाह जी और मोदी ने
देखिए अमित शाह ने गलत नंबर डायल किया की

मैं मानता हूं
कोई राजनीतिक गठबंधन ब्लैकमेलिंग की पहले
गण पॉइंट पे नहीं होता गण पॉइंट पर जो
गठबंधन होते हैं वह इंतजार करते समय का और
जब समय मैं आप फैंस जाते हैं देखिए
महाराष्ट्र में क्या हो रहा है मराठा

कुलवी का सर्टिफिकेट मांग रहा है कल भी ये
ओबीसी है ओबीसी समाज लगातार महाराष्ट्र
में आंदोलित है की आप मैराथन को रिजर्वेशन
दो इसमें हमारा कोई प्रॉब्लम नहीं है
लेकिन मैराथन को कल भी बना के हमारे

रिजर्वेशन में मत घुसादो कल भी आंदोलन
थे की हमको कुंडली बना धनगर बोल रहे हैं
हमारा क्या
और सर्किल सभी को बोलने की तुम्हारा हम कर

रहे तुम्हारा हम कर रहे तुम्हारा हम कर
रहे
ऐसे में एक शगुफा छुट्टा है 5 परसेंट
मुसलमान होगा
मराठी बोलते हैं मुसलमान मैं इसे कई
मुसलमान साहित्य को बता सकता हूं की जो

मराठी का बेहतरीन साहित्य गड़ा है
उन्होंने मुसलमान हैं छत्रपति शिवाजी
महाराज की इसमें 60 हजार फौजी में 60 हजार
प्रधानमंत्री
हो गई अब एक तमाचा मारा और निकाल गए वो
सरकार से तो फिर यह गुजरात लोभी का क्या

होगा महाराष्ट्र में 48 सिम 48 सिट्स मैं
तब भी कहता हूं सिंगल डिजिटल अभी कहता हूं
सिंगल डिजिटल
सिंगल डिजिटल
को 41 सिम मिली शिवसेना के साथ गठबंधन में
और मोदी जी ने ताज पहने और 2014 में भी 41

सिम मिली थी 48 में 41 मतलब
वह भी सिम व्यक्तिगत तोर पर
जैसे नितिन गडकरी हो गए जैसे तुम्हारे
गोपाल रेड्डी हो गए
जिम्मेदार कौन है
अपना राज्य थोड़ा तो राज्य के प्रति

समर्पित रहे
जिन जिन ने गुजरात की सेवा की वो
महाराष्ट्र से बाहर होंगे राजनीति से देख
लीजिए मुझे बात सुन लीजिए ध्यान से
झुकता नहीं आदमी
जी देवेंद्र फडणवीस इतना शिंदे इन्होंने

अपने पार्टी को अपने प्रदेश का अहित
करवाया दो बड़े प्रोजेक्टर ये चुपचाप बैठे
रहे हैं कई चीज जा रही है स्टॉक मार्केट
का कई चीज जा रही है और ये बीएससी और

एनएससी चला गया वहां पे नेशनल स्टॉक
एक्सचेंज चला गया तो मुझे जरा भी अच्छे से
नहीं होगा कम्युनिटी मार्केट से कोई
डिपार्मेंट ऑलरेडी जा चुके हैं वो ट्राई
सिटी में गिफ्ट सिटी में

अगर यहां पर एक सवाल उठाता है लोग कहते
हैं की सब मोदी जी मतलब राजनीति को बहुत
बेहतर तरीके से समझते हैं उनके साथ अमित
शाह चाणक्य हैं और यह दोनों मिलकर

इन्होंने सबको परस्त किया सबको पराजित
किया जो भी मोदी जी से शतरंज खेलने आया
उसको मोदी जी ने मान दी है बुरी तरह से
क्या महाराष्ट्र जो पड़ोसी राज्य था
गुजरात का पड़ोसी राज्य है मोदी जी को
गुजरात के साथ-साथ महाराष्ट्र की भी बहुत

ज्यादा जानकारियां हैं मोदी जी महाराज की
राजनीति नहीं समझ पे अमित शाह जो उनके साथ
वह महाराष्ट्र को नहीं समझ पे मराठी
सेंटीमेंट नहीं समझ पे जब वह रीजनल मराठी

परियों तोड़ रहे थे उसका परिणाम नहीं समझ
पे यह मोदी जी से इतनी बड़ी गलती कैसे हो
गई
विकेट नहीं ले सकता उसे दिन उनका विकेट
चला जाता है
अहंकार आदमी के बुद्धि पर जंग चड्ढा देता

