UAE पहुंचकर मोदी ने जो कहा, सारी पोल खुल गई! - instathreads

UAE पहुंचकर मोदी ने जो कहा, सारी पोल खुल गई!

नमस्कार
दोस्तों नरेंद्र मोदी यूएई में है और यूएई
के सुल्तान के साथ वो गले लग रहे हैं सस
कर रहे हैं और वहां पर जब वो पहुंचते हैं
तो नरेंद्र मोदी वहां कहते हैं
कि मुझे लग रहा है आज मैं अपने घर आ गया

हूं मैं अपने परिवार के बीच आ गया हूं
यूएई में उन सारे मुस्लिम शासकों और उनके
तमाम सारे सूबेदार के साथ में उनके
सैनिकों के साथ में वह बैठे हुए थे और
वहां खुद को बता रहे थे कि परिवार में आना
अपने घर

आना मुझे लगा यह है क्या क्या सच में वह
अपने घर पहुंच गए क्योंकि हिंदुस्तान में
होते हैं तो हिंदुस्तान के मुसलमानों को
वो उनके कपड़ों से पहचानने की बात करते
हैं

उनके ऊपर जिस तरीके से अल्पसंख्यकों के
ऊपर अत्याचार होते हैं उसके बाद में लगता
है कि वहां के मुसलमान और यहां के मुसलमान
में कोई अंतर है
क्या तो मैंने इसी को लेकर के मैंने आज
कहा थोड़ी सी रिसर्च कर ली जाए तो मैंने
कैलिफोर्निया के एक प्रोफेसर
है

प्रोफेसर जो है आनंद प्रकाश मिश्रा व वहा
इंडियन कल्चर और सब चीज के प्रोफेसर उनसे
बात कर उन्होंने बताया कि जो घाची समुदाय
है वह समुदाय अहमद शाह अब्दाली के साथ आया
था और यह वह समुदाय है जो उनके जो मसाल थे
ज वो चलते थे उनके साथ में रोशनी के लिए

उन सब में तेल भरने और उन सब चीजों का काम
करते उनके साथ में कुछ हबसी भी आए थे वो
हबसी उन में से कुछ हसि हों ने गुजरात में
ही गांव भी बसा लिया इसी तरीके से जो वो

घाची थे मोड़ घाची उन्होंने आकर के यहां
पर गांव बसा लिए और अहमद शाह अब्दाली जब
लूट के जाने लगा तो उसे लगा कि इतनी भीड़
क्यों ले जानी क्योंकि हमें तो जो लेना था
यहां से बटोर था बटोर लिया तो जब यहां से
जा रहा था तो तमाम घाची हों को छोड़ गया

और उन्हें गांव दे गया कुछ को वो दे दिया
हप्सी को एक गांव दे दिया इसी तरीके से
दे तो आप इससे समझ सकते हैं तो मुझे लगा
कि शायद यही कारण तो नहीं है कि नरेंद्र

मोदी वहां पहुंचे और कहते हैं मैं अपने
परिवार में आ गया अपने घर पर आ गया
क्योंकि हिंदुस्तान के अंदर जो मुसलमान है
वो प्योर हिंदुस्तानी है वह कहीं बाहर से
नहीं आया वह कुछ पीढ़ियां पहले तक हमारा
आपका भाई

था हमारे आपके लोगों में से तो हिंदुस्तान
का मुसलमान उससे अलग नहीं है तो आज भी हम
अरेबियन जो मुसलमान है वह अपने आप को
सुपीरियर मानता है और हिंदुस्तान

पाकिस्तान और बांग्लादेश के मुसलमानों को
वह उस तरह से मुसलमान नहीं मानता
है और उनसे वह उस ढंग से सिंपैथी नहीं
रखता इससे मुझे लगा कि शायद यह कारण तो

नहीं तो प्रोफेसर साहब की इस बात पर मुझे
निश्चित रूप से एक लगा कि है क्या
तो निश्चित रूप से इस पर एक रिसर्च करने
की

