22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारे पीठ पीछे क्या चल रहा है।🕉️ तुम्हें इस बात का अंदाजा नहीं है। 🕉️#shivshakti - instathreads

22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारे पीठ पीछे क्या चल रहा है।🕉️ तुम्हें इस बात का अंदाजा नहीं है। 🕉️#shivshakti

[संगीत]

मेरे

बच्चे कुछ लोग तुम्हारे बारे में बहुत गलत

बातें कर रहे

हैं कुछ तुमसे नफरत करने लगे

हैं उन्हें तुम्हारा बदलाव अच्छा नहीं

लगा कल तक तुम्हें सब पसंद करते

थे क्योंकि तुमने उनका साथ हर मुश्किल में

दिया

है अपने क् को अपनी खुशियों को पीछे रखकर

लोगों का भला किया

है परंतु कुछ समय

से तुम अपने जीवन का अपने समय

[संगीत]

का मूल्य समझने लगे

हो अच्छे बुरे का फर्क समझने लगे

हो इसलिए तुमने सही दिशा

में आगे बढ़ने का फैसला लिया

है परंतु तुम्हारा यह

बदलाव कुछ लोगों को बहुत परेशान कर रहा

है इसलिए वह तुम्हें बेइज्जत करने के

लिए लोगों के बीच उल्टी सीधी बातें कर रहे

हैं मेरे बच्चे जब तक तुमने कोई लक्ष्य

नहीं चुना था तब तक सब सब खुश थे

तुमसे तुम्हारे सगे संबंधी मित्र

आदि सब तुमसे प्रेम का दिखावा करते

थे तुम्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित भी

करते

थे परंतु जब तुम सत्य में आगे बढ़ने लगे

हो तो सबको तुमसे जलन हो रही

[संगीत]

है तुम्हारे मित्र तुम्हारा शत्रु सब

तुम्हारे ऊपर नजर गड़ाए बैठे

हैं मेरे बच्चे तुम्हारा एक

करीबी जो तुम्हारा बहुत तैसी बन रहा

था वह तुमसे इतनी मीठी बातें करता

था मानो उससे बड़ा

शुभचिंतक तुम्हारा कोई है ही

नहीं परंतु तुम्हारे जीवन

में

कुछ अच्छा होते हुए

देख वह भीतर ही भीतर

[संगीत]

किलसिथ पीछे क्या हो रहा

है इस बात का तुम्हें तनिक भी अंदाजा नहीं

है जितनी शिद्दत

से तुम अपनी सफलता के लिए परिश्रम कर रहे

हो उतनी ही शिद्दत से

लोग तुम्हारी असफलता की प्रतीक्षा कर रहे

हैं किंतु तुम्हारी जीत पक्की

है क्योंकि तुम बहुत सच्चे और मनमौजी

हो यह सत्य है कि तुम्हें अत्यंत क्रोध

आता

है यदि कोई तुमसे उद्दंडता करता

है तो तुम उसके ऊपर बरस पड़ते

हो उ बुरा भला कह देते

हो इसलिए तुम्हारे दुश्मन भी बहुत

है परंतु मैं जानती

हूं तुम केवल बोलते

हो तुम्हारा मन साफ

है तुम किसी से घृणा नहीं करते ना किसी का

बुरा चाहते

हो तुम्हें तो यह भी नहीं

पता कि कितने लोग तुम्हारी

का इंतजार कर रहे

हैं तुम तो बस अपनी धुन में मगन

होकर अपना कर्म किए जा रहे

हो तुम्हारे घर में तुम्हारे जीवन

में अनेकों समस्याएं

हैं किंतु फिर भी तुम मुस्कुरा रहे

हो तुम्हें अपनी माता के न्याय पर

इतना तो भरोसा

है कि देर अवश्य हो सकती

है परंतु तुम्हारी मां तुम्हें गिरने नहीं

देगी मेरे बच्चे तुम्हारा यही

भरोसा तुम्हारा यही अंदाज मुझे अत्यंत

प्रिय है केवल इतना ही

नहीं तुम्हारा मन इतना कोमल है

कि तुम्हारे सामने कोई जीव भूखा नहीं रह

सकता धर्म कर्म पुण्य पर विश्वास रखने

वाले हो

तुम तुम्हें नहीं पता पर तुम्हारे कर्म

बहुत अच्छे और सच्चे

[संगीत]

हैं तुमने इतने जीव को भोजन दिया

है उन्हें प्रेम दिया

है कि उनका आशीर्वाद तुम्हें कभी हारने

नहीं

मेरे बच्चे तुम बहुत भाग्यशाली

हो अपना मन कभी यह सोचकर दुखी मत

करना कि तुमने सबके लिए बहुत कुछ

किया परंतु सबने तुम्हारे साथ घात किया

बुरा

किया मेरे बच्चे जब तक मैं ना

चाहूं एक पत्ता भी नहीं हिल

सकता

तुम्हारे जीवन में जो दुख

है जो निराशा

है वह बस कुछ समय के लिए

है मैं जानती

हूं तुम्हें बहुत तकलीफ हो रही

है तुम अपना दर्द किसी से कहते

नहीं परंतु भीतर ही भीतर तुम बहुत परेशान

हो मेरे लाडले चिंता ना

करो तुम्हारी हर परेशानी का अंत शीघ्र ही

होगा तुम जो चाहते

हो उससे अधिक तुम्हें

मिलेगा और जो लोग तुम्हारी हार

की प्रतीक्षा कर रहे

हैं उन्हें बहुत बड़ा झटका

लगेगा क्योंकि आज भी कुछ लोगों

को तुम्हारी प्रतिभा पर संदेह

है वह तुम्हारे सपनों पर हंसते

हैं उन्हें विश्वास

है कि तुम सफल नहीं

होंगे परंतु तुम्हारी सफलता के विचार

मात्र से

ही उनकी आत्मा सुलगने लगती

है जब सत्य में एक

दिन तुम्हारी सफलता का संदेश उन्हें

मिलेगा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक

जाएगी और वह दिन बहुत निकट आ गया

है मेरे बच्चे तुम रुकना

नहीं निरंतर मेहनत करते

रहो तुम्हें सफलता के रूप

में बहुत बड़ा उपहार

मिलेगा मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ

है तुम्हारा कल्याण

हो सच्चे मन से

कहो जय मा

काली

Leave a Comment