Modi का सबसे बड़ा 'चुनावी हथियार' Varanasi में Rahul ने छीन लिया! Bharat Jodo Nyay Yatra | Congress - instathreads

Modi का सबसे बड़ा ‘चुनावी हथियार’ Varanasi में Rahul ने छीन लिया! Bharat Jodo Nyay Yatra | Congress

दोस्तों कल हम लोगों
ने वादा किया था कि हम आपको राहुल गांधी
की जो भारत जोड़ो यात्रा चल रही है उत्तर
प्रदेश में उसकी हर दिन की आपको
गतिविधियों के बारे में पूरी जानकारी

देंगे कल राहुल गांधी ने एक बड़ी
सक्सेसफुल न्याय यात्रा बनारस में निकाली
12 किलोमीटर उनका काफिला चला पाच घंटे तक
चला और बनारस से लेकर दिल्ली तक सरकार के
माथे पर पसीने आ उसके बाद अ चकि जहां से
राहुल गांधी सांसद है वायना में वहां कुछ

प्रॉब्लम आ गई इसलिए राहुल गांधी को कल
जाना पड़ा राहुल गांधी कल बनारस से निकल
गए वायना और आज वो वापस लौटे हैं और
प्रयागराज प्रयागराज वो शहर है जो राहुल
गांधी का कहा जाता है राहुल गांधी के जो

पिताजी थे राजीव गांधी उनके नाना जवाहरलाल
नेहरू के पिताजी मोतीलाल नेहरू इसी शहर के
रहने वाले थे और देश की प्रधानम मंत्री
इंदिरा गांधी का बचपन और काफी समय
प्रयागराज में बीता था तो प्रयागराज में
एक जमाने में पूरी तरह से कांग्रेस का

पूरा वर्चस्व रहा है बाद के दिनों में
प्रयागराज में सपा ने भी काफी वर्चस्व
बनाया है और पिछले 10 सालों से भाजपा का
सांसद है फिलहाल
लेकिन अब आज जब प्रयागराज पहुंचे हैं

राहुल गांधी तो जो स्वागत हुआ है जिस तरह
से वहां प्रयाग की जनता सड़को पर उतरी है
उसने यह बता दिया कि राहुल गांधी को लेकर
उत्तर प्रदेश की जनता में अभूतपूर्व
उत्साह है और आपको पता है कि वहां पर

इलाहाबाद यूनिसिटी है कई पूरे उत्तर
प्रदेश का सबसे बड़ा शिक्षा का केंद्र
प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर हम बात करें
तो बनारस के साथ साथ इलाहाबाद भी एक बड़ा
और जिसका नाम प्रयागराज बदल हो गया है तो

प्रयागराज एक बहुत बड़ा शिक्षा का केंद्र
है पूरे प्रदेश से और आसपास के प्रदेशों
से बच्चे वहां आते हैं प्रयागराज लावान
सिटी से गेशन करते हैं और प्रतियोगी

परीक्षाओं की तैयारी कर तो जब आज इलाहाबाद
में प्रयाग माफ कीजिए बारबार मेरे मुह से
इलाहाबाद निकल जाता है जिसका नाम योगी जी
ने प्रयागराज कर दिया उस प्रयागराज में जब
राहुल गांधी की न्याय यात्रा छात्रों के
जो नीलम टाकीज के पास जो चौराहे पर पहुंची

तो वहा
जबरदस्त मतलब अनगिनत संख्या में छात्रों
ने उनका स्वागत किया जबरदस्त घीड़ थी वहां
क्या किया राहुल गांधी ने छात्रों से
संवाद करने के पहले एक बेरोजगार छात्र जो

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था
उसको अपनी गाड़ी में बुला लिया और उसकी
बात सुनी उसके बाद राहुल क्या बोले पहले
आप सुन
लीजिए जी सर दलित वर्ग 15 पर है आदिवासी

वर्ग 8 पर है कितना
सर पूरा हो गया 73 पर सर 73 पर दलित
आदिवासी
पिछड़े ठीक है अब मजे की बात
सुनो पाल जी पाल जी सच्चाई यह है कि आप
पिछड़े वर्ग के हो और इस देश में आप जैसे

युवाओं का कोई भविष्य नहीं है य यह सच्चाई
है मैं
खड़े हैं आपको दो तीन आंकड़े देना चाहता
हूं आपकी

आबादी 73 पर है मगर हिंदुस्तान के सबसे
बड़े कंपनियों
में 200 कंपनियों में मैंने आंकड़ा
निकाला एक
मालिक ओबीसी दलित आदिवासी नहीं है एक नहीं
है मैनेजमेंट टीम में एक आपका आदमी नहीं