जरूरत और इस रिसर्च पर उन्होंने मुझे कुछ
बुक्स बताई है और कहा है उनमें आप पढ़िए
उनके साथ जो आए थे व गाची कहलाते थे कि
नहीं

क तो यह है चलिए छोड़िए इसको क्या फर्क
पड़ता है मोदी जी अपने घर पहुंच गए
अपने परिवार में पहुंच गए यह वो कह रहे
हैं उनका जो मैं कह रहा हूं य उन्होंने ही
अपना वीडियो अपने

twitter4j कहा था भ्रष्टाचार मुक्त
भारत फिर मैंने ढूंढा कि क्या भ्रष्टाचार
मुक्त हो गया है तो मैंने देखा अभी हालही
में तो अशोक चौहाण उनको कांग्रेस पार्टी
से इस्तीफा दिला कर के अपने यहां जवाइन
कराया

है उनके ऊपर जब आदर्श सोसाइटी घोटा घोटाले
का मामला उठा था कारगिल के तमाम शहीदों को
सोसाइटी देने में तो उस मामले में
साहब जो डिप्टी सीएम है इस

समय महाराष्ट्र सरकार में देवेंद्र फर्नवे
उन्होंने इस मुद्दे को इतना उठाया था और
कहा था कि ऐसे है इतना बड़ा घोटाला करने
वाले और ये ऐसे जेल में जाएंगे और यही
नहीं उन्होंने कई और घोटाले

गिनाए नरेंद्र मोदी ने खुद अपने भाषण में
कहा इतना बड़ा घोटालेबाज
ऐसा वो आज वहां आ गए इसके पहले अजीत पवार
का हम देख ही चुने चुके हैं कि कैसे

उन्होंने मध्य प्रदेश में उन्हें 7 हजार
करोड़ रुपए के घोटाले का आरोपी बताया था
और फिर बाद में उसी के दो तीन दिन बाद वह
उनकी पार्टी में आ गए थे और फिर वह गले
लगा रहे थे इसी तरीके

से आप याद करिए शिवसेना के सिंधे के कारण
भ्रष्टाचार का आरोप लग रहा था और न जाने
क्याक वोह उनके यहां आ गए और वो भी
मुख्यमंत्री है इसके अलावा भी और एक य
उदाहरण नहीं ऐसे ही हेमंत विश्वा शर्मा को

आपने देखा ही है उन पर बुकलेट छापी थी
पूरी इसी तरीके से यदि सुभेंदु अधिकारी और
तमाम सारे लोग कहेंगे तो व भी आपको याद आ
जाएंगे तो इस तरह के बहुत सारे उदाहरण
मौजूद है और जब इतने उदाहरण मौजूद हो जहां
जाइए वही

मिलेंगे
तो आज वह सारे उनमें आ रहे एक और उन्होंने
कहा कि जनता के काम में सरकार का
नहीं होना
चाहिए मुझे इतना अच्छा लगा यह तो बहुत

अच्छी बात कही यही तो कहते हैं कि
मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस
और जनता को स्वतंत्र छोड़िए व कहां पूजा
करेगी क्या खाएगी क्या करेगी उसके आपको

इंतजाम करने चाहिए उसकी शिक्षा के उसके
स्वास्थ के उसके जीवन शैली के लिए उसके और
तमाम सारी चीजों के लिए उसको
इंफ्रास्ट्रक्चर देने के लिए उसको एक

बेहतर और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का वो मौका
दीजिए उसको मदद कीजिए उन चीजों में जहां
वह कमजोर पड़ता है यही सरकार के काम है
लेकिन यहां तो सरकार हर चीज में दखल दे

रही मंदिर में भी दखल दे रही कि पूजा तुम
क्या करोगे वो भी बताएगी खाओगे क्या ये भी
बताएगी और ना जाने क्या-क्या आप किससे
प्यार करोगे किससे शादी करोगे क्या करोगे

वो भी सब सरकार ही तय करेगी जब यह आता है
तो आता है वाह मोदी जी वाह आप जो कहते हैं
शायद वही नहीं
करते उसी का नतीजा है कि आपने जय जवान जय
किसान का नारा दिया था और आज किसानों पर

