Farmers Protest : दिल्ली कूच से पहले किसानों की Press conference, सरकार पर लगाए गंभीर आरोप - instathreads

Farmers Protest : दिल्ली कूच से पहले किसानों की Press conference, सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

नमस्कार  इस वक्त की
बड़ी खबर दिल्ली कूछ पर अड़े हुए हैं
आंदोलनकारी किसान पंजाब हरियाणा शंभू
बॉर्डर पर आंसू गैस के गोले दागे जा रहे
हैं ताकि प्रदर्शनकारी किसानों को रोका जा

सके पुलिस ने ड्रोन के जरिए भी गोले दागे
हैं देखिए ये तस्वीर हम आपको दिखा रहे हैं
ये सीधी तस्वीरें हैं ये लाइव तस्वीरें
देखिए वो जो सीमेंट के बैरिकेड लगाए गए थे

उन्हें हटाया है किसानों ने ये फर्स्ट
लेयर थी पहली लेयर थी उस सुरक्षा घेरे की
जिसको भेदने की कोशिश कर रहे हैं किसान और
अब उन्होंने वो जो पहली लेयर थी वहां से
वो सीमेंट के बैरिकेड हटाए हैं ट्रैक्टरों

के जरिए ट्रैक्टर्स के जरिए देखिए लेकिन
आगे नहीं बढ़ पाए हैं अभी तक यह शंभू
बॉर्डर है यहां पर वो आगे जाते हैं उधर से
पुलिस की तरफ से हरियाणा पुलिस की तरफ से

ड्रोन का इस्तेमाल कर आसू गैस के गोले
दागे जाते हैं और यहां से फिर वापस पीछे
की तरफ चले जाते हैं किसान देखिए ड्रोन का
इस्तेमाल किया गया है एक नई तकनीक का

इस्तेमाल किया गया है यह देखिए चश्मा
पहनकर आंसू गैस से बचने के लिए कैसे आंखों
पर चश्मा लगाया है मुंह पर गीला कपड़ा
बांधा हुआ है और ट्रैक्टर लेकर आगे बढ़

रहे हैं तो आसू गैस के जो गोले दागे जा
रहे हैं उनसे बचने के लिए क्या रणनीति
अपना रहे हैं किसान देखिए इस तरह से बड़े
चश्मे लगाए हैं ताकि आंख को बचाया जा सके
और चेहरे पर गीले कपड़े को बांधकर आगे बढ़

रहे हैं क्योंकि लगातार आंसू गैस के गोले
दागे जा रहे हैं उधर हरियाणा पुलिस के
द्वारा शंभू बॉर्डर से आगे ना बढ़ पाए
किसान ये कोशिश की जा रही है देखिए किस
तरह से भगदड़ हो रही है ये जब उस तरफ से

आंसू गैस के गोले दागे जाते हैं तो फिर
पीछे की तरफ वापस भागते हैं किसान और यह
उसी तरह की भगदड़ जिसमें किसान
शंभू बॉर्डर से पीछे की ओर जा रहे हैं और
लगातार यही चल रहा है कुछ कोशिश करते हैं

आगे बढ़ने की और फिर वापस पीछे की ओर जाते
हैं देखिए एक और तस्वीर आपको दिखा रहे हैं
हम देखिए यह शंभू बॉर्डर उस और हरियाणा
पुलिस की तैनाती देखिए किस तरह से की गई

है और यहां प लेयर्स में सुरक्षा व्यवस्था
बनाई गई है लेयर्स है और इस तरह तरफ देखिए
इस तरफ बॉर्डर के किस तरह से उल्टा
ट्रैक्टर लेकर पीछे की तरफ जा रहे हैं
ताकि वो जो पहली लेयर है जो सीमेंट के

बोर्डर्स लगाए गए हैं उन्हें यहां से
हटाएं और फिर इस पहली लेयर को भेद सके
अंदर की ओर जाएं लेकिन सफल नहीं हो पाए
हैं अभी तक क्योंकि बहुत पुख्ता सुरक्षा
बंदोबस्त किए गए हैं हरियाणा पुलिस द्वारा