है हिंदुस्तान की सरकार के 90 सबसे बड़े
आईस अफसर की मैंने लिस्ट निकाली उसमें तीन
लोग आपके हैं तीन दलित है एक आदिवासी है
आपकी आबादी 73 पर और आपकी वहां पर

भागीदारी 5 पर मीडिया में आपका एक आदमी
नहीं
है कचहरिया में कोर्ट्स में 50 में से
आपके 100 हैं जी
सर तो आप लोग को चलाते हो आप

अपना और आपका यहां कुछ नहीं है आपको
भड़काया जा रहा है आपको अंधा किया जा रहा
है मैं आपसे पूछना चाहता हूं आपने राम
मंदिर का फंक्शन देखा जी सर देखा जी सर
उसमें आपने एक ओबीसी चेहरा

देखा देखा
एक आदिवासी चेहरा देखा नहीं उसम एक नहीं
था उसम अमिताभ बच्चन थे अश्वर्य राय थी
नरेंद्र मोदी

थे 73
पर हिंदू राष्ट्र है जिसमें
73 पर की आबादी कहीं दिखती
है आप लोग पता है कहां

हो दिहाड़ी मजदूरी जो करते ना उन लोगों की
लिस्ट निकालो वहां आपके नाम मिलेंगे और यह
लोग क्या चाहते हैं यह लोग चाहते हैं कि
आप लोग कभी भी इस देश को कंट्रोल ना कर

पाओ यह देश आपका है 73 पर का है और यह यह
जो पेपर चोरी किया ना
आपका यह आपको रोकने का तरीका है यह आपको
ठगने का तरीका

है जैसा आपने सुना छात्रों के बीच में जब
राहुल गांधी बात कर रहे थे तो उन्होंने
जबरदस्त रूप से पीडीए की बात की पीडीए
मतलब जो अखिलेश यादव पिछले छ महीने से बोल
रहे हैं कि पिछड़े दलित अल्प संख्य को
समाज में वह जगह नहीं मिली जो मिलनी चाहिए

और राहुल गांधी जब से यूपी में आए हैं या
भारत जोड़ यात्रा में हर जगह व जनगणना की
बात कर रहे हैं और सबको पता है कि बिहार
में जब नीतीश और तेजस्वी और कांग्रेस जी
की सरकार कांग्रेस की सरकार थी तो वहां पर

उन्होने जातिगत जनगणना कराई और जातिगत
जनगणना के बाद जो आकड़े आए हैं बिहार में
कि वहां ओबीसी आबादी का परसेंटेज लगभग 73
है और दलित और मुस्लिम मिलाकर 9095 पर की
आबादी है और सवर्ण आबादी 6 से 7 पर तो

इसको देखते हुए बिहार में तब की जो सरकार
सरकार थी मतलब जो नीतीश की तेजस्वी की और
कांग्रेस की सरकार थी वहां पर उसने पिछड़े
और अति पिछड़ों का आरक्षण बढ़ा के 50 से
65 पर कर दिया अब चकि मामला प्रयाग
प्रयागराज आए थे और जो उन्होंने एक बात

कही प्रतियोगी परीक्षा जो की तैयारी कर
रहे हैं छात्र यूपी में छ सालों में यहां
पर जितने भी प्रतियोगी परीक्षाएं गई है
उसमें से लगभग 15 से ज्यादा परीक्षाओं के
पेपर लीक हो गए

जब पेपर लीक हो जाते हैं तो परीक्षा रद्द
हो जाती है रद्द हो जाती है तो जिन
छात्रों ने फॉर्म भरा जितने जितने दिन
तैयारी की उनका पूरा पैसा पानी में चला जा
नौकरी देने में इसकी स्थिति क्या है उत्तर

प्रदेश में कि वहां पर जिस छात्र से बात
कर रहे थे उसने तो यह आरोप लगाया अंकित
पाल नाम के लड़के को राहुल गांधी ने
बुलाया था उसने एक बहुत अच्छी बात कही कि
ये लोग क्या करते हैं नौकरी निकाल देते
हैं फॉर्म भरवा हैं और उसने एग्जांपल दिया

कि 6 हज सिपाहियों की भर्ती की वैकेंसी
अभी सरकार ने निकाली है और बता दूं यह कि
आपको पता ही होगा कि पूरे छ साल बाद
सिपाही की भर्ती होने जा रही उत्तर प्रदेश
में और शिक्षकों की और प्राइमरी स्कूल के

