22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारी पुकार मुझ तक पहुंच गई है। 🕉 भूलकर भी अनदेखा मत करना।🕉️#shivshakti - instathreads

22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारी पुकार मुझ तक पहुंच गई है। 🕉 भूलकर भी अनदेखा मत करना।🕉️#shivshakti

[संगीत]

मेरे

बच्चे तुम्हारी दुविधा मैं समझ रही

हूं तुम सोच कुछ और रहे

हो हो कुछ और रहा

है तुम्हारी चिंता बढ़ती ही जा रही

है अपने करियर को लेकर अपने रिश्ते को

लेकर तुम्हारे मन में अनेकों शंकाएं उठ

रही

हैं तुम्हें कुछ समझ नहीं आ रहा

है कि तुम्हारा जीवन तुम्हें किस दिशा में

लिए जा रहा

है तुम खुद को बहुत

अकेला और कमजोर महसूस कर रहे

हो तुम मुझे याद कर रहे

[संगीत]

हो बार-बार मेरा नाम ले रहे

हो मेरे बच्चे चिंता मत

करो तुम्हारी पुकार मु तक पहुंच रही

[संगीत]

है तुम्हारी पूजा सफल हो रही

[संगीत]

है इसलिए आज मैं तुम्हें यह बताने आई

हूं कि मैंने तुम्हारे लिए क्या सोचा

है मेरे बच्चे मैं देख रही

हूं तुम इस समय अपने जीवन को लेकर अत्यंत

गंभीर

हो तुम बहुत मेहनत कर रहे

हो खुद के बारे में ना सोचकर

दूसरों को खुशी देने की सोच रहे

हो फिर भी तुम्हारी उन्नति

में अनेकों रुकावटें आ रही हैं अनेकों

बाधाएं आ रही

हैं तुम्हारे रिश्ते बिगड़ रहे

हैं कहीं पर भी तुम्हें सुकून नहीं मिल

रहा

है

इसलिए तुम्हारे मन में यह प्रश्न उठ रहे

हैं कि माता मैं सही दिशा में तो

हूं मैंने जो चुना

है क्या वह मेरे लिए सही

है यदि हां तो मेरे जीवन में इतने दुख

क्यों

है इतना दर्द क्यों

है क्यों मैं बार-बार हार जाता हूं

क्यों मेरे रिश्ते बिखर जाते

हैं क्यों मैं कहीं पर भी सफल नहीं हो पा

रहा

हूं मेरे बच्चे मैं जानती

हूं तुम जितनी मेहनत कर रहे

हो उसका आधा फल भी तुम्हें नहीं मिल रहा

है यहां तक

कि अपने संबंधों को सुधारने की भी

तुम बहुत कोशिश कर रहे

हो बहुत समय खर्च कर रहे

हो फिर भी लोगों को तुमसे शिकायतें

हैं तुम चाहे किसी के

लिए अपनी खुशियों का भी त्याग कर

लो फिर भी लोग तुमसे संतुष्ट नहीं

है तुम में कमियां निकाल रहे

हैं प्रेम परिवार करियर हर जगह

से तुम्हें निराशा मिल रही

है मेरे लाडले तुम्हारा काम है कर्म

करना जब फल देने की बारी आएगी

[संगीत]

तो मैं तुम्हारे जीवन

को धन समृद्धि पद प्रतिष्ठा मान

सन प्रेम और खुशियों से भर

दूंगी मैं जानती

हूं तुम्हारा बना बनाया काम बिगड़ जाता

है समय की तेज गति

देखकर तुम भयभीत

हो तुम्हें लग रहा है कि समय निकल

जाएगा और मैं कुछ भी नहीं कर पाऊंगा

मेरे बच्चे व्यर्थ चिंता ना

करो धैर्य रखो यह सोचकर विश्राम

करो कि कोई है जो सदैव तुम्हारा ध्यान

रखती है वह तुम्हें कभी किसी के

समक्ष लज्जित नहीं होने

देगी मुझे पता

है कि तुम्हारे रास्ते में कुछ रुकावटें आ

रही

हैं काटो भरे रा से तुम्हें गुजरना पड़

रहा

है हो सकता है कि समय की ठोकर तुम्हें

गिरा दे किंतु मैं साथ

हूं मैं तुम्हें संभाल

लूंगी तुम गिर सकते

हो परंतु हार नहीं

सकते मेरे बच्चे इस संदेश के माध्यम

से मैं तुमसे यह बताना चाहती

कि तुम्हारे जीवन का

उद्देश्य अन्य लोगों से बहुत भिन्न

है इसलिए भीड़ का हिस्सा मत

बनो दूसरों की नकल मत

करो अपनी तुलना दूसरों से मत

करो मैं देख रही

हूं तुम्हारे मन में बहुत क्रोध है

है बहुत दर्द

है कुछ लोगों के प्रति कुछ अपनी असफलताओं

के

प्रति कुछ लोगों की बातें तुम्हें चैन से

जीने नहीं

देती लोगों के ताने भरे

मजाक तुम्हारे दिमाग में हर पल गूंजते

हैं तुम्हें यह जिद

है कि मैं कुछ बड़ा करके दिखाऊंगा

उससे भी आगे निकल कर

दिखाऊंगा मेरे बच्चे अपनी

जिद अपना क्रोध छोड़

दो तुम बहुत बुद्धिमान

[संगीत]

हो तुम्हारी योजनाएं बहुत बड़ी

हैं परंतु उन पर काम करने से तुम डर रहे

हो मेरे बच्चे डरो

मत नई शुरुआत

करो समय के साथ तुम्हारा ज्ञान बढ़ता ही

जाएगा मैं जानती हूं संघर्ष बहुत

है कोई भी तुम्हारे साथ नहीं

है परंतु तुम परेशान मत

हो तुमने बहुत सब्र किया

है कुछ समय और सब्र करो

मन लगाकर खुश होकर अपना कर्म

करो तुम्हें अकल्पनीय सफलता

[संगीत]

मिलेगी मेरे बच्चे अपनी अंतरात्मा की आवाज

सुनो कुछ कार्य तुम गलत उद्देश्य के साथ

कर रहे

हो उसमें सुधार

करो मैं देख रही

हूं तुम्हारी खुशी कुछ और है तुम करना कुछ

और चाहते हो परंतु समाज को दिखाने के

लिए तुम कर कुछ और रहे

हो अपने सपने तुम त्याग रहे

हो दूसरों के सपने को पूरा करने के

लिए तुम निरंतर संघर्ष रत

[संगीत]

हो मेरे बच्चे सब कुछ यही रह जाना

है कोई वस्तु कोई इंसान ऐसा नहीं

है जो तुम्हारा

है हर संबंध में कोई ना कोई स्वार्थ

है इसलिए किसी और के सपनों का बोझ उतार

फेंको अपने सपनों को पूरा

करो कुछ कार्य तुम्हारे तुमने अधूरे छोड़े

हैं उस पर केंद्रित हो

जाओ वही तुम्हारी सफलता की कुंजी

है खुश

रहो मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ

है तुम्हारा दिन मंगलमय

हो सच्चे मन से

कहो जय

महाकाली

Leave a Comment