BJP Mission 2024 : बैठक में PM मोदी, अमित शाह, जे. पी. नड्डा भी शामिल - instathreads

BJP Mission 2024 : बैठक में PM मोदी, अमित शाह, जे. पी. नड्डा भी शामिल

इंडिया और इस वक्त आ रही है एक बेहद अहम
और बड़ी खबर दिल्ली से जहां बीजेपी की
मुख्यमंत्री परिषद की बैठक चल रही है और
बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों

की इस बैठक में पीएम मोदी गृह मंत्री और
अमित शाह के साथ बीजेपी के राष्ट्रीय
अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हुए तो इस
वक्त की ये सबसे बड़ी बैठक हो रही है

जिसमें पीएम की मौजूदगी और इसके अलावा
जेपी नड्डा संगठन के लिहाज से सबसे बड़े
चेहरा और साथ ही साथ उन तमाम राज्यों के
सीएम जहां पर बीजेपी की सरकार है यह बैठक
अपने आप में बहुत मायने रखती है क्योंकि

लोकसभा चुनाव से पहले यह बैठक सीधे लोकसभा
चुनाव से जुड़ी
हुई पीएम मोदी ने आज पूरे देश को इमोशनल
कर दिया बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन की

समापन पर पीएम की आंखों में आंसू छप और
प्रधानमंत्री ने जैन संत आचार्य विद्या
महाराज का जब जिक्र किया तो वह खुद बहुत
भावुक हो गए लेकिन जैसे ही पीएम मोदी ने
24 के मिशन पर बोलना शुरू किया वो पूरी र

में आ गए जिसके बाद उन्होंने बीजेपी के
चुनावी मिशन के साथ विकसित भारत के विजन
का रोड मैप दिखा दिया प्रधानमंत्री ने चुन
चुनकर उन मुद्दों की भी चर्चा की जिनसे
2024 के नतीजे तय होने वाले हैं और साथ ही

राजनीति और राष्ट्र नीति का फर्क भी
विपक्ष को पीएम मोदी ने समझा दिया लेकिन
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने यह क्यों
कहा कि 2024 में जीतेंगे शान से स्पेशल
रिपोर्ट में देखिए मोदी का मिशन 400 पार
आखिर कैसे मुमकिन

होगा दुनिया की हर शक्ति जानती है आएगा
तो
आएगा
तो हम
तो छत्रपति शिवाजी महाराज को मानने वाले
लोग राजनीति के लिए
नहीं राष्ट्र नीति के लिए निकले

हैं रा
केलिए
100 दिन का मिशन अगले 100
दिन हम
सबको जुट जाना
है विराट सपना विराट संकल्प सपने भी विराट
होंगे संकल्प भी विराट
होंगे एनडीए सरकार
100 बार आज विपक्ष के नेता

भी एनडीए सरकार 400 पार के नारे लगा रहे
हैं राष्ट्र नीति हम राजनीति के लिए
नहीं राष्ट्र नीति के लिए निकले
हैं हम
तो छत्रपति शिवाजी महाराज को मानने वाले
लोग है
नारी का

सम्मान नारी गरिमा नारी
सम्मान हमारे लिए
सर्वोपरि धर्म ध्वाजा लहराई गुजरात के
पावागढ में 500 साल बाद धर्म ध्वजा फहरा
गई है अयोध्या में भव्य राम मंदिर का
निर्माण करके हमने पाच सदियों का इंतजार
खत्म किया

है आयोजन और द्वितीय भाषण की गवाह बनी
दिल्ली जिस उमंग उत्साह और आत्मविश्वास की
दरकार थी उसकी पर्याप्त मात्रा नरेंद्र
मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के दिलो
दिमाग में चस्पा कर दिया जिससे 24 कारण अब

सिर्फ नरेंद्र मोदी की वापसी की रस्म
अदायगी भर बनता दिख रहा हैद जी को जय श्री
राम मोदी जी को जय श्री
रामम
आप जान करर के हैरान होंगे अभी तो चुनाव
बाकी है लेकिन मेरे पास जुलाई अगस्त

सितंबर के डेट पड़े हुए निमंत्रण दे करर
के इसका अर्थ क्या है इसका अर्थ है कि
दुनिया के विभिन्न देश भी बीजेपी की सरकार
की वापसी को लेकर पूरी तरह अस्वस्थ
है वो भी जानते

हैं दुनिया का हर देश जानता है दुनिया की
हर शक्ति जानती है आएगा
तो आएगा
तो भारत मंडपम में बीजेपी के अधिवेशन में
प्रधानमंत्री मोदी ने 24 का टोटल एजेंडा