शिक्षकों की तो भर्ती पिछले पा सालों में
आई ही नहीं और जो परीक्षा हो भी रही है
उसके पेपर लीक हो रहे हैं तो 600
सिपाहियों की भर्ती होने जा रही है जिसमें

की 48 लाख से ज्यादा छात्रों ने अप्लाई
किया है तो अगर 48 लाख में अगर हर
प्रतियोगी परीक्षा ने अगर 50 रप का भी फीस
दिया है तो कई करोड़ रुपए की तो सिर्फ फीस
उत्तर प्रदेश सरकार के पास इकट्ठा हो गई

और उसके बाद अगर कई जगहो पर क्या होता है
कि पेपर लीक हो गया तो पूरा टाइम बर्बाद
हो जाता है और इलाहाबाद जो प्रयागराज की
जो परेशानी है प्रयागराज में लाखों छात्र
आते हैं गांव देहात छोटी छोटी जगहों से वो

कमरा लेकर किराए पे पढ़ते हैं तैयारी करते
हैं कोचिंग करते हैं और जब वो चार चार
पांच पाच साल तक वैकेंसी नहीं निकलती है
तो और उसका ज वैकेंसी निकलती है तो पेपर

लीक हो जाता है तो भर्तियां नहीं होती तो
बेरोजगारी बढ़ जाती है जो दूसरी बात राहुल
जी ने कही वो बार-बार इंसिस्ट कर रहे हैं
कि जब तक पिछड़ो दलित और अल्पसंख्यकों को

पूरी जगह नहीं मिलेगी उन्होंने एक आंकड़ा
भी दिया आपने सुना कि एक तो सरकारी
नौकरियों का उन्होंने आईएस अधिकारियों का
बताया कि देश में के टॉप 90 आईएस में
मात्र जो है 5 पर ओबीसी समुदाय से हैं
जबकि कायदे से अगर आज का आरक्षण कोटा लिया

जाए और एससी एसटी लिया जाए तो 50 पर होना
चाहिए तो 45 की जगह पाच ही है वहां पर भी
प्रतिनिधित्व काफी कम है दूसरा जो बड़ी
बात उन्होंने कही छात्रों से
कि आप अगर देश की 200 कंपनियों का आकड़

निका डाल ले तो वहां पर ओबीसी या दलित
सीईओ नाम मात्र के या है ही नहीं तो उनका
कहना और एक बड़ी बात उन्होंने कही कि अगर
दिहाड़ी मजदूरों का का जातिगत सर्वे किया

जाए तो ज्यादातर जो दिहाड़ी मजदूर है डेली
वर्कर है डेली लेबर है या छोटे काम करने
वाले हैं यह बेसिकली आपको ओबीसी या दलित
समदा से ही मिलेगी तो एक छात्रों से सीधा
संवाद है और प्रयागराज इलाहाबाद बारबार

मेरे मुह से बराज निकल जाता इलाहाबाद
यूनिसिटी में पिछले दो तीन सालों से छात्र
लगातार छात्रों की कई मांगे मान नहीं नहीं
रही है वहां के विश्वविद्यालय के कुलपति
अभी कुछ दो साल पहले केंद्रीय

विश्वविद्यालयों की फीस चार गुना बढ़ा दी
गई थी उसको लेकर छात्रों ने आंदोलन किया
उसके बाद परीक्षाओं के पेपर लीक हो जाते
हैं उसको लेकर किया गया अभी एक हाल में

बवाल हुआ था हॉस्टल को लेके तो वहां मतलब
एक संवाद की कमी है और छात्रों में और वा
प्रयागराज विश्विद्यालय के प्रशासन में
जबरदस्त टकराव बना हुआ है लाबा सिटी में

और रोज खबरें आती है तो छात्रों को बड़ी
उम्मीद थी जिस तरह से संवाद आज वहां पर
इलाहाबाद में छात्रों के बीच में अपनी
गाड़ी को रोका जीप को रोका वहां पर और
वहां बैठ के जीप पर बैठ के उन्होंने संवाद

किया मुझसे खड़े खड़े और छात्रों ने उनसे
उनकी बात सुनी मीडिया रिपोर्ट में य भी
कहा जा रहा है
कई जगह पर लोगों ने म महिला महिला जो
स्टूडेंट थी

