Kahani Kursi Ki: हरियाणा के रेवाड़ी से पीएम मोदी की हुंकार...अबकी बार कन्फर्म 400 पार | - instathreads

Kahani Kursi Ki: हरियाणा के रेवाड़ी से पीएम मोदी की हुंकार…अबकी बार कन्फर्म 400 पार |

कहानी कुर्सी की देख रहे हैं आप अभी देश
में चुनाव की घोषणा नहीं हुई है आने वाले
कुछ दिनों में होने जा रही है लेकिन
प्रधानमंत्री पूरी तरीके से अपने चुनाव

अभियान में अभी से जुट चुके हैं नरेंद्र
मोदी आज हरियाणा में हैं और हरियाणा में
जाकर उन्होंने एक बार फिर दावा किया कि
370 सीटें भाजपा और 400 सीटें एनडीए यह
मिलना तय है देश की जन ने मूड बना लिया है

तो बार-बार वोह 370 सीटों का दावा कर रहे
हैं कांग्रेस पर भी उन्होंने आज खूब
निशाना साधा और 3 धारा 370 हटाने के बहाने
कैसे उन्होंने अपनी 370 सीटों की बात
जोड़ी देखिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की
बात
साथियों कांग्रेस ने दशकों

तक जम्मू कश्मीर
से आर्टिकल
370
आर्टिकल 370 हटाने पर रोड़े अटका है
थे
मैंने आपको गारंटी दी

थी कि जम्मू कश्मीर
से आर्टिकल
370 हटा करर
रहूंगा आज कांग्रेस की लाख कोशिश के
बावजूद
आर्टिकल

370 इतिहास के पन्नों में खो गया है इसलिए
ही
तो लोगों ने एक और संकल्प लिया
है और जनता जनार्दन कह रही है आप लोग कह
रहे
हैं

जिसने
जिसने 370
हटाया जिसने
370
हटाया उस बीजेपी का
टीका
370 सीटों से
होगा तो प्रधानमंत्री ने यह बात संसद में
दो बार कही और आवाज कह रहे हैं वह पब्लिक

मीटिंग के अंदर तो मैं पहले एक बार फिर
संजीव श्रीवास्तव जी का रुख करना चाहता
हूं सर अ ये जो प्रधानमंत्री ने कहा कि इस
बार 370 सीटों का तिलक लगेगा अब बातें
हवा-हवाई हैं या आपको लग रहा है कि यह भी
हो

जाएगा अब वो 370 होंगी 320 होंगी 372
होंगी ये तो बड़ा मुश्किल है लेकिन अभी तो
क्लियर दिख रहा है कि सरकार बीजेपी बना
रही है अच्छे बहुमत के साथ पिछली बार से
ज्यादा सीटें होती हैं या उतनी रहती है यह

तो भविष्यवाणी करना बहुत मुश्किल है एक
बार चुनाव की घोषणा लेकिन वो क्लियर आ गए
लेकिन देखिए मैं तो हमेशा इस बात
पे
अप्रिशिएट करूं या हैरान हू कि कैसे 370

के मुद्दे के साथ प्राइम मिनिस्टर उसको
कितना क्लेवर
डिप्लॉयड रहे हैं 370 ला रहे हैं ये नहीं
कि सरकार बना रहे हैं 370 ला रहे हैं और
उससे उनका राष्ट्रवाद का मुद्दा आर्टिकल
370 जम्मू कश्मीर यह सारी बातें उस एक

नारे में या उस एक संबोधन में आ जाती है
तो देखिए वो कैसे राम मंदिर की बात इतनी
ज्यादा नहीं हो रही है क्योंकि वो तो
मुद्दा एक लेवल पर सील हो गया उससे जितने
वोट है वो सब कंसोलिडेट हो गए अब उसको याद