दूसरी तरफ से लगातार आसू गैस के गोले दागे
जाते हैं किसान देखिए किस तरह से वहां पर
जो आए हैं पंजाब से यहां पर वो पीछे की
तरफ जाकर देखिए वो बोल्डर तक लेकर जा रहे

हैं अपने ट्रैक्टर ट्रॉली और फिर वापस आगे
की तरफ आते हैं क्योंकि उस ओर से आंसू गैस
के गोले दागे जाते हैं चेतावनी जारी की
जाती है देखिए इस तरह से उल्टा ट्रैक्टर

लेकर पीछे की तरफ जा रहे हैं और कोशिश यही
कि जो सीमेंट की पहली लेयर है इसे भेज
सकें ये जो सीमेंट के बोर्डर्स हैं इन्हें
यहां से हटाकर इस ओर ले जाया जा सके और

देखिए आसपास सड़क के जो खेत का इलाका है
वहां पर बैठे हुए हैं बाकी तमाम लोग तो
बड़ी संख्या में यहां इकट्ठा है कोशिश यही
है कि शंभू बॉर्डर से आगे बढ़ पाए लेकिन

शंभू बॉर्डर पर जिस तरह की सुरक्षा
व्यवस्था इस समय मौजूद है देखिए सड़क पर
इसके बाद लेयर्स है कई कई परतों में
सुरक्षा व्यवस्था को बनाया गया है पहले

सीमेंट के बोर्डर्स हैं उसके बाद कीले हैं
सड़क में यानी यहां से अगर आगे बढ़ते हैं
तो फिर कैसे उन्हें रोका जाएगा उसके लिए
भी बंदोबस्त किया गया है यानी पूरी तरह से

एक दो नहीं कई परतों में सुरक्षा व्यवस्था
को बनाया गया है और देखिए ये पत्थरबाजी
करते हुए यहां पर सड़क के किनारे जो लोग
मौजूद हैं वो उस ओर से पत्थरबाजी कर रहे
हैं यानी चौतरफा किसानों की तरफ से भी

कोशिश है कि वो इस सुरक्षा घेरे को भेद
पाए और अंदर दाखिल हो लेकिन चक्रव्यू
तैयार किया गया है हरियाणा पुलिस द्वारा
और इस चक्रव्यू को फिलहाल किसान भेद नहीं

पा रहे हैं लेकिन सड़क के किनारे जो लोग
हैं वो वहां से पत्थरबाजी कर रहे हैं सड़क
पर जो मौजूद है किसान वो आगे बढ़ते हैं और
फिर पीछे की तरफ वापस आते हैं जैसे ही

आंसू गैस के गोले दागे जाते हैं लेकिन
यहां जहां यह एक्शन हो रहा है वहीं पर
मौजूद है टीवी9 भारतवर्ष संवाददाता मोहित
मल्होत्रा क्या है उनकी ग्राउंड रिपोर्ट
वो

देखिए किसान यहां पर एक ये जेसीबी मशीन
लेकर पहुंचे ट्रैक्टर नुमा और उसको आगे
लेकर जा रहे थे जिसके बाद हरियाणा पुलिस
के द्वारा ताबड़ तोड़ फायरिंग की गई है

करीब एक दर्जन टियर गैस शेल फायर किए गए
हैं और जिसके बाद यह पूरा जो आप देखिए यह
देखिए पूरा यह भरा हुआ यह था ये नेशनल
हाईवे लेकिन इस वक्त जो किसान है वो पीछे
हट गए

देखिए ये किसान पीछे हट गए हैं और पीछे
भागे हैं और उसके बाद यहां पर आप देखिए
अफरा तफरी का माहौल है जितने लोग आगे से
वो अपनी आंखें आंखें मलते हुए किसी तरह से

बचते हुए यहां से निकल कर आ रहे हैं तो
काफी खराब यहां पर स्थिति है और अब तक
ज्यादा नहीं तो 40 से 50 जो टियर गैस शेल
है उनको फायर किया जा चुका है देखिए ड्रोन