सेट कर दिया चुनाव की दिशा और दशा भी तय
कर दी नरेंद्र मोदी का ऐतिहासिक भाषण हुआ
एक स्टेट्समैन की तरह पीएम बोले हर
उपलब्धि पर हर चुनौती पर राष्ट्र के मिशन

से विजन तक का सार नरेंद्र मोदी के भाषण
में देखा नरेंद्र मोदी ने 24 में 400 पार
की डिमांड देशवासियों से कुछ इस अंदाज में
की हमने तीसरे टर्म
में भारत
को दुनिया की तीसरी

बड़ी आर्थिक बनाने का संकल्प लिया
है और
यह मोदी की गारंटी
है और जब
मैं भारत को तीसरी आर्थिक ताकत बनाने की
बात करता हूं तो उसका मतलब भी बहुत गहरा

है इसका मतलब है भारत के आर्थिक सामरिक और
सांस्कृतिक सामर्थ
कई गुना विस्तार च दिशा में
विस्तार साथियों हम इसके लिए कितनी तेजी
से काम कर रहे हैं इसका हिसाब लगाना भी
जरूरी

है हम भारत को विकसित देश बनाने के लिए
काम कर रहे
हैं हमने तीसरे टम
में भारत
को दुनिया की तीसरी
बड़ी आर्थिक ताकत बनाने का संकल्प लिया
है और
यह मोदी की गारंटी

है नरेंद्र मोदी के निशाने पर कांग्रेस थी
उन्होंने कांग्रेस के खास वर्ग का जिक्र
किया जिसका एकमात्र लक्ष्य मोदी विरोध है
विपक्ष के गाली गलौच की सियासत पर पीएम ने
खरी बात कह
दी
कांग्रेस में लड़ाई चल रही है और बड़ी
तगड़ी लड़ाई चल रही है लेकिन मजा यह है

सिद्धांतों की नहीं चल रही
है योजनाओं को समन में नहीं चल रही है
लड़ाई क्या चल आपको जान कर के आश्चर्य
होगा क्या लड़ाई है कांग्रेस में एक वर्ग
है जो कहता है कि मोदी से तीखी नफरत

करो मोदी पर व्यक्तिगत आरोप
लगाओ मोदी की छवि खराब कर करने के लिए हर
त कंड
अपनाओ एक वर्ग
है कांग्रेस के अंदर एक दूसरा वर्ग भी है
जो कांग्रेस की मूल परंपराओं से निकला हुआ
है जो कहता है कि मोदी पर व्यक्तिगत आरोप
नफरत से कांग्रेस को बाहर

निकालो इससे कांग्रेस को और ज्यादा नुकसान
होता है यानी
कांग्रेस हमसे सैद्धांतिक मुद्दों पर
लड़ाई नहीं लड़ रही है कांग्रेस इतनी हताश
है कि उसमें सैद्धांतिक

विरोध वैचारिक विरोध का साहस भी नहीं बचा
इसलिए गाली गलोज और मोदी पर झूठे आरोप ही
उनका एक मात्र एजेंडा बन
[प्रशंसा]
गया नरेंद्र मोदी सियासत में ट्रेंड सेट
करते आए हैं राजनीतिक व्यवस्था को नए और

आधुनिक विचारों से सजाते आए हैं सासिक
निर्णयों और दूरगामी नीतियों ने उन्हें
जननायक बनाया है वहीं 24 के चुनाव में कोई
कसर ना रह जाए 400 पार के मिशन को किस तरह
अमल में लाया जाए इसका रोड मैप भी पीएम

मोदी ने दिखाया आने वाले 100 दिनों तक
बीजेपी कार्यकर्ताओं को जिस काम में झी
जान से जुड़ जाना है वह यह
है बीजेपी कार्यकर्ता हर बूथ पर अगले 100
दिन तक पिछली बार मिले वोटों में कम से कम

370 वोट बढ़ाने के मिशन में जुटे फर्स्ट
टाइम वोटरों को पूरी ताकत से भाजपा के
पक्ष में मतदान के लिए प्रेरित किया जाए
कार्यकर्ता महिलाओं को मात्र वोटर ना
समझकर माताओं बहनों की तरह आशीर्वाद भी ले

गरीब कल्याण के कामों से लेकर विकास की
उपलब्धियों के आधार पर जनता से समर्थन
मांगे मंडल प्रभारियों को हर एक पन्ना
प्रमुख से 30 दिन में कम से कम एक बार
मिलने का टास्क कार्यकर्ताओं को हर वोटर