दिलाने की बात नहीं है कि अयोध्या में
प्राण प्रतिष्ठा हो गई ये हो गया तो अब वो
वापस अपने दूसरे मुद्दों नेशनलिज्म और एक
जो भारत की तरक्की समृद्धि इकोनॉमिक
डेवलपमेंट और विकास पुरुष का जो नारा लेके

व गुजरात के चीफ मिनिस्टर की तरह देश की
राजनीति में आए थे तो ये दोनों चीजें फ
ट्रिलियन इकॉनमी 204 7 तक विकसित भारत
मुझे लगता है आने वाले चुनाव में बीजेपी
और प्राइम मिनिस्टर की मुहीम के यह दो

प्रमुख स्तंभ रहेंगे राष्ट्रवाद जिसमें
आर्टिकल 370 और ये इकोनॉमिक प्रोस्पेरिटी
और विकसित भारत ठीक स
तो आज की जो एक अहम खबर है उस पर जाना
चाहता हूं क्योंकि इसकी बहुत चर्चा देश के
अंदर हो रही है और वो खबर है पश्चिम बंगाल
के संदेश खाली की संदेश खाली में क्या हुआ

कुछ महिलाओं ने प्रदर्शन शुरू किया शाहजहा
शेख शाहजहा शेख टीएमसी का वर्कर है और
गुंडा है या तो साफ हम कह सकते हैं
क्योंकि उस उसके लोगों ने पहले ईडी की टीम

के ऊपर जानलेवा हमला किया था और अब यह
महिलाएं कह रही हैं कि इसने हमारी जमीनों
पर कब्जा किया हुआ है यह हमारे पतियों को
उठा कर के ले जाता है मारता पीटता है और

हमको भी उठा करके ले जाता है हमारे साथ
दुष्कर्म करता है यह और इसके गुर्गे अब ये
आरोप उन्होंने टीवी पर आ कर के लगाया
मीडिया के कैमरों पर लगाया ममता बनर्जी ने

क्या जवाब दिया होगा इसका आप सोच सकते हैं
ममता बनर्जी ने य कहा कि यह मु ढककर क्यों
बोल रहे हैं यह आरोप झूठे हैं यह तो
आरएसएस का बंकर है संदेश खाली जहां से ये
आरोप लगवाए जा रहे हैं यह बीजेपी आरोप
लगवा रही है यह महिलाए झूठ बोल रही है और

मुंह ढककर क्यों बोल रही है पुलिस इनको भी
पकड़े गी और पकड़ लिया
गया आप इजिन कर सकते हैं वो जो आरोप लगा
रही है उसमें कितनी सच्चाई है कितनी
सत्यता है ये जांच के बाद पता चलेगा ममता
बनर्जी कह रही है हम जांच भी करा रहे हैं

और साथ में कहती हैं कि इनको भी पकड़ रहे
हैं ये झूठ बोल रही है तो अगर आप जांच करा
रहे हैं तो आपको कैसे पता पहले कि झूठ बोल
रही है इतनी तो संवेदनशीलता होनी चाहिए
इसमें यह भी सवाल नहीं कि आप महिला

मुख्यमंत्री हैं या पुरुष मुख्यमंत्री हैं
आप मुख्यमंत्री हैं आपसे लोग न्याय की
उम्मीद करते हैं तो मैं आपको सबसे पहले
ममता बनर्जी का और वो आपने असेंबली में
भाषण दिया
ममता बनर्जी कीत सु उस बत

रोपों में और उसके बाद मिथुन चक्रवर्ती
बीजेपी के नेता है व बोल रहे हैं कांग्रेस
पार्टी के अधि रंजन चौधरी व भी कह रहे कि
हमको संदेश खाली नहीं जाने दिया जा रहा
सुनि
एव स्टेट

कमीशन
एडमिनिस्ट्रेशन
अना देखन जरा मुखे मास्क प तुल ड़ बीजेपी
कमी त बा
ला अत चे आगे
टारगेट ओ
टारगेट त