गोली चल रही है तमाम किसानों की मैं जहां
बैठा हूं वहां से 38 किलोमीटर की दूरी
पर वह जगह है जहां किसान जूझ रहा है रात
में 3 बजे तक वहां

पर बम फोड़े जा रहे थे आंसू गैस के गोले
छोड़े जा रहे थे पैलेट गन से उनके ऊपर
गोलियां चलाई जा रही थी कई लोगों के

बुलेट्स लगी हैं उनके आंखें चली गई है दो
लोग अंधे हो गए हैं एक की एक आंख फूटी है
और वो पूर्व सैनिक है और राहुल गांधी ने
अपने प्रदेश अध्यक्ष को राजा बनिंग को

वहां भेजा उसके उन लोगों की मदद के लिए और
फिर वहां जब वो अस्पताल में पहुंचे तो
उससे बात की और बात करने के बाद में राहुल
गांधी ने स्पष्ट रूप से निर्देश दिया कि
उन सब किसानों को जो भी मदद होगी वह

कांग्रेस पार्टी की तरफ से कराइए उनमें से
जो घायल है और उनको और अपने डॉक्टर सेल से
कहिए कि वह मदद करें और वहां पर उनको दबाए
और दूसरी सुविधाएं उपलब्ध कराए उन्होंने
हरियाणा के भी अपने पूर्व मुख्यमंत्री को

इस संदर्भ में कहा
है तो इसके बाद में राहुल गा धी का इरादा
यह है कि वह जाकर के उन किसानों से मिले
उसके लिए कांग्रेस तैयारी कर रही है
क्योंकि सरकार वहां जाने का रास्ता नहीं

दे रही तो सबसे बड़ी बात आज उनकी
मां सोनिया
गांधी जो रायबरेली से अभी लोकसभा सदस्य है
उन्होंने चकि व बीमार रहती है सभी कोई
जानता है क्षेत्र में नहीं टाइम दे सकती
है नहीं उतना चल सकती है तो उस स्थिति में

उनको राज्य स के लिए उन्होंने आज नामांकन
दाखिल किया है राजस्थान से और राजस्थान
में उनका नामांकन दाखिल कराने राहुल गांधी
प्रियंका गांधी गए साथ में अशोक गहलोत भी

थे और वहां पर उन्होंने नामांकन दाखिल
किया चलिए नामांकन हो गया सोनिया जी वहां
से हो जाएंगे लेकिन दूसरी तरफ भारतीय जनता
पार्टी जिनके नामांकन करा रही वो लोग कौन
है

एक आप देख लीजिए वही अशोक चौहान जिन्हें
बेईमान भ्रष्टाचारी और ना जाने क्या क्या
कहते थे तो वो करा रहे जिनके कारण
कांग्रेस बदनाम हुई जिनके कारण गांधी

नेहरू परिवार बदनाम होता है वह सारे लोग
उनके पास चले जाते हैं अमिताभ बच्चन भी
उन्हीं के साथ में होते हैं प्रचार करते
हैं और दुनियादारी करते और याद होगा कि
बोफोर्स केस में अजिताभ बच्चन के ही कारण

बदनाम हुए थे
राजीव
गांधी और उसी के बाद में उस परिवार ने
धीरे-धीरे उनसे दूरियां
बनाई तो आपके सामने है किस तरीके से वह

परिवार जिसने बेईमानी करी या नहीं करी जो
भी है उस परिवार को अताब बच्चन ने पैसा खा
लिया 64 करोड़ रुपया की दलाली खा ली तो इस
आरोप में राजीव गांधी जैसे स्वच्छ छवि के
ईमानदार सच्चे व्यक्ति को भी दाग झेलना

पड़ा तो यह स्थिति भी है चलिए तो वोह सारे
बेईमान जितने हैं वो धीरे-धीरे छट रहे हैं
और ईश्वर कर छटे इसी पर आता हूं हमने आपसे
कहा था कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो
न्याय यात्रा जैसे जैसे बढ़ेगी कोई ना कोई