उन्होंने उनका फूलों के साथ मतलब फूल बरसा
के स्वागत भी किया और कई छात्र जो वहां पर
प्रतियोगी परीक्षाओं में जो तमाम धली उसको
लेकर आंदोलन कर रहे हैं उन्होंने राहुल
गांधी से अलग से मिलने का टाइम मांगा
है एक थोड़ा बदलाव है आज की रैली में

बनारस में जब रैली चल रही थी तो बनारस में
सपा का प्र दिख रहा था पल्लवी पटेल भी थी
यहां जो है वो कांग्रेस के पुराने नेता
अनुग्रह नारायण सिंह दो बार के विधायक रह
चुके हैं वह साथ में चल रहे थे प्रमोद

तिवारी साथ में थे प्रमोद तिवारी कांग्रेस
के पुराने नेता है प्रदेश अध्यक्ष रह चुके
हैं मंत्री भी रहे हैं और अजय लल्लू अजय
सिंह लल्लू यह एक बड़ा चेहरा इस बार जीत

में दिखा जो बनारस में नहीं थे अजय सिंह
लल्लू कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे
उन्होंने बहुत जबरदस्त संघर्ष किया हर
मुद्दे पर संघर्ष करते रहे हैं और रहा तो
थही उस जीप में और यह कारवा चल रहा है

जबरदस्त जन समर्थन उनको मिल रहा है और ये
यह जन समर्थन यह बता रहा है कि उत्तर
प्रदेश में और खासकर युवाओं का युवाओं का
जो हुजूम आज वहां दिखा है प्रयागराज में

वो यह बता रहा है कि जो काम उनको राहुल
गांधी से बड़ी अपेक्षा
है स्टूडेंट लोन का भी जिक्र किया कि
छात्र स्टूडेंट लोन लेने जाते हैं
तो बैंक वाले उनको लोन के ना देने के लिए
कई सारे टर्म्स एंड कंडीशन गिरा देते हैं

वही जो बारबार जिक्र करते हैं राहुल गांधी
हमेशा से कि मोदी सरकार ने 10 लाख या 15
लाख लोगों का 15 लाख करोड़ का लोन बड़े
उद्योगपतियों का माफ कर दिया तो युवाओं को
जो जो युवाओं को रोजगार नहीं दे पा रही है

सरकार उस परे उन्होंने किया दूसरा उनका जो
मुख्य फोकस ये रहा प्रयागराज में भी कि
जाति जनगणना बहुत जरूरी है आज देखिए
प्रयागराज में जो रैली अभी चल रही है और
आज यह जाएंगे प्रतापगढ़ तक पहुंचेंगे

प्रतापगढ़ में रात्रि विश्राम करेंगे उसके
बाद वह कल और परसों में जो राहुल की य
यात्रा है वह अमेठी पहुंचेगी फिर राय बरली
पहुंचेगी उसके बाद लखनऊ की तरफ आएगी लेकिन
जो जन समर्थन दिख रहा है उत्तर प्रदेश की
सड़कों पर जो जन समर्थन दिख रहा है जो

सैलाब दिख रहा है कांग्रेस के नेता राहुल
गांधी के क्योंकि यह कांग्रेस द्वारा
ऑर्गेनाइज पूरी तरह से यह पूरी तरह से
उत्तर प्रदेश कांग्रेस का एक ढांचा खड़ा
हो रहा है हाल के वर्षों में कांग्रेस
उत्तर प्रदेश में के पास उस तरह का

संगठनात्मक ढांचा नहीं था तो हमें ये
उम्मीद नहीं थी कि कांग्रेस की जब न्याय
यात्रा उत्तर प्रदेश में आएगी तो कैसा
पब्लिक का रिस्पांस मिलेगा लेकिन जो भीड़
बनारस में दिखी है
जो भीड़ आज प्रयागराज में दिखी है और

खासकर युवाओं की जो भागीदारी रही है वो यह
बता रही है कि
जनता अब राहुल गांधी को सुनने के लिए और
नेता मान चुकी है देखिए कल तो बनारस में
नारा लगा था कि देखो देखो कौन आया शेर आया
शेर आया और आज जो बड़ी संख्या में लाखों
की संख्या में छात्र सड़क पर उतरे हैं

प्रयागराज में राहुल गांधी को सुनने के
लिए जो राहुल गांधी उनके साथ संवाद किया
प्लस तमाम छात्र संगठनों ने उनसे टाइम
मांगा है कि आज रात को जब वो पदयात्रा
न्या यात्रा रुकेगी तो उसके बाद वो अलग से