बा
सा कग दंगा स्पोट म टा एक स्पॉट मने
रख तो आपने देखा ये जो बात वो कह रही थी

कि जो मुंह पर मास्क लगाकर जो प्रोटेस्ट
कर रही है इनको भी हम लोग पकड़ रहे हैं ओम
जी जी एक तो ये पूरा जो मुद्दा है आप
देखिए कि जिस तरीके से शाहजहां शेख की
पूरी शख्सियत उभर के निकल के आई है उसमें

इतना खल चरित्र जो हम 7080 के दशकों के
फिल्मों में देखते थे वो स्थिति पता नहीं
क्यों और ऐसा अभी भी एजिस्ट कर रहा है ये
विश्वास करना कठिन होता है जिस तरह के
तरीके से वहां कहानी निकल के आ रही है अब

सच्चाई कितनी है वो आगे पता चलेगी लेकिन
जिस तरीके से उसके गुंडों ने ईडी पे 5
जनवरी से हमला किया और उसके बाद का पूरा
जो घटनाक्रम है वो अजीब है मतलब वो इस तरह
का है कि अ जिस तरह का खल चरित्र है और
उसमें जो महिलाएं जिस बात पे बहुत

संवेदनशीलता के साथ बड़ी बहुत टेक्टफुली
और बहुत ठीक तरीके से जिसमें आपका सही भाव
निकल के आए उस तरीके से उस मामले को हैंडल
किया जाना चाहिए था उसपे इस तरह का बयान
यह बहुत ही अजीब यह तो इस तरह की स्थिति

है कि आपकी संवेदनहीनता कितनी किस स्तर तक
जा चुकी है कि महिलाएं जो यह कह रही हैं
कि हमारे पतियों को ले जाक वहां पीटा जाता
था हमारी जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया जाता
था हमें हमारे साथ गलत व्यवहार और
दुष्कर्म होता था यन उत्पीड़न होता था उन
पे इस तरह का बिना पूरी जांच कराए अगर यह

यह बात कोई राजनेता कहता है तो मुझे लगता
है कि यह तो उसके दंभ की पराका है उसके
निर्लज्ज की पराका ये बयान कहीं किसी और
राज्य के मुख्यमंत्री ने दे दिया होता
आसमान टूट पड़ता ये बिल्कुल ये ऐसा ही

बयान है कि इसपे सही में आसमान टूट पड़ता
यह निर्लज्ज होता की और संवेदनहीनता की
पराकाष्ठा है कि एक राज्य का मुख्यमंत्री
बिना पूरी जांच कराए इस तरह के बयान दे वो
ये भी कह रही है उसमें कि बीजेपी वाले
शाहजहां शेख को टारगेट कर रहे हैं देखिए

बड़ा शर्मनाक है यह शायद पश्चिम बंगाल में
कैसे हो पा रहा है यह बड़ी हैरानी की बात
है कि आप जो है जिस पे दोष लग रहा है या
जो जो आरोपी है उसको पकड़ने की जगह जो

विक्टिम है उसको पकड़ रहे हैं ये तो पहली
बार ही देखने को मिल रहा है कि विक्टिम को
पकड़ ले आप दोषी का तो पता नहीं दूसरा यह
है कि जहां मैं इसको देखता हूं कि बहुत यह
जो सारा कुछ ममता बनर्जी इस वक्त कर रही

हैं इसका खामियाजा तो मिलेगा ही और वह मदद
कर रही है बीजेपी की कि वोह जो
प्रधानमंत्री कह रहे हैं 370 वो इन्हीं
कारणों से होगा जो विपक्षी इस तरह की
चीजें कर रहे हैं अपने यहां पे वो इसी

कारणों से होगा कि वो बीजेपी जो है 370
पहुंच जाए देखिए मुझे लगता है शाजा शेख एक
अकेला बंगाल में व्यक्ति नहीं होगा ममता
बेनर्जी के राज में ममता बेनर्जी ने शाहजा
शेख जैसे लोगों को आश्रय दिया है उन्हें
सरकारी सहाय सुविधाएं दी है और उन्हें