तक व्यक्तिगत तौर पर पहुंचने का
जिम्मा
अब अगले 100
दिन नई
ऊर्जा नया
उमंग नया
उत्साह नया
विश्वास नए जोश के साथ काम करने का
[संगीत]
है नरेंद्र मोदी के इस फार्मूले पर चलकर
बीजेपी को क्या हासिल होगा इससे ऐसे
जानिए देश में 1035 हज बूथ है यानी एक

लोकसभा क्षेत्र में करीब 1900 बोथ अगर हर
बूथ पर 370 वोट जोड़े गए तो एक लोकसभा
क्षेत्र में 7 लाख वोट जुड़ेंगे और पूरे
देश में 38 करोड़ वोटर जिससे 400 सीट के
आंकड़े तक एनडीए को पहुंचने में आसानी
होगी मुझे खुशी है कि

आज विकसित भारत अभियान की बागडोर भी भारत
के युवाओं ने सवाली
है पिछले डेढ़ साल
में विकसित भारत के संकल्प से जुड़े सुझाव
के लिए और लोगों ऐसा लगता होगा हम बात पता
ऐसा नहीं है इस पर हम डेढ़ साल से चुपचाप
काम कर रहे

हैं सरकार की मशीनरी को लगाया है
और आपको जान कर के खुशी होगी अब
तक 15 लाख लोगों से ज्यादा लोगों ने
विकसित भारत कैसा हो रोड मैप कैसा हो
इनिशिएटिव कैसे हो नीतियां कैसी हो इसमें

विचार विमर्श हुआ है लोगों ने अपने आइडिया
दिए हैं और आपको जान कर के और खुशी होगी
इन 15 लाख में से आधे से ज्यादा वो लोग
हैं जिनकी उम्र 35 से कम
है नरेंद्र मोदी ने आज विरोधियों के
राजनीतिक तरतीब की धज्जियां भी उड़ाकर रख

दी गाली गलौच वाली पॉलिटिक्स पर पीएम ने
तगड़ा प्रहार किया देखिए 24 में नरेंद्र
मोदी की कॉन्फिडेंस की वजह क्याक
है रही बात विपक्ष की नरेंद्र मोदी तर्कों
से तथ्यों से और शब्द भेदी तीर से

विरोधियों को धराशाई कर की कला के माहिर
हैं पीएम मोदी जब र में रहते हैं तो उनकी
भाषण शैली लाजवाब होती है दिल्ली का भारत
मंडपम नरेंद्र मोदी के इसी अंदाज का गवाह

बना चुन चुन कर पीएम मोदी ने विरोधियों को
कैसे धो डाला सुन यह देश को कभी भाषा के
आधार पर तो कभी क्षेत्र के आधार पर बांटने
में जुटे हुए है
साथियों कांग्रेस का एक सबसे बड़ा

पाप यह रहा है व देश की सेनाओं का मनोबल
तोड़ने से भी पीछे नहीं
रहे पीएम मोदी ने अपने भाषण में यूथ का
खास ख्याल रखा नौजवान पीढ़ी के लिए मोदी
के माइंड में क्या है युवा शक्ति के लिए
मोदी का संकल्प भविष्य में क्या रंग
दिखाएगा उसे भी

जानिए सायो युवा ऊर्जा से भरा हुआ
भारत आज अपने लिए बड़े लक्ष्य तय कर रहा
है और जो लक्ष्य करता है अपनी आंखों के
सामने उसे प्राप्त भी करता
है हम 2029 में 2029 में भारत में यूथ
ओलंपिक के लिए तैयारी कर रहे

हैं हम 2036
में भारत ओलंपिक खेलों की मेजबानी करें
इसके लिए काम कर
रहे मोदी ने महिलाओं के लिए खासकर मु
महिलाओं के हित के काम भी गिनाए
अफगानिस्तान से भी गुरु ग्रंथ साहब के

स्वरूपों को पूरे सम्मान के साथ भारत
लाए इसके साथ ही हमारी सरकार ने हज की
प्रक्रिया में सुधार करके यात्रा को
सुविधाजनक
बनाया आज बिना महरम के हज करना भी संभव
हुआ

है इससे महिलाओं के लिए भी हज करना आसान
हजारों महिलाए गई बीजेपी के मुद्दे क्लियर
हैं परिवारवाद जातिवाद और तुष्टीकरण जिन
पर बीजेपी विपक्ष को बराबर घरती है वहीं
राष्ट्रवाद के मुद्दे पर बीजेपी समूचे

विपक्ष को बैकफुट पर धकेल है मोदी हो या
अमित शाह 2024 के चुनाव के लिए इसलिए
पांडवों और कौरव के युद्ध का पर्याय बताते
हैं मैं
आज आप सबके माध्यम से करोड़ों भारतीय जनता