के माध्यम से ड्रोन के माध्यम से एक बार
फिर हरियाणा पुलिस की तरफ से ड्रोन भेजा
गया है जो कि टियर गैस शल फेंके और एक बार
में तीन टियर गैस शल जो है ये जो ड्रोन है
व सकता है इसका हमने पिछले दो से तीन

दिन में यहां पर मक ड्रिल देखा है और एक
बार फिर से उसी तरह के ड्रोन का यहां पर
इस्तेमाल किया जा रहा है लेकिन अब भीड़
पीछे खुद ही हट गई है तो इसके बाद ड्रोन

देखि पीछे जा रहा है हरियाणा की सीमा
में किन आ ब और र लेकर किसान आगे बढ़
गए बडर पर सीमेंटेड भारी बकम बकेट लगाए गए
हैं उने का प्रयास फिर हरियाणा पुलिस के
दवारा लगातार ताब तोड़ आूस के गोले फायर

किए जा रहे हैं और यहां पर हालात ऐसे हो
गए हैं कि सांस नहीं ले पा रहे हैं लोग
लेकिन फिर भी पंजाब के जो य किसान है यह
पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे और लगातार
इस धुए के बीच में से भी ट्रैक्टर टोलिया
लेकर जो भारी भरकम अपने बड़े ट्रैक्टर

लेकर कुछ जेसीबी मशीने लेकर किसान पहुंचे
हैं वो आगे बढ़कर किसी भी तरह से जो पहला
बैरिकेड है मैं आपको बता दूं कि अभी जो
लड़ाई चल रही है आमने सामने किसान और
हरियाणा पुलिस है वो पहले बैरिकेड को लेकर

है और उस बैरीके के बीच में लोहे के सरिए
लगाए गए हैं कि अगर ट्रैक्टर वहां पर आ भी
जाए जो साउंड बैरियर्स लगाए गए हैं सड़क
के किनारे उन्हें तोड़ रहे हैं यानी
नुकसान पहुंचाने की कोशिश साउंड बैरियर्स

को जो लगाए गए हैं सड़क के किनारे उनको
तोड़ा है किसानों ने ये वो तमाम लोग जो
सड़क पर रुके हुए हैं आगे बढ़ने की कोशिश
कर रहे थे सफल नहीं हुए हैं अभी तक लेकिन

ये जो यहां पर नुकसान पहुंचाने की कोशिश
है साउंड बैरियर्स जो सड़क के चारों तरफ
मौजूद होते हैं दोनों तरफ लगाए जाते हैं
उन्हें तोड़कर नीचे गिरा दिया है

तो देखिए आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं लेकिन
वहां पर जो मौजूद है साउंड बैरियर्स
उन्हें तोड़ा जा रहा है आगे बढ़ने की
कोशिश की गई है जो पहला लेयर थी उसमें कुछ

जो सीमेंट के बोल्डर थे उन्हें भी वहां से
हटाया है लेकिन आगे हरियाणा पुलिस की तरफ
से एक दो नई परतों में सुरक्षा व्यवस्था
को बनाया गया है और इस वजह से उन लेयर्स
को भेद नहीं पा रहे हैं देखिए यहां पर यह

आपको ड्रोन भी दिखाई देगा ड्रोन के जरिए
निगरानी भी रखी जा रही है और ड्रोन के
जरिए आंसू गैस के गोले भी दागे जा रहे हैं
दोनों तरह से ड्रोन का इस्तेमाल हो रहा है
ताकि आगे तक जो जहां तक मौजूद है किसान उन

पर नजर रखी जा सके किसानों को रोकने के
लिए आंसू गैस का इस्तेमाल हो रहा है और यह
आंसू गैस के गोले इस बार बहुत नए तरीके से
ड्रोन के जरिए वोह किसान जहां पर बड़ी

संख्या में मौजूद है उनके बीच जाकर उसे
उसका इस्तेमाल किया जा रहा है इसके अलावा
ड्रोन से निगरानी भी रखी जा रही है देखिए
यह जो ड्रोन है इसके जरिए आंसू गैस के
गोले दागे गए हैं यहां पीछे तक आकर ड्रोन