राहुल गांधी से मिलना चाहते तो यह भी हो
रहा है कि जहां जहां पर राहुल गांधी
रात्रि विश्राम कर रहे हैं वहां पर कई
समूह जो व्यापारियों का समूह है छात्रों
का समूह है और कई धर्म तमाम जातियों का

समूह जाकर उनसे संवाद कर रहा है तो यह एक
पहली बार ऐसा हो रहा है मुझे नहीं लग रहा
है याद आ रहा है कि हाल के वर्षों में
कांग्रेस के किसी बड़े नेता ने मतलब बड़े
नेता मतलब राष्ट्रीय स्तर के नेता ने इस
तरह की रैलिया इंदिरा गांधी तो बहुत किया

करती थी और लेकिन राहुल जी इस तरह से जो
यूपी में पूरा घूमेंगे जैसे अभी बनारस
होके आए चंदौली रहे अब आज प्रयागराज में
जिस तरह का जन समर्थन मिल रहा है ये ठीक
है गोदी मीडिया उतनी कवरेज नहीं कर रही

लेकिन अब जमाना सोशल मीडिया का हो गया लोग
देख रहे हैं लोग यह महसूस कर रहे हैं कि
बेरोजगार इस और जो एक बड़ा मुद्दा जो
बारबार उठा रहे हैं देखिए राम मंदिर की भी

बात की और कितने तरीके से राम मंदिर के
मुद्दे को उठाया उन्होने सीधे सवाल पूछा
कि राम मंदिर के उद्घाटन में मतलब
जो जो विश्व हिंदू परिषद ने 8000 वीआईपी
बुलाए थे उसम बड़े लोगों को बुलाया गया था

तो राहुल गांधी ने पूछा कि भाई आपको उसमें
आप जिस वर्ग के आते हैं जो जनसामान्य है
दलित है पिछड़ा है ओबीसी है उसमें कितने
लोग वहा दिखाई
दिए राहुल जी ने बताया जनता ने बोला हां
आप सही कह रहे हैं और पीछे से एक आवाज आई

वो आवाज देखिए अब आने लग गई है उत्तर
प्रदेश में जनता से बात कीजिए तो जनता कह
रही है कि धर्म की असीम चटा करर भाजपा
लोगों
को लोगों का ध्यान बेसिक मुद्दे बेसिक
मुद्दे क्या है उत्तर प्रदेश में इसत

महंगाई जबरदस्त है बेरोजगारी बहुत ज्यादा
है बेरोजगारी का आला आप खुद समझिए ना कि
60000 सिपाहियों की वैकेंसी के लिए 48
लाख लोगों ने अप्लाई किया इस पर जब अभी तक
इतना ज्यादा मतलब ठीक उत्तर प्रदेश सरकार

में सिपाहियों की भर्ती होती रही है लेकिन
इतना टफ कंपटीशन पहली बार दिख रहा है उसके
पीछे एक आपर आकड़ों पर ध्यान दीजिएगा तो
कारण क्या हुआ है कि मैं मैंने अभी बीच
में चक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा
आने वाली है राय बरली लखनऊ की तरफ से तो

मैंने इस क्षेत्र के काफी युवाओं से बात
की जो लखनऊ से रायबरेली रास्ते में पढ़ते
हैं तो वहा युवाओं ने बताया कि देखिए साहब
हम लोग गांव के जो लड़के थे वो चाहते थे
कि पहले क्या उनका टारगेट क्या होता था कि

पहले हम थ कर ले और थ कर ले उसके बाद
फिजिक बनाए चार साल तक मेहनत करते तैयारी
करते थे उनकी कोशिश रहती थी सेना में जवान
बन और जब वो सेना में जवान बन जाते थे तो
उनको 15 साल की उनकी नौकरी होती थी उसके

उनको पेंशन मिलता था तो अबकी बार जो आपको
बता रहा हूं उत्तर प्रदेश में जो सिपाही
भर्ती निकली उसम इतनी ज्यादा संख्या में
लोगों ने क्यों अप्लाई किया है क्योंकि
सेना में अब अग्निवीर स्कीम चालू हो गई है

पहले सेना में एक लाख जवानों की हर साल
भर्ती होती थी और जो भर्ती होती थी वो 15
साल नौकरी करते थे अब सुनने में आ रहा है
मैंने उसको पू रिफाई नहीं किया लेकिन
लोगों का दावा है कांग्रेस का भी दावा है