तैयार किया है कि वो अपने क्षेत्र में
गुंडागर्दी करते रहे लेकिन वोट बैंक उनके
लिए कर व्यवस्था करते रहे मुझे लग रहा है
अगर इसकी न्यायिक जांच ईमानदारी से अगर
जांच होगी तो कई और शाहजा शेख बंगाल से
निकलेंगे जो टीएमसी और ममता बनर्जी के
नेतृत्व के अंदर बंगाल के अंदर अत्याचार

कर रहे होंगे मुझे लग रहा है इसकी पूरी
नयक जांच होना चाहिए और एक मुख्यमंत्री जो
बंगाल की महिला मुख्यमंत्री मंत्री है वो
दूसरी महिलाओं के बारे में यह कहती है कि
जो चेहरे पर अगर मास्क लगा के आ रही है तो
हम उन्हें गिरफ्तार करेंगे मुझे लग रहा है
इससे बड़ा और दुर्भाग्यपूर्ण बयान कोई एक

मुख्यमंत्री नहीं दे सकता राज्य के लिए
ममता बैनर्जी इस बात को जानती है कि जिस
शाहजा शेख को उसने आशय दिया था उसका काला
चिट्टा बाहर आ चुका है अब उसका बचना
नामुमकिन है और अब मुझे बताइए ममता बनर्जी

शाजा सेख तो पकड़ नहीं रही है उन महिलाओं
को पकड़ने की बात करी जो पीड़ित हुई है
जिनके ऊपर अत्याचार हुआ है जिनका शोषण हुआ
है कहरे उन्हें हम गिरफ्तार करेंगे लेकिन
जो शाजाद शेख वहां पर अत्याचार करता रहा
उसको आज सरकार के परिचय में कहीं छुपा कर

रखा है ममता बन जीी बताए कि वो कब उसको
पकड़ के लेकर आएगी मुझे लगता है कि अगर
पूरी ईमानदारी से जांच होगी तो कई और लोग
निकलेंगे टीएमसी के जो पूरा नेटवर्क है

जमीन स्तर पर वो इसी तरह का कैडर है जो
अत्याचार करता है जमीनों पर कब्जा करता है
सरकारी संसाधनों का इस्तेमाल करता है
केंद्र के भेजे हुए पैसों का दुरुपयोग
करता है और पूरी टीएमसी की सरकार इसी की
दम पर चल रही है मुझे लग रहा है जिस दिन

जांच होगी सब के सब बाहर आ जाएंगे अब ममता
बनर्जी ने ये बोल दिया
महिलाएं झूठ बोल रही हैं जो कह रही है
हमारे साथ दुष्कर्म करता है आदमी या इसके
लोग सब खामोश हैं कोई आरो कोई आप कहीं से
आवाज नहीं सुन रहे होंगे अब यह कहना कि इस

पर केवल विपक्ष के लोग जो हैं बाकी लोग जो
है व क्यों नहीं बोल रहे इस पर सबको बोलना
चाहिए अगर आज वहां कांग्रेस पार्टी भी
प्रोटेस्ट कर रही है तो यह कहेंगे भाई यह
तो पॉलिटिकल राइवल है इनके इसलिए कर रहे

हैं अगर यह बात सही है तो फिर यहां पर
प्रियंका गांधी भी जाए राहुल गांधी भी जाए
बाकी और नेता जो हैं व भी बोले इनके खिलाफ
ममता बनर्जी ऐसा कह और उस पर देश में कहीं
चर्चा ही ना हो यह तो माहौल बड़ा अजीब
किस्म का है संजीव श्रीवास्तव

जी मतलब मैं शुरुआत इस बात से करना चाह
रहा हूं कि चर्चा कैसे नहीं हो रही हम सभी
बोल रहे हैं आपने बात उठाई है आपके तीनों
मेरे साथी पैनलिस्ट बोले और मैं भी निंदा
करूंगा ममता बैनर्जी की कि बहुत ही
शर्मनाक उनका बिहेवियर है और उसकी जितनी

