Kanhaiya Kumar का PM Modi पर वार | CM Nitish | Jayant Chaudhary | Rahul Gandhi - instathreads

Kanhaiya Kumar का PM Modi पर वार | CM Nitish | Jayant Chaudhary | Rahul Gandhi

इंडि अलायंस इं अलायंस बोलते रहे अटैक
करते रहे इंडिया बाद पर बोलते रहे और
कोशिश करते रहे कि कैसे कांग्रेस के
नेताओं को और इंडिया गठबंधन की दूसरी

पार्टियों को अपने साथ लाया जाए मोदी जी
से पहले लॉर्ड कर्जन बोला बोला करता था कि
इस कांग्रेस को हम घिस करके मरते हुए
देखना चाहते हैं यह लॉर्ड कर्जन के शब्द

हैं आज एक लॉर्ड दुर्जन है वह भी कांग्रेस
को मरते हुए देखना चाहते हैं जिस जयंत
चौधरी को डंडों से पिटवा या किसान लन में
आज जो है चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न
दे रहे हैं और उनको अपने साथ ले रहे हैं

नीतीश कुमार को क्या क्या नहीं बोला क्या
नहीं बोला व्यक्तिगत जो चरित्र पर उंगली
उठाई घोटालेबाज कहा मडरर कहा यह नहीं
मानता हूं कि मजबूत नहीं है पता है क्यों

यह मुझे एक परसेप्शन मैनेजमेंट का गेम
लगता है अगर इंडिया गठबंधन इतनी कमजोर थी
तो क्यों इंडिया के जो अलायंस पार्टनर थे
उनको हर हाल में भाजपा अपने साथ लाना

चाहती है मैं आपको बस एक चीज का याद
दिलाना चाहता हूं इंडिया गठबंधन की जब
पहली मीटिंग हुई तो बीजेपी की तरफ से नारा
आया एक अकेला एक अकेला बबल तो आप अकेला

क्यों है मोदी जी शादीशुदा आदमी है क्यों
ही आप अकेला है फिर भी नारा लगाया गया एक
अकेला फिर आनन फानन में जो एनडीए कहीं खो
गया था मोदी जी के उस प्रचार के बीच में
कहीं गुम हो गया था जो है फिर से एनडीए की

आनंद फानंद में बैठक बुलाई गई और आप 28
पार्टी कह रहे हैं 28 पार्टी से ज्यादा
पार्टियों को जो है आमंत्रित किया गया
एनडीए की बैठक में और उससे मन नहीं बड़ा

इंडि अलायंस इंडी अलायंस बोलते रहे अटैक
करते रहे इंडिया बात पर बोलते रहे और
कोशिश करते रहे कि कैसे कांग्रेस के
नेताओं को और इंडिया गठबंधन की दूसरी

पार्टियों को अपने साथ लाया जाए मैं मानता
हूं कि अगर ये इतने मजबूत है तो इनको यह
सब करने की क्या जरूरत है इसका मतलब य
मजबूत नहीं है यह परसेप्शन जो है बहुत

चालाकी से देश में बनाया गया है कि
कांग्रेस जो है कमजोर हो गई एक बात मैं
आपको याद दिलाता हूं जब देश गुलाम था तो
मोदी जी से पहले लॉर्ड कर्जन बोला बोला
करता था कि इस कांग्रेस को हम घिस करके

मरते हुए देखना चाहते हैं यह लॉर्ड कर्जन
के शब्द हैं आज एक लॉर्ड दुर्जन है वो भी
कांग्रेस को मरते हुए देखना चाहते हैं ना
कर्जन का सब सपना पूरा हुआ था ना दुर्जन

का सपना पूरा होने वाला है मार्क माय वर्ड
लिख लीजिए इस पांच राज्य के चुनाव में ही
जहा इतना ढंडोरा पीटा गया कि कांग्रेस हार
गई उस पांच राज्य के चुनाव का अगर कुल वोट

जोड़ेंगे तो 9000 वोट ज्यादा हमको आया है
बीजेपी से और राजस्थान में एक बाय इलेक्शन
हुआ तुरंत मुख्यमंत्री बनने के बाद और उस
आदमी को मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का वायलेशन

करके चुनाव चल रहा था और मंत्री बना दिया
गया वह चुनाव हार गई बीजेपी अगर यह इतने
मजबूत हैं तो चंद्रा बाबू नायडू के पांव
में क्यों लटके हुए हैं जिस जयंत चौधरी को