ड्रामे होते रहेंगे आपने देखा जब मणिपुर
में उन्होंने शुरुआत करी तो मुंबई में किस
तरीके से देवड़ा जो है चले गए छोड़कर उसके
बाद में फिर बाबा चले गए जब वह बिहार
पहुंच रहे थे और उसके बाद में जब वह बिहार
पहुंचे तो नीतीश कुमार छोड़ के पाला चले

गए इंडिया का और उसके बाद में ममता बनर्जी
ने बंगाल पहुंचने के उनके पहले ही घोषणा
कर दी कि नहीं अब कांग्रेस से कोई वो नहीं
होगा एक सीट देंगे दो सीट देंगे लेना है
लेले नहीं तो जाए तो यह स्थिति है अकेले

लड़ेंगे उसके बाद में इसी तरीके से हमने
कहा था आगे बढ़ेंगे तो भी होगा और वह
लगातार कुछ ना कुछ कुछ ना कुछ इसी तरीके
का हो रहा है अभी अरविंद केजरीवाल ने
घोषणा कर दी कि हम अकेले ही लड़ेंगे भगवंत

मान ने क दी पंजाब और चंडीगढ़ में अकेले
ही लड़ेंगे और दिल्ली के लिए कल उनके जनरल
सेक्रेटरी ने कह दिया कि एक सीट देंगे
लेना है ले ले नहीं तो हम अकेले लड़ लेंगे
तो साहब यह स्थिति है इसके बाद में और वह

गिनाते हैं कि कांग्रेस की कोई लोकसभा सीट
नहीं है और उसका क्या स्टेक व ये भूल जाते
हैं कि उनकी भी कोई सीट नहीं है और वह यह
भी भूल जाते हैं कि उनके पास जो वोट है जो

भी कुछ है वोह कांग्रेस से ही छीना हुआ है
बहरहाल उनकी मर्जी इसके बाद में आज एक वो
शख्स भी जवाइन कर लेते हैं जो बड़े दिन से
उनके तीन दो दिन पहले के आप उनके ट्विटर

हैंडल पर पोस्ट देख लीजिएगा वो कांग्रेस
की प्रशंसा करते नजर आ रहे थे किसान और सब
के मामले में कांग्रेस के स्टैंड का वो
समर्थन कर रहे थे तो वो

जो है लाल बहादुर शास्त्री के पोते हैं और
उन्होंने जिस तरीके
से विभोर शास्त्री या व शास्त्री करके हैं
और वोह प्रियंका गांधी के पीए हुआ करते और
प्रियंका गांधी ने उन्हें सेक्रेटरी
बनवाया था कांग्रेस पार्टी में बाद में

कांग्रेस पार्टी जब मल्लिकार्जुन खड़ गया
आ है तो उन्होंने हटा दिया उ और उसके बाद
में प्रियंका गांधी ने भी उन्हें हटा दिया
था क्योंकि उनके बारे में बड़ी शिकायतें आ
रही थी लेकिन चलिए कोई बात नहीं ऐसे लोग

भारतीय जनता पार्टी को पसंद आने लगते हैं
वैसे भी लाल बहादुर शास्त्री के कई
रिश्तेदार उनके साथ हैं हालांकि लाल
बहादुर शास्त्री मरते मर गए और वह आरएसएस
और बीजेपी जो आज है जनसंघ इन सबको गाली

देते रहे लेकिन मरने के बाद में अब उनके
परिवार के लोग इधर-उधर भटक रहे हैं तो उसी
में से वो भी चले गए और व आज पहुंच गए
भारतीय जनता पार्टी का उन्होंने पट्टा पहन

लिया जो कल तक अपने इंट्रो में लिखते थे
कि मैं प्राउड फील करता हूं कि मैं
प्रियंका गांधी का पीए रहा तो यह स्थिति
है तो इस तरह के उनके पिता उनके दादाजी
लाल बहादुर शास्त्री भी पंडित जवाहरलाल