भरस ना की जाए और एक बंगाल की राजनीति में
कम से कम क पिछले 3040 साल से पहले
कम्युनिस्ट की गुंडों की फौज थी और अब
टीएमसी की गुंडों की फौज है सिर्फ फर्क ये
आ गया कि उस गुंडों की फौज को हाल के
सालों में जो कि जांच का विषय है जिसकी

सही पड़ताल होनी चाहिए उसको एक
सांप्रदायिक रंग भी दे दिया गया है कि भाई
ये तो शाहजा शेख है फलां है मतलब इस तरह
के नामों को उछाल के अब वो अगर सही बात है
तो उनको पकड़ के उनकी पिटाई होनी चाहिए

लेकिन कल मैं एक वीडियो देख रहा था असल
में ये वीडियोस का भी नहीं मालूम पड़ता
कौन सा वीडियो सही है तो कुछ पुलिस वालों
की पिटाई हो रही थी संदेश खली में अब वो
वहां का वीडियो है कि वो भी कोई मौफ

वीडियो है गलत वीडियो वा लेकिन बात
बिल्कुल सही है कि बंगाल की राजनीति पिछले
चार दशक से हिंसा का शिकार रही है और
टीएमसी और ममता बनर्जी के अ नेतृत्व में
वो एक अलग लेवल पे चली गई मतलब बहुत ही अ
बहुत ही खतरनाक स्थिति बनी हुई है वहां तो

इसको कंट्रोल हो करना चाहिए और आपने यह
बात भी सही कही कि कहीं ना कहीं ये सब
बातें बीजेपी की राजनीति को भी सूट करती
जैसे राहुल अभी कह रहे थे शायद कि ये जो
इसका काउंटर मोबिलाइजेशन होगा काउंटर
पोलराइजेशन होगा उसके पॉलिटिकल लाभ बीजेपी

को मिलेंगे बट बात राजनीतिक लाभ हानि की
नहीं है जैसे सौरभ आपने कहा कि भ नरेंद्र
मोदी जी के लिए इतना बड़ा ये मुद्दा उछला
था गुजरात दं के टाइम राज धर्म की तो वो
तो बात अब 2022 साल पुरानी हो गई अब यह

राज धर्म तो अब ममता बैनर्जी पर लागू होता
है भा आप इस तरह की हल्की बातें सदन से
क्योंकि वो प्योर पॉलिटिकल पर्सन है सही
गलत का वहां मुद्दा ही नहीं है तो ये तो
मतलब मैंने आपको जॉइन कर लिया इस भरसन में

और पूरी ईमानदारी से और मन से तो आवाज तो
खूब उठ रही है सर लेकिन बाकी लोगों की
खामोशी भी चु रही है वो सिलेक्टिवली उठती
है एक्ली ये इस पर इतना सिलेक्टिव आउटरेज

क्यों हमारे देश में बीजेपी कुछ गलती करती
है तो कौन से कौन से कौन से एनडीए अलाइज
और बीजेपी अगर उनकी कोई मिस्टेक होती है
तो जब वो यूपी के अंदर वह लखीमपुर में व
मिनिस्टर के बच्चे के साथ ने गाड़ी चलाई
थी व पूरा किस्सा हुआ था उसम कौन सा एनडीए

और बीजेपी का नेता भरना कर रहा था ये तो
हमारे देश की दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है
उसमें आप एनडीए और इंडिया की बात नहीं कर
सकते जो एक एक लेवल पर सब धृतराष्ट्र बन
जाते हैं मैं नहीं बनता हमारे साथ ही नहीं

बन रहे जी चलिए बहुत शुक्रिया संजीव जी
आपका आज वक्त इतना ही था हमारे पास कहानी
कुर्सी की में खबरें तो बहुत सारी हैं
लेकिन उन पर हम आगे कल फिर चर्चा करेंगे

Leave a Comment