क्योंकि काफी अंदर तक आकर और देखिए
यह लगातार आंसू गैस के गोले यहां पर मौजूद
जो किसान है उन तक छोड़े जा रहे
हैं आंसू गैस के गोले वाटर कैनन का

इस्तेमाल भी किया जा रहा है वाटर कैनन का
इस्तेमाल कर भी यहां से किसानों को पीछे
खदेड़ा जा रहा है और आसू गैस के गोले
दागने के लिए इस्तेमाल हो रहा है ड्रोन का
यानी नए तरीके से अलग-अलग तरीकों का

इस्तेमाल करकर कोशिश ये है कि किसी भी
सूरत में किसानों को आगे ना बढ़ने दिया
जाए शंभू बॉर्डर से क्योंकि पिछली बार भी
यही हुआ था कि यहां से किसान आए थे और
शंभू बॉर्डर से आगे बढ़ते हुए आगे पहुंच

गए थे लेकिन अब कोशिश यही है कि यहां से
उन्हें आगे ना बढ़ने दिया जाए और इसके लिए
आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया जा
रहा है उससे रोकने की कोशिश है इसके अलावा
वाटर कैनन का इस्तेमाल है अगर बहुत आगे

बढ़ते हैं तो फिर हल्का बल प्रयोग भी किया
गया है एक दो बार लेकिन फिलहाल वाटर कैनन
का इस्तेमाल हो रहा है और साथ ही आंसू गैस
के गोले दागे जा रहे हैं लेकिन किसानों ने
देखिए किस तरह से जो साउंड बैरियर्स लगे

हैं सड़क के दोनों ओर उनको तोड़ा है और यह
देखिए यह वो बॉर्डर जिसे क्रॉस करने की
कोशिश है शंभू बॉर्डर जो इस
वक्त किसानों और हरियाणा पुलिस के बीच
अलग-अलग जो लेयर्स हैं सुरक्षा व्यवस्था

की उन्हें भेजने की कोशिश हो रही है
लगातार शंभू बॉर्डर पर एक दो नहीं कई
लेयर्स में सुरक्षा व्यवस्था तैयार की गई
है हरियाणा पुलिस द्वारा क्योंकि हरियाणा
पुलिस की रणनीति यही है कि किसी भी सूरत

में यहां से आगे ना बढ़ने पाए किसान और
उन्हें रोका जाए यहीं पर लेकिन देखिए सड़क
के दोनों ओर किसान भी ऐसा लगता है कि
इंतजार कर रहे हैं और वो भी धीरे-धीरे आगे
बढ़ रहे

पहले कई घंटे तक आगे पीछे जाने के बाद वो
यह देखिए यह सीमेंट बोल्डर यहां से हटाने
में सफल हुए हैं तो सीमेंट बोल्डर
उन्होंने हटाया है लेकिन इसके आगे और

ज्यादा सुरक्षा व्यवस्था है सड़क पर कीले
डाली गई है उनको पार करना मुश्किल होगा
इसके बाद उसके आगे बड़े-बड़े कंटेनर्स रखे
गए हैं वेद के जो टीले वो बनाए गए हैं
इसके अलावा तमाम और सुरक्षा व्यवस्था

देखिए शबू बॉर्डर पर बवाल हो रहा है पुलिस
ने प्रदर्शनकारियों पर आसू गैस के गोले
दागे अभी तक क्या कुछ हुआ है आपको बता दें
पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के

गोले दागे हैं लगातार उनका इस्तेमाल हो
रहा है ड्रोन से भी किसानों पर आंसू गैस
के गोले दागे गए हैं नए तरीके का इस्तेमाल
किया गया प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर

पथराव किया है प्रदर्शनकारियों ने
बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की है जो
बैरिकेडिंग लगाई गई थी कई प्रदर्शनकारी
खेतों की तरफ भागे हैं और वहां से भी वो

पत्थरबाजी कर रहे हैं यहां से हटकर खेतों
की तरफ चले गए हैं लगातार क्या हो रहा है
शंभू बॉर्डर पर उसकी हम तस्वीरें भी आपको
दिखा रहे हैं और उसकी जानकारी भी आपको दे
रहे हैं लेकिन इस वक्त हालात शंभू बॉर्डर