है वो जो आदमी सोने लायक नहीं राहत
अमित शाह और नरेंद्र मोदी को यह लगे लगा
था की मोदी है तो मुमकिन है कोई भी चीज
मुमकिन है मैं आपको मालूम है काम समय है

लेकिन 30 सेकंड लूंगा एक छोटी कहानियां से
काम की एक अमेरिकन एक अमेरिकन एक
मर्सिडीज़ लेक इंडिया में आया
और गांव घुमा जहां भी मर्सिडीज़ खराब होती
थी लोकल मैकेनिक आके बोलना था जुगाड़ है

मेरे पास ठीक करता था
वो अमेरिका जाके बोला की यार क्या हम
इंडिया को पागल कहते हैं इंडिया को
बैकवर्ड कहती इंडिया सबसे ऑर्गेनाइजर और
सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी पे कंट्री है उसके

मैकेनिक ने पूछा कैसे उन्होंने
इंडिया में घुमाया भी गाड़ी तकलीफ में आई
उन्होंने कहा की हमारे पास जुगाड़ है
जब मैकेनिक इंजन खोल तो इंजन की पुरी 12

जुगाड़ इंजन हो गया है तो इन्होंने जुगाड़
जुगाड़ में हर राज्य में सरकार बनाते गए
और अपना संगठन जुगाड़ कर लिया
हमेशा जैसे मिस्त्री ने मोदी जी के
उन्होंने हर जगह इंजन में 16 नंबर नोट की

जगह 18 नंबर नट दाल के इंजन बैठा दिया हर
राज सरकार का इंजन बैठा हुआ
है इसीलिए तो
रो रहे हैं
रैली में
कर्नाटक में
स्क्रैप हो चुका है

जी आदमी ने मुसलमान को खुलेआम गलियां दी
मुस्लिम समाज को गली देते हुए सबको बड़ा
लगा सब ने कहा की यह बहुत बड़ा हुआ उसको
आप राजस्थान में टोंक का इंचार्ज बनाते हो
ये हमने कहा उसे दिन की अब शायद उसको आ

विधुरी को कोई प्राइस दिया जाएगा मंत्री
बनाया जाएगा उन्हें राजस्थान में हम काम
जिम्मेदारी दी टोंक विधानसभा की यह यह है
बीजेपी का चेहरा अब महाराष्ट्र के एकनाथ
शिंदे को यह जवाब देना होगा की उन्होंने

सूचना इसलिए छोड़ी की वो हिंदुत्व खराब कर
दिया था उद्धव ठाकरे ने
सीपी और कांग्रेस के साथ जाके
अब आपका मुख्यमंत्री मुसलमान को पाठ
प्रतिशत
आएंगे
क्या

आपने जो कुछ बताया उसके आधार पर मैं का
रहा हूं की क्या अजीत पवार ने शरद पवार के
सेज भतीजे ने महाराष्ट्र की सियासत में
रायता फैला दिया है
गुजरात में अभी
ऐसा रायता फैला दिया है जो किसी से समेत

नहीं जाएगा
पर वो एक तरह से आप बीजेपी की जड़ में
मट्ठा डालें टाइगर ने एक बात कहीं दोस्तों
उन्होंने कहा की बंदूक लगा के माथे पर
पिस्टल लगाकर ब्लैकमेल करके तमाम कैसे
खोलकर अगर आप किसी को अपने साथ लाना चाहते
तो वह दिल से नहीं होता

जैसे ही वो मुकदमे निपटाते हैं वो दुश्मन
की तरह भी तेरी भीतर आस्तीन का सांप बैंक
खड़ा हो जाता है और यही स्थिति महाराष्ट्र
में देखने को मिल रही है और मुझे लगता है
की इसके परिणाम इसके दुष्परिणाम बीजेपी के

लिए बहुत भारी पढ़ेंगे क्योंकि महाराष्ट्र
एक छोटा राज्य नहीं है उत्तर प्रदेश के
बाद दूसरा सबसे बड़ा राज्य 48 सिम और बहुत
निर्णायक साबित होती है महाराष्ट्र अगर
नहीं है मोदी जी के खाता में बड़ा मुश्किल

है 2024 में फिर से तीसरी बार शपथ
बोले कैमरे पर मुझे लगता है की हिंदुस्तान
में आज की तारीख में आप जैसी आवाज
निष्पक्ष और निर्भीक बहुत विराले हैं ऐसे

पत्रकार जो आज के दूर में खुलकर बोल रहे
हैं टाइगर आपको सलूट नमस्कार सलाम

Leave a Comment