Farmers Protest : सरकार की मीटिंग से पहले किसान नेता सरवन सिंह का बड़ा बयान | - instathreads

Farmers Protest : सरकार की मीटिंग से पहले किसान नेता सरवन सिंह का बड़ा बयान |

और इस बीच एक और बड़ी खबर आपको बताते हैं
किसान नेता जो है सरवंत सिंह पंढेर उनका
बयान सामने आया है प्रधानमंत्री किसानों
से खुद बात करें ये कह रहे हैं सरवंत सिंह

पंढेर पीएम बात करेंगे तो समस्या का हल
निकल आएगा आज मीटिंग से हल निकलने की
उम्मीद है हम लोगों
को हम लोगों को एमएसपी पर कानून चाहिए
दिल्ली में शांतिपूर्वक प्रदर्शन की इजाजत

मिले हमने पहले भी कहा है आज भी बोल रहे
हैं हमारा दिल्ली जाना अनक का सवाल नहीं
है हम यह नहीं कह रहे कि हम हर हाल में
आपके बैरी गड को तोड़ देंगे दो बातें हैं

आज माननीय मंत्री महोदय से मीटिंग है हम
चाहेंगे स्वयं प्रधानमंत्री जी उनसे बात
करें और इन मांगों का आज हल हो जाए यह सभी
के लिए सुखद होगा और दूसरा अन्यथा लगता है
कुछ ऐसा तो यह लोकतांत्रिक मुल्क है हमें

दिल्ली में पीसफुल ढंग से अपना आंदोलन
करने की इजाजत दी जाए यह रास्ते सरकार खुद
स्वयं खोल
दे तो किसान नेता सर्वं सिंह पंढेर का यह
बयान अपने आप में बहुत महत्त्वपूर्ण हो

जाता है क्योंकि आज वो दिन है जब बैठक
होने जा रही है इसी पर और जानकारी के लिए
मैं आपको सीधे लेकर चलती हूं ग्राउंड पर
हमारे रिपोर्ट की टीम मौजूद है असीम बसी

चंडीगढ़ से हमारे साथ जुड़ रहे हैं आप देख
रहे हैं मेघा उपाध्याय गाजीपुर बॉर्डर से
मनोज वर्मा सिंघु बॉर्डर से रविकांत टीकरी
बॉर्डर से हमारे साथ मौजूद है असीम का रुख
करते हैं सबसे पहले और जरा जानते हैं कि

आज तीसरे दौर की बैठक यहीं चंडीगढ़ में
होनी है
असीम जी हां मैं रोमाना आपको बता दूं कि
तीसरे दौर की बैठक हो रही है पहले दो
बैठकें हैं वो फेल रही आइस ब्रेक नहीं हुआ
26 सेक्टर में मक्सी है महात्मा गांधी

स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ पब्लिक
एडमिनिस्ट्रेशन जो एक गवर्नमेंट बिल्डिंग
है उसके अंदर य मीटिंग होगी तीनों मंत्री
आएंगे रा शाम को 5:00 बजे लगभग 6:3 बजे

शुरू होगी क्योंकि नॉर्मली 5:00 बजे का
टाइम देते हैं 6:00 बजे शुरू होगी और वहां
से शंभू से सरवन सिंह बंदे और जगजीत सिंह
लेवाल प्लस 10 122 लोग और अल अराउंड 15

मेंबरी डेलिगेशन होगा जिनके साथ ये मीटिंग
होगी क्योंकि पिछले दो दिन में हमने देखा
है कि किसानों ने अटेंप्ट किया कि वो
दिल्ली कूछ करें वो जा नहीं पाए क्योंकि
हेफ्टी बैरिकेडिंग है टियर गैस शेलिंग

बहुत ज्यादा थी हम लोगों ने आपको तस्वीरों
पे भी दिखाया इस ले इसको लेकर भी किसान
बहुत नाराज है रात को भी जो प्रेस
कॉन्फ्रेंस भी बोली उन्होंने यही कहा था

कि हम बातचीत के लिए तैयार हैं सरकार ने
भी बोला इन्होंने भी बोला लेकिन जो
हरियाणा सरकार जो टियर गैस चला रही है जिस

तरह का वो रोका जाए वो कम से कम बंद किया
जाए उसको तभी जो है बातचीत आगे बढ़ सकती
है सो आज बहुत क्रुशल है बहुत क्रुशल
मीटिंग है लेकिन एक स्ट्रेंथ मिली है
किसानों को कि जो और ग्रुप है बीकेयू

उग्रह ग्रुप है वो भी साथ आ गया है आज रेल
रोको है पंजाब में 12 से लेकर 4:00 बजे तक
उसके अलावा टोल टैक्सेस पे जो है टोल
प्लाजा प प्रदर्शन है सो ओवरऑल अगर आप

देखें तो सॉलिड टी जो है वो बात आई है
किसानों के काफी किसान इंजर्ड लेकिन
आजप कि आज जब बातचीत की मेज पर किसान और
सरकार के प्रतिनिधि आमने-सामने होंगे तो
कहीं ना कहीं पलड़ा जो है वो किसानों का

ताकत के जोर पर भारी नजर आएगा इस बातचीत
की मेस पर इस बीच वो मांगे किसानों की जिन
पर पेंच फसा हुआ है यह आपको बता देते हैं
मांगे तो बहुत हैं करीब 13 के आसपास मांगे
हैं लेकिन तीन बड़ी मांगे जिन पर पेज फंसा

हुआ है जिन पर बात बन नहीं पा रही है इस
पर सबसे बड़ी मांग जो है वो एसपी सरकार
कहती है एमएसपी तो दे रहे हैं ना लेकिन
किसान कहते हैं एमएसपी देने से काम नहीं

चल रहा है एमएसपी पर कानूनन गारंटी मिले
यह मिनिमम सपोर्ट प्राइस हो यह मांग है
किसानों की किसान कर्ज माफी की मांग कर
रहे हैं दूसरी बड़ी मांग है किसानों की और

जो स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट थी उसके
हिसाब से ही किसानों को जो एमएसपी है उसकी
दर तय हो यह मांग है किसानों की ये वो तीन
बड़ी मांगे हैं किसानों की जिसको लेकर बात
बन नहीं पा रही है और ऐसे में आज की बैठक
उसमें क्या होगा पर नजर बनी हुई

Leave a Comment