Farmer Protest के बीच Shambhu Border पर आंदोलन में शामिल Kisan की मौत, Heart Attack बनी वजह - instathreads

Farmer Protest के बीच Shambhu Border पर आंदोलन में शामिल Kisan की मौत, Heart Attack बनी वजह

जो आंदोलन चल रहा है ये पहली शहीदी है
सुबह 7:00 बजे उन्होंने अंतिम सासे ली है
पटयाला में सरकार ने फोर्स बहुत ज्यादा
लगाई हुई
है पंजाब सरकार बोल रही है हम यह पार्थिक

शरीर यहां नहीं पहुंचने
देंगे इस मोर्चे की केएमएम किसान मजदूर
मोर्चा और एसकेएम नॉन पॉलिटिकल का जो
आंदोलन चल रहा है यह पहली शहीदी है यह
सुबह हार्ट अटैक हुआ उन्हें ठीक है और

सुबह 7:00 बजे उन्होंने अंतिम सा से लिए
है तो यह जनरा अस्पताल पटियाला में थे तो
अभी मुझे लगता है हमारे सीनियर लीडर्स गए
वहां वो वहां पर पोस्टमार्टम वगैरह करा

रहे हैं तो आज शाम को उनका पार्थिक शरीर
हमारे यहां पहुंचेगा किसान मजदूर दर्शन
करेंगे और हमने सरकार से मांग की है कि 20
लाख रुप केंद्र अथवा पंजाब सरकार उनको दे
और उनको एक जी को नौकरी

दे अनक खराब होने की आप देखिए एक तो यहां
देखिए नहाने
में लगातार कुछ असुविधा तो होती है तो और
मेडिकल शायद भी पूरी फैसिलिटी ना हो सकने
कारण तो अगर आंदोलन में हमें मुश्किले तो

हमें है हम इसीलिए केंद्र से कह रहे हैं
कि यह निर्णय जल्दी कर दीजिए इस तरह भी
हमारे इस तरह के जो किसान लीडर्स है और वो
इस तरह से मोर्चों में शहीद ना हो वहां हु
स्मोक ज्यादा चढ़ने से शहीद हुए तो यहां

काफी या तो तो ज्यादा तो भी सर उनका फटा
जा रहा था रात को बोल रहे थे तो स्मोक
ज्यादा धुआ ज्यादा चढ़ने से यह कारण वजह
भी हम हॉस्पिटल से कंफर्म किया

है इंजर्ड तो और उधर पटियाला में सरकार ने
फोर्स बहुत ज्यादा लगाई हुई है पंजाब
सरकार बोल रही है हम यह पातिक शरीर यहां
नहीं पहुंचने देंगे यह मुझे निर्णय उनको
बदलना चाहिए हम यहां आएगा सब दर्शक करेंगे

आगे का निर्णय लेंगे तो वहा फोर्स को
लगाकर सीधी लाश को जो है उधर नहीं भेजना
चाहिए हा इंजर 70 हुए जो गंभीर है और 400
के करीब लगभग जो प्राइवेट हॉस्पिटल या इस
तरह की खबर आ की

ब की ब ब इस
बातमी देखिए यह तो सरकार पर सब निर्भर
करता हम आशा करेंगे इस मीटिंग में जो
मीटिंग में बीच में चर्चा हुई है जिन के
ऊपर उन्होंने अपना निर्णय लेना है वह लेकर

आएंगे और सुखद बाकी आके तो मीटिंग के बाद
ही पता
चलेगा सवाल इतना है जो मंत्री महोदय
मीटिंग में कहते हैं जो अश्वस्त करते हैं
अगर उनको को कानूनी जामा पहना दे उसको

ग्राउंड में किस तरह से लागू किया जाए तो
फिर मसला तो हल हो
जाएगा वो तो मीटिंग में तो कहते हैं हम
मसले का हल करेंगे उसको किस तरह से करेंगे

क्या करेंगे ये तो है
ना अच्छा अच्छा अच्छा था
सबका रहेगा मोर्चा य देखिए हमारा तो यही
है अ जब तक सरकार से वार्ता चल रही है
वार्ता के लिए डीक नहीं तो दिल्ली जाने का

हमने वापस तो नहीं लिया है हम आशा करेंगे
या तो सरकार हमारी मांगे मान लेंगे मांगे
मान ले तो बहुत अच्छा है या तो फिर हमें
पीसफुली आंदोलन करने का

समय देखिए हरियाणा में तो हमारा सवाल ही
नहीं था बैठना तो हमने दिल्ली में था
हरियाणा की तो रोड इस्तेमाल करने से
हरियाणा तो हमें बेवजह से आप अपने देश की
राजधानी में नहीं जा सकते बेवजा रोक रहा व
तो बे फजूल की बात
है

Leave a Comment