कि उसम 75000 लोगों की भर्ती हो रही है वो
भी अग्निवीर उसम भी 75000 में च साल बाद
आप जानते ही कि 75 पर लोग वापस चले आएंगे
तो 75000 में सिर्फ 16 हज युवाओं को जो है
सेना में परमानेंट नौकरी मिलेगी चार साल
बाद व बेरोजगार हो जाएंगे इसलिए युवाओं का

उत्साह अब जो है वो आर्मी में जाने में
नहीं जाना चाहती मैंने कई युवाओं से बात
की तो युवाओ ने मुझसे कहा कि भैया चार साल
तो ट्रेनिंग करो 14 15 साल की उम्र से लग
जाते हैं दौड़ने की

एक्स दौड़ना पड़ता है चार मिनट में इतना
1600 मीटर और तमाम चीज दने फिजिकल देना
पड़ता है तैयारी करनी पड़ती है तो चार साल
हम तैयारी करते हैं तब जाकर हमारा
सिलेक्शन होता था अब चार साल तैयारी

करेंगे उसका क्या मिलेगा चार साल की नौकरी
मिलेगी और चा साल की नौकरी के बाद वापस
सड़क पर तो लोगों को भविष्य में अब
वो दिखाई नहीं दे रहा कि उनका सेनाम

भविष्य बहुत ज्यादा सुरक्षित है और मैं इस
चीज का जिक्र इसलिए यहां पर कर रहा हूं कि
अगर आप प्रयागराज घूमिए का तो वहां पर
सिपाही और सेना की भर्ती के लिए तमाम तरह
की कोचिंग चलती है प्रयागराज या जिसका नाम
अब कर दिया है आदरणीय योगी जी ने वहां पर
क्या चलता है वहां पर या तो प्रयागराज

यूनिवर्सिटी है इलाहाबाद यूनिवर्सिटी है
दो चार छह कॉलेजेस है और आपको तमाम तरह की
प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग मिल जाएगी
उन कोचिंग में बच्चे आते थे युवा आते थे
गांव देहात से कि उनको आर्मी में सैनिक
बनना है सिपाही बनना है या सेंट्रल

पार्लियामेंट्री फोर्स में सिपाही बनना है
या क्लर्क बनना है या फिर ऑफिसर बनना है
पीसी आईएस तो वो उसको बैठ के वहां तैयारी
किया करते थे तो यह जो अग्निवीर की योजना
लाई इसकी वजह से आलम यह हो गया कि 600

सिपाहियों में 48 लाख लोग अप्लाई कर आज
परीक्षा खत्म हो गई उसमें भी तमाम तरह के
मीडिया रिपोर्ट में दावे हैं कि इसमें भी
पेपर आउट हो गया मुझे नहीं पता कि आउट हुआ
कि नहीं हुआ लेकिन आज से एक हफ्ते पहले एक
सेक्शन ऑफिसर की परीक्षा होती है जिसमें

 

लाखों परीक्षार्थियों ने पार्टिसिपेट किया
था उसमें उस दिन हल्ला मचा के उसका पेपर
आउट हुआ तो पहले दिन तो सरकार ने माना
नहीं माना कि पेपर आउट हुआ लेकिन दूसरे
दिन उन्होंने कहा कि भाई अगर हम इसकी जांच

कर रहे हैं तोब आप सोचिए एक तो भर्ती नहीं
आएगी भर्ती आएगी तो पेपर आओ और जब से योगी
जी मुख्यमंत्री बने हैं तब से लगभग 15
प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर लीक हो चुके
आपने विजुअल देखा होगा कि स्टेशनों पर

क्या भीड़ है जो आज और कल जो आज संपन्न
हुआ शाम को तो बेरोजगारी इतनी ज्यादा है
और 48 लाख में नौकरी किस मिलेगी 600 को
मिलेगी बाकी
470000 तो बेरोजगार र जाएंगे तो दावा
उत्तर प्रदेश सरकार ने भी दावा किया था कि

वह बहुत सारे लोगों को नौकरिया देंगे और
मोदी जी ने तो दावा किया था दो करोड़
युवाओं को हर साल नौकरी देंगे अगर दो
करोड़ युवाओं को हर साल नौकरी दिया होता
तो ये दवा साल है मोदी सरकार अब तक 20

करोड़ लोग नौकरी पा चुके होते फिर शायद
फिर शायद ये 60000 सिपाही की जो भर्ती पा
साल बाद निकली है उसके लिए 48 लाख लोग
अप्लाई नहीं
करते तो फिर हम आते हैं राहुल गांधी की