पर जिस तरह के बने हुए हैं उसकी ताजा
अपडेट यही है कि शंभू बॉर्डर से आगे किसान
नहीं बढ़ पाए हैं और ऐसा लग नहीं रहा है
कि वो यहां से आगे बढ़ पाने में फिलहाल

सफल होते हुए दिखाई दे रहे हैं पंजाब
हरियाणा बॉर्डर पर किसानों का ये उग्र
प्रदर्शन किसान आगे बढ़ने की बार-बार
कोशिश करते हैं लेकिन कई सतहों पर जो

सुरक्षा व्यवस्था बनाई गई है उसे वो भेद
नहीं पा रहे हैं और देखिए अब आप यहां से
जो तस्वीरें देख रहे हैं
उसमें उसमें आंसू गैस के गोलों के साथ-साथ

पानी की बौछार कैसे की जा रही है रोकने के
लिए किसानों को वो भी हम आपको दिखा रहे
हैं देखिए ये पांच र हैं जो बताती हैं कि
अभी तक क्या कुछ हुआ है ट्रैक्टर ट्रॉली
लेकर पहुंचे किसान और इससे जो सीमेंट के

बोर्डर्स हैं उन्हें वहां से हटाया है
उन्होंने क्योंकि वो पहली लेयर थी सुरक्षा
व्यवस्था की ड्रोन से टियर गैस के गोले
दागे गए हैं प्रदर्शनकारी किसानों पर

पुलिस पर पथराव किया है प्रदर्शनकारियों
ने शंभू बॉर्डर पर इसके बाद भगदड़ हुई
क्योंकि बार-बार जब वो आगे बढ़ते हैं आंसू
गैस के गोले दागे जाते हैं तो फिर वापस

पीछे की तरफ जाते हैं भगदड़ होती है खेतों
में भाग गए हैं प्रदर्शनकारी और वहां
बैठकर इंतजार कर रहे हैं बाकी
प्रदर्शनकारी सड़क पर आगे बढ़ने की कोशिश
कर

रहे देखिए आसू गैस के गोले छोड़े जाते हैं
जिस तरह से मैं खड़ा हूं य रुमाल को पानी
में गीला करके ऐसे ही किसान भी अपना अपना
मुंह नाक ढकते हैं आंखें ढकते हैं और उसके

बाद आगे बढ़ जाते हैं देखिए अब एक बार एक
राउंड जब पूरा हो गया 12 से 15 जो टियर
गैस चल थे वो फायर कर दिए हरियाणा पुलिस
ने उसके बाद एक बार फिर से यहां पर देखिए

दोबारा से दोबारा से जो आशु गैस के गोले
हैं वो छोड़े जा रहे हैं और लोग जो हैं जो
किसान यहां पर पहुंचे हैं उनको पीछे
खदेड़ने का प्रयास हो रहा है लेकिन वो

पीछे हटने को तैयार नहीं है यह देखिए सीधी
तस्वीरें अभी भी लगातार वहां से जो आंसू
गैस के गोले हैं वह फायर किए जा रहे हैं
और इधर से जो लोग हैं वो पीछे हटते नहीं

है जैसे ही थोड़ी देर इंपैक्ट रहता है
देखिए एक बार फिर से यह बड़ा ट्रैक्टर
लेकर बड़ा ट्रैक्टर लेकर देखिए एक बार फिर
से यह पंजाब की तरफ से जो युवा किसान है
वो आगे बढ़े हैं और आगे बैरिकेट्स अब एक

बार फिर से टकराव की स्थिति बन गई है
हरियाणा पुलिस हरियाणा पुलिस ने जो पहला
बैरिकेड लगाया हुआ है वह सीमेंटेड बैरिकेड
है काफी भारी भरकम उसको खदेड़ने के लिए
इसी तरह के भारी भरकम बड़े ट्रैक्टर की

आवश्यकता है या फिर किसी जेसीबी मशीन का
इस्तेमाल करना पड़ेगा देखिए अभी वो एक
युवा किसानों का जो

Leave a Comment