डंडों से पिटवा किसान आंदोलन में आज जो है
चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न दे रहे
हैं और उनको अपने साथ ले रहे हैं नीतीश
कुमार को क्या क्या नहीं बोला क्या नहीं

बोला व्यक्तिगत जो है चरित्र पर उंगली
उठाई घोटालेबाज कहा मर्डर कहा और आज वो जो
बीजेपी का नेता है बीजेपी का प्रदेश
अध्यक्ष वरेठा बान करके घूम रहा था अब जो

है उनके बगल में शपथ ले रहा है इतनी मजबूत
है बीजेपी यह सिर्फ झूठ बोलने में मजबूत
है कांग्रेस पार्टी जो काम करती है और
कांग्रेस पार्टी जहां तक है अगर वह संगठित

होकर के इस परसेप्शन की वॉर को लड़ने लगे
बीजेपी कहीं नहीं टिकेगी और एक बात याद
रखिएगा बड़ी चालाकी से इस देश में एक
साजिश रची गई है धीरे धीरे धीरे करके एक

संगठित अपराध के तहत गांधी और गांधी के
मूल्यों के खिलाफ हमारे दिमाग में भरा गया
क्या भरा गया मजबूरी का नाम महात्मा गांधी
साहब मजबूरी का नाम महात्मा गांधी होता है

मजबूती का नाम महात्मा गांधी होता है आज
के डेट में एक दरोगा के सामने किसी को
खड़ा होने की हिम्मत नहीं होती है और जो
है जिस जिस साम्राज्य का सूरज नहीं डूबता
था उसके सामने व आदमी बिना बिना जो है

हथियार के खड़े हो गए सत्य और अहिंसा के
दम पे यह तब भी अंग्रेजों से नहीं लड़े थे
और यह आज भी और प्रधानमंत्री जी के सामने
जैसा कि पिताजी ने भाषण दिया पार्लियामेंट

में क्या कहा जो इतिहास नहीं पहचानते हैं
वह खत्म हो जाते हैं नहीं पहचाने थे आप
इतिहास 1922 के भारत छोरो आंदोलन में
आरएसएस ने हिस्सा नहीं लिया था और आज भी

आप इतिहास नहीं पहचान रहे हैं अगर आप
मोदानी के साथ खड़े हैं देखिए ताकतवर के
साथ खड़ा हो जाना ना इतिहास बनाना नहीं
होता है कमजोर के साथ खड़ा होना इतिहास

बनाना होता है और यह देखिए पूरा तंत्र
लगाए हुए हैं एक व्यक्ति राहुल गांधी के
पीछे एक तरफ कहते हैं कि उनके पास कुछ कुछ
है ही नहीं उनकी पार्टी कमजोर हो गई है
जनता उनके समर्थन में नहीं है तो सारा का

सारा तंत्र उनके पीछे क्यों लगाए हुए हैं
डी सीबीआई मीडिया नैरेटिव मेकर सारा तंत्र
एक आदमी के पीछे क्यों क्योंकि न्याय की
ताकत होती है ना कि अन्याय का अंधेरा
कितना भी घना क्यों ना हो एक दीपक से जो
है ना उस अंधेरे को का मुकाबला किया जा

सकता है मैं कह रहा हूं किय पूरी तरह से
परसेप्शन मैनेजमेंट है कि कांग्रेस खत्म
हो गई या कांग्रेस खत्म खत्म हुई कांग्रेस
के नेताओं को ले रहे हैं आप बताइए

राज्यसभा दे रहे हैं मंत्री बना रहे हैं
जिसको परिवारवाद कहते हुए मुंह नहीं थकता
था प्रधानमंत्री का उसको अपने मंत्रिमंडल
में शामिल कराए ज्योतिरादित्य सिंधिया जब
कांग्रेस में थे तो परिवारवाद थे और वहां

जाकर के समाजवादी हो गए हैं यह बेईमानी
हमारे आंख के सामने हो रहा है मैं कहता
हूं कांग्रेस जो है व इस देश की पार्टी है
देश के लोग जब इससे दूर हो जाते हैं तो

थोड़ा कमजोर हो जाती है देश लोगों को जब
अपना हक और अधिकार याद आता है इसमें शामिल
होते हैं तो यह मजबूत हो जाती है कांग्रेस
पार्टी का इतिहास एक बात याद रखिएगा किसी
व्यक्ति का और किसी विचारधारा का इतिहास

नहीं है इस देश के आधुनिक इतिहास के साथ
कांग्रेस का इतिहास कदम से कदम मिला के
चलता
है

Leave a Comment