पार्टी के कार्यकर्ता को कहने आया अगला
चुनाव दो ख में पड़े हुए महाभारत के युद्ध
में जैसे पांडव और कौरव के खेमे पड़े थे
इसी तरह चुनाव के पहले दो खेमे पड़े हैं

एक खमा है मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी
के नेतृत्व में एनडीए का गठबंधन और दूसरा
है कांग्रेस के नेतृत्व
में बीजेपी का जोर पॉलिटिक्स ऑफ कमेंस पर
है नक्सलवाद उग्रवाद और आतंकवाद के समूल

सफाई पर है वहीं विपक्ष में चिंता अपनी
सियासी हस्ती को संजो पाने की है इंडी में
कहीं टिकट बंटवारे पर रार छिड़ी है तो
कहीं नेतृत्व को लेकर नाराजगी है विपक्षी
एकता का जो हाल है 204 में वैसा ही दिख

रहा है जैसा 2019 में दिख रहा था 28 दल एक
साथ आए जगह-जगह बैठकें हुई रैलियां हुई
लेकिन जब टिकट देने की बात आई तो अलग-अलग
पार्टियों ने अपनी अपनी राह पकड़ ली हालत
यह है कि एक भी चेहरा ऐसा नहीं है जिसकी

विचारधारा अब इस दल में मेल खाती हुई दिख
रही
है नेतृत्व विहीन इंडी में जो बची खुची
एकजुटता का दम अब भी भर रहे हैं उन्हें
बीजेपी भ्रष्टाचार के केमिकल से जुड़ा

बताने से नहीं छूक रही बीजेपी इंडी गठबंधन
की पार्टियों को करप्शन के जिन मामलों में
घेर रही है उन्हें भी जानिए दिल्ली का
आपकारी घोटाला मोहल्ला क्लिनिक घोटाला
छत्तीसगढ़ का महादेव घोटाला बिहार का चारा
घोटाला झारखंड का जमीन और खनन घोटाला

बंगाल का शिक्षक भर्ती घोटाला तेलंगाना का
शराब घोटाला एक वर्ग है जो कहता है कि
मोदी से तीखी नफरत
करो मोदी पर व्यक्तिगत आरोप
लगाओ मोदी की छवि खराब करने के लिए हर हत
कंड
अपनाओ एक वर्ग

है एक तरफ बेदाग लीडरशिप है दूसरी तरफ
आरोपों के चक्रव्यू में घिरे विरोधी
बीजेपी के लिए भ्रष्टाचार का मुद्दा
अकाट्य हथियार की तरह है चुनावी राजनीति
में जिसे नरेंद्र मोदी विरोधियों के खिलाफ
जमकर इस्तेमाल करते हैं क्योंकि करप्शन की

कालिक सफेद पोश सियासी हस्तियों के हौसले
को पस्त कर देती
है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने
विपक्ष ने एकजुट होकर इंडि एलायंस बनाया
शहर दर शहर सियासी बैठकें की चार्टर्ड
प्लेन से विपक्षी दल के नेता राजनीतिक
पर्यटन करते हुए नजर आए लेकिन जब सवाल

साझा चुनाव लड़ने का सामने आया तो सभी के
स्वार्थ टकराने लगे बड़ा हो या छोटा
विपक्षी दल अपने अस्तित्व बचाने के लिए
ज्यादा फिक्र मंद नजर आए हमने अपनी
राजनीतिक व्यवस्था को नए और आधुनिक
विचारों के लिए खुला रखा है आजादी के बाद

वर्षों तक जिन्होंने हमारे देश पर शासन
किया उन्होंने एक व्यवस्था बना दी थी उस
व्यवस्था में कुछ बड़े परिवारों के लोगों
को ही सत्ता के केंद्र में
रहे उनके आसपास रहने वाले लोगों को ही

राजनीतिक ताकत मिलती
रही विपक्ष की इसी फिक्र का जिक्र पीएम
मोदी भी करते रहते हैं बीजेपी के
राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन पर पीएम मोदी
ने यह साफ कर दिया है कि वह सत्ता में सुख
भोगने के लिए नहीं है और ना ही वह विश्राम
की सोच रहे हैं विकसित भारत के संकल्प की

सिद्धि त नरेंद्र मोदी परिश्रम और प्रयास
जारी रखेंगे हकीकत यह भी है कि राजनीति के
इस दौर में नरेंद्र मोदी की नियत और
नीतियों ने ही उन्हें अपराज भी बना दिया
है

Leave a Comment