22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारे प्रेम और भरोसे का फायदा उठा रहे है।🕉️ वो तुमसे माफी मागेंगे। 🕉️#shivshakti - instathreads

22:22 माँ काली 🕉 तुम्हारे प्रेम और भरोसे का फायदा उठा रहे है।🕉️ वो तुमसे माफी मागेंगे। 🕉️#shivshakti

[संगीत]

मेरे बच्चे कैसे हो

तुम मैं तुम्हारी माता आज तुम्हें

आशीर्वाद देने आई हूं और तुम्हें कुछ

महत्त्वपूर्ण बताने आई

हूं मेरे बच्चे तुम्हारे मन में कई सवाल

हैं जो तुम्हें बहुत परेशान कर रहे

हैं उन्हीं सवालों के जवाब मैं तुम्हें

देने आई

हूं मेरे बच्चे मैं मैं जानती

हूं अपने जीवन अपने

रिश्ते और अपने करियर को लेकर तुम बहुत

चिंतित

हो बहुत समय

से तुम अपने करियर को ऊंचाई देने के

लिए मेहनत कर रहे

हो परंतु तुम्हारी मेहनत का आधा फल

भी तुम्हें प्राप्त नहीं हो रहा

इसलिए तुम बहुत अशांत

हो कई बार तुम्हें लगता

है कि तुम्हारी मेहनत सफल हो रही

है तुम्हारा करियर आसमान छूने ही वाला

है परंतु तुम फिर से शून्य पर पहुंच जाते

हो तुम्हारे बने बनाए कार्य बिगड़ने लगते

हैं

जिस कारण तुम्हारा धैर्य टूट रहा

है तुम निरंतर कर्म तो कर रहे

हो परंतु तुम्हारा विश्वास डगमगा रहा

[संगीत]

है तुम्हारे दिमाग में अनेक विचार चल रहे

हैं सोते जागते हर

समय तुम नकारात्मक कल्पनाएं कर रहे हो

तुम्हें बहुत थकान महसूस हो रही

है कभी-कभी तो तुम्हारा दिमाग ही काम नहीं

करता कि अब आगे क्या करना

है मेरे बच्चे मैं जानती

हूं तुम्हें इतनी निराशा क्यों हो रही

है तुम्हें यही लग रहा है

ना

कि समय बहुत ही तीव्र गति से आगे निकल रहा

है लोग भी तुमसे बहुत आगे निकल रहे

हैं पर तुम रुके हुए

हो जैसा तुम चाहते

हो वैसे तुम्हें अपने जीवन में ग्रोथ नहीं

दिखाई दे रही

है मेरे बच्चे मेरी एक बात सदैव स्मरण रख

तुम्हारे जीवन में जो हो रहा

है वही होना

था तुम ना समय से आगे हो ना समय से

पीछे समय के साथ जो होना है वही हो रहा

है इसलिए चिंतित ना

हो अपनी मेहनत और अपनी माता की कृपा पर

विश्वास रखो

वह दिन शीघ्र ही

आएगा जब तुम सफलता की ऊंचाइयों पर कदम

रखोगे मेरे बच्चे मैं देख रही

हूं तुम्हारे रिश्ते भी बहुत उलझे हुए

हैं मित्र शत्रु बन गए हैं अपने पराए हो

गए

हैं जिस पर भी तुम्हें खुद से ज्यादा

भरोसा

है वही तुम्हारे भरोसे को तोड़ रहे

हैं जिसे तुम अपना समझ रहे

हो वही तुम्हारे साथ छल कर रहे

हैं ऐसे कई लोग

हैं तुम्हारी जिंदगी

में जिन्हें तुम आगे बढ़ते हुए तरक्की

करते हुए देखना चाहते

हो परंतु वही लोग तुम्हें पीछे धकेलने का

का प्रयास कर रहे

हैं तुम्हारे प्रेम और विश्वास का फायदा

उठा रहे

हैं मेरे बच्चे तुम तनिक भी चिंता मत

करो बहुत जल्द तुम्हें रुलाने

वाले तुमसे अपनी करनी की माफी

मांगेंगे अभी तुम्हारा समय खराब चल रहा

है इसलिए लोग तुम्हें अपनी असली औकात दि

रहे

हैं उन्हें विश्वास है कि तुम्हारे जीवन

में कोई बदलाव नहीं

आएगा तुम सदैव इतनी बुरी परिस्थितियों में

फंसे

रहोगे इन्हीं समस्याओं का सामना

करोगे तुम कभी आगे नहीं बढ़ो

ग मेरे बच्चे कुछ लोग तो तुमसे इसलिए भी

तोड़ रहे

हैं क्योंकि वह तुम्हें अपने स्तर का नहीं

समझते परंतु तुम क्या

हो यह उन्हें जल्द ही ज्ञात

होगा जब तुम सूरज की

भाति पूरे संसार में प्रकाशित

होंगे और तब तुम स्वयं

देखना तुम्हारे शत्रु भी तुमसे मित्रता

करना

चाहेंगे वह रिश्ते जो टूट गए

हैं वह स्वतः जुड़

जाएंगे जो तुम्हें छोड़कर जा चुके

हैं वह तुम्हें ढूंढते हुए

आएंगे और तब तुम निर्णय

लेना कि तुम्हें क्या

चाहिए मेरे बच्चे मेरी बात को उपहास मत

समझना बहुत जल्द तुम्हारी किस्मत बदलेगी

मैंने तुम्हारा संघर्ष देखा

है तुम्हें रोते हुए देखा

है तुम कभी यह मत

सोचना कि तुम्हारी मां ने तुम्हें अकेला

छोड़

दिया नहीं मेरे बच्चे

तुम्हारी मां तुम्हारे सर पर लगा वह छत

है जो तुम्हें जंजावत के हर ताप से बचाती

है कुछ समय से जिन कांटों भरे रास्ते पर

तुम चल रहे

हो मैं भी तुम्हारे साथ चल रही

हूं तुम्हारे दुख का तुम्हारी कमियों का

अंदाजा है

मुझे और मैं यह भी जानती

हूं कि मेरे अतिरिक्त तुम्हें इस संसार

में अब किसी पर विश्वास नहीं

है तुम्हारी आंस मुझसे ही जुड़ी

है तुम्हें उम्मीद

है कि भले ही सारी दुनिया तुम्हें निराश

करे तुम्हारा मजाक

उड़ाए किंतु तुम्हारी माता तुम्हारा आस से

भरा

विश्वास कभी नहीं तोड़ेगी

मेरे बच्चे रोना मत कभी खुद को अकेले मत

समझना लौकिक बंधनों से

परे अलौकिक नाता है तुम्हारा

मेरा तुम्हारा दर्द मैं महसूस करती

हूं इसलिए आज तुम्हें यह संदेश प्राप्त

हुआ

है मेरे बच्चे चिंतित ना

हो तुम्हें वह सब कुछ मिलेगा जिसके लिए

तुम बहुत तरसे

हो खुश रहो मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ

है तुम्हारा दिन मंगलमय

हो सच्चे मन से

कहो जय

माहाकाली

Leave a Comment