यात्रा प राहुल क्या कर रहे हैं जनता से
सीधे संवाद कर रहे हैं वो रैली नहीं कर
रहे वो रैली नहीं कर रहे हैं कि मंच सजाए
और भाषण दे दे नहीं वो सड़कों से आम
मोहल्लों से सड़कों से गुजर रहे हैं वहां

पब्लिक आ रही है वहां जीप रोक रहे हैं वहा
उनसे बात कर रहे उनकी बातों को समझ रहे
हैं और उनको बता रहे हैं आगा
पूरा फोकस जो है उनका पूरा फोकस उनका यही
है कि जो मुख्य अभी तक जो दो दिन की
यात्रा उनकी उत्तर प्रदेश में आज उनका
तीसरा दिन है प्रयागराज में पहले दिन

चंदौली में रहे दूसरे दिन बनारस और आज
प्रयागराज तो हर जगह वह जाति जनगणना पर
पूरा फोकस है दूसरा वह हर जगह यही बात कर
रहे हैं इस देश को हमको सबको जोड़ना
है और जनता भी समझ रही है आप जो शुरू में

वीडियो लगा था उसको ध्यान से सुनिए तो
उसमें जब राहुल गांधी बता रहे थे कि भाई
इतनी इतना आबादी है पिछड़ों की दलितो को
और उनको कम संख्या में उनको नौकरी मिल रही
है और नहीं मिल रही है तो उस पर पीछे से

लोग चिल्ला रहे हैंक धर्म की अफीम चटा दी
है तब जनता को भी समझ में आ रहा है कि
हमको हमको भैया महंगाई से मुक्ति चाहिए और
हमारे परिवार में हमारे बेटे हमारे भाई को
नौकरी
मिले तो और मंदिर वाले मुद्दे को भी बहुत

ढंग से राहुल जी ने उदाहरण के तरह समझाया
कि वहां पर भी कौन है तो और कर्जा किसका
माफ हो रहा है सबको पता है कि पूजी पतियों
का 14 लाख करोड़ रुपया का कर्ज माफ हो गया
दूसरा उन्होंने एक सवाल और पूछा उसी रैली

में कि अडानी जी किस जाति के हैं
मतलब छात्रों से बात करते हुए जब उन्होंने
पूछा तो जो अंकित पाल से बात कर रहे थे
उसने कहा कि आबादी तो सर हमारी 73 पर है
लेकिन इस देश की जो प्रॉपर्टी है उस परे

हमारा सिर्फ दो या 5 पर
का हमारे पास है मैं यह नहीं कहता कि उस
लड़के ने जो आंकड़े कहे वह सही या गलत है
लेकिन यह सब जानते हैं कि देश के 10 प्र
लोगों के पास इस देश की के संसाधन पर

प्रॉपर्टी पर लगभग 80 पर से ज्यादा
प्रॉपर्टी और संसाधन 10 पर लोगों के पास
है बाकी 90 पर के पास कुछ नहीं है तो
मुख्य मुद्दा वही है और राहुल गांधी अगर
इसी तरह से
लगातार जनता से संवाद करते

रहेंगे और पूरे उत्तर प्रदेश में जैसे
बनारस चंदौली से चले बनारस आए बनारस से आज
प्रयागराज कल उनको भदोई जाना था लेकिन वो
जा नहीं पाए क्योंकि वायना लौटना पड़ा अब
आज रात को प्रग प्रतापगढ़ में रुकेंगे फर

उसके बाद प्रतापगढ़ से होते हुए टर करेंगे
फिर राय बरली फिर लखनऊ और यह जो उनका यूपी
यात्रा में नाय यात्रा का पहला फेज है
लखनऊ के बाद कानपुर उन्ना उन्ना के बाद
कानपुर वहां खत्म होगा उसके बा दूसरा फेस
उनका पश्चिमी उत्तर प्रदेश से शुरू

होगा तो जिस तरह का रिस्पांस दिख रहा है
जिस तरह से जनता राहुल गांधी को सुनना
चाहती है और दिख रहा है यह सड़कों पर दिख
रहा है सैलाब दिख रहा है ये वो ये बसों
में लात करर लाई गई भीड़ नहीं लाखों का

हुजूम कल बनारस में था और लाखों का हुजूम
आज प्रयागराज में यह भीड़ य उत्साह यह
दिखा रहा है कि अबकी बार
जनता मोदी के जगह राहुल गांधी को अपना
नेता चुन सकती है या इंडिया गठबंधन के
प्रति भी अब झुकाव बढ़ता दिख रहा है इस

यात्रा
में जब दो दिन बाद जब वो राय बरली अ आएंगे
तो अखिलेश यादव भी जुड़ जाएंगे उसके बाद
यहां से अखिलेश जी दो दिन तक इस यात्रा के
साथ चलेंगे तो यह पब्लिक का विपक्ष एक

होता जाएगा पब्लिक का पार्टिसिपेशन बढ़ता
जाएगा और आने वाले दिनों में मोदी सरकार
की मुश्किले बढ़ने वाली है और मोदी सरकार
को ये पता है इसीलिए वो दूसरी चीजों में
लगी हुई है वो सोच रही है कि किस तरह से

कांग्रेस और सपा का गठबंधन होने ना पाए
सपा मजबूती से प्रयास कर रही है बारबार
पीडीए की बात कर रही है तो पूरी ताकत उसने
पीडीए को तोड़ने में सपा को तोड़ने में
लगा रखी है तो व सारी चीजें हो रही
है लेकिन फिलहाल राहुल गांधी ने पिछले तीन

दिनों में जो यात्रा की है चंदौली बॉर्डर
से लेकर प्रयागराज तक की उसने पूर्वांचल
का मिजाज बदल दिया है और पूर्वांचल का
मिजाज प पहले से ही बदला हुआ है मतलब

पूर्वांचल में 2022 के विधानसभा चुनाव
में भाजपा को बहुत अच्छी सफलता नहीं मिली
थी जिस प्रयागराज में है वहां पर भी कुछ
सीट हारी थी भाजपा बगल का जिला प्रयागराज
से सटा हुआ जिला जो है वो जौनपुर है वहां
पर भी आठ में से पांच सीट वो हार गए थे तो

और उस प्रयागराज से के बगल में एक जिला है
कौशांबी कौशांबी में तीनों की तीनों सीट
सपा जीत गई थी भाजपा का खाता नहीं खोला था
वहां तो उनके उप मुख्यमंत्री केशव मौर्या
प्रत्याशित रूप से चुनाव हार गए थे तो और

उसके बाद वह प्रतापगढ़ जा रहे हैं
रायबरेली में तो छह में से पांच विधानसभा
सीटें आज की तारीख में कांग्रेस के पास है
अमेठी में दो सीटें जो है भाजपा के पास है
दो सपा के पास है तो

और कुंडा से कुंडा से प्रतापगढ़ की बात
करूं तो कुंडा से राजा भैया जीते थे और
रामपुर खास से कांग्रेस ने वहां पे सीट
जीती थी तो जिन क्षेत्रों से गुजर रहे हैं

वह ऑलरेडी जो है समाजवादी पार्टी मजबूत
स्थिति में है अब कांग्रेस भी
रिवाइव तो धीरे
धीरे और बीजेपी का वोट परसेंटेज जो है अगर
मैं पूर्वांचल की बात करूं वो तो 2019 के
चुनाव में जो मोदी जी का को उत्तर प्रदेश

में एनडीए को 51 पर वोट मिला था वोह घट के
वो घट के 2022 में आ गया था 43 पर 8 पर तो
ऐसे घट चुका है उसके बाद दो साल का जो दौर
है बेरोजगारी जिस तरह से बड़ी महंगाई बढी
है तो अब जो है राहुल गांधी की न्याय
यात्रा

ने भाजपा के जो शीष नेतृत्व है यानी
नरेंद्र मोदी और अमित शाह जी की नी उड़ा
दी है वैसे कल
प्रधानमंत्री लखनऊ आएंगे 22 को बनारस
जाएंगे मतलब ऐसा नहीं है उनको पता है कल
लखनऊ आ रहे हैं पा घंटे लखनऊ रहेंगे फिर

22 को वो बना बनारस जा रहे हैं भागे भागे
बारबार दिसंबर में गए थे फिर कल जा रहे
हैं दो दिन बाद जा रहे हैं तो उनको भी पता
है कि जमीनी रूप से वो चाहे कितने दावे कर

ले लेकिन जमीन पर जनता की नाराजगी बढ़ रही
है कल हम
आपको राहुल गांधी की जो यात्रा निकलेगी
प्रतापगढ़ से उसके बारे में पूरा डिटेल
देंगे और आपसे अनुरोध करेंगे कि जो न्यूज

लंचर पर जो हमारी कवरेज है वो कैसी लगी
बताइए कोई कमी हो तो जरूर बताइएगा और
हमारा ये वादा हमारे जो सहयोगी आशीष जी ने
जैसे वादा किया था हम राहुल गांधी की यात्रा जब तक यूपी में रहेगी धन्यवाद

Leave a Comment