नेहरू के पीए रहे थे और जब पीए होते थे
तोव इस बात के लिए गर्व भी महसूस करते थे
और अपने जीवन के अंतिम क्षण तक कांग्रेस
और कांग्रेस ने उन्हें
दिया गरीब घर के उस व्यक्ति को ना सिर्फ

पढ़ाया लिखाया आगे बढ़ाया बल्कि देश का
प्रधानमंत्री भी
बनाया और उन्होंने भी उतनी वफादारी के साथ
देश के साथ भी और कांग्रेस के साथ भी और
गांधी नेहरू परिवार के साथ भी उतने

वफादारी के साथ काम किया तो यह संदेश जाता
लेकिन चलिए यह किस्से तो होने ही थे अब
आते हैं कि जिस तरीके की स्थितियां पैदा
हो रही है उन स्थितियों में है क्या ये

नफरत का माहौल पनपा करके किसानों को बदनाम
करके और सब कुछ करके होता है आप याद करिए
कभी किसानों को क्या कहते थे आजकल जो
किसान है जो आज आंदोलन कर रहे हैं उन्हें
कोई खालिस्तानी बता रहा है कोई कुछ बता

रहा है कोई कुछ बता रहा है तो इस तरह का
जब खेल होता है तो सवाल उठता है कि आखिर
है
क्या क्या वोह खालिस्तानी आप जाइए

देखिए हिंदुस्तान के अंदर सबसे
ज्यादा यदि अनाज पैदा करके इस देश के
लोगों का कोई पेट भरता है तो वह पंजाब है
वह हरियाणा है वो उत्तर प्रदेश नहीं है

उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा गेहूं पैदा करता
है लेकिन अपना भी पेट नहीं भर पाता है
उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा धन पैदा करता है

लेकिन अपना पेट नहीं भर पाता है उसके लिए
उसे पंजाब हरियाणा से गेहूं भी चाहिए होता
है और धान भी चाहिए होता दिल्ली को भी
चाहिए होता है दिल्ली के पास नहीं होता

दिल्ली की इतनी बड़ी आबादी इसके बाद में
अड़ोस पड़ोस के तमाम राज्य है जहां पर
इसकी जरूरत पड़ती है और उसकी भरपाई पंजाब
हरियाणा करते
हैं तो इससे आप समझ सकते हैं जो पंजाब

हरियाणा पेट भर रहे हैं उसमें मदद कर रहे
हैं उनको आप खालिस्तानी पाकि नी और न जाने
क्याक आतंकी कुछ भी कह देंगे सोचना पड़ता
है लेकिन यहां का किसान मेहनत करता है

अपनी उपज बढ़ाता है और सम्मान के साथ आगे
बढ़ता है यही वजह है कि पंजाब के किसान की
जो आमदनी है औसत आमदनी वह

000 से अधिक की है और इसी तरीके से
हरियाणा के किसान की भी आमदनी 22000 से
अधिक की लेकिन उत्तर प्रदेश के 8000 भी
नहीं बिहार के 5000 के अंदर तो आप किसकी

बात कर रहे बंगाल की इसी तरह बुरी स्थिति
और भी राज्यों की बुरी स्थिति उड़ीसा की
बहुत बुरी
स्थिति तो वहां के कितने किसान आकर के
लड़ाई लड़ सकते

हैं तो पंजाब का किसान इसलिए समृद्ध है
क्योंकि वोह आधुनिक ट्रैक्टर आधुनिक
संसाधन विज्ञान का पूरा इस्तेमाल और खेती
करता है और इसलिए है उसके पास में पानी भी

है दूसरी भी चीजें है वहां इतना बाढ का
खतरा नहीं होता है और इन सब स्थितियों में
और जो पिछली सरकारें नहीं है उन सरकारों
ने उन्हें मदद भी की कांग्रेस सरकार ने

तमाम बार उनके कर्ज माफी करी और वही नहीं
करी छत्तीसगढ़ में भी करी राजस्थान में भी
करी तो ऐसी स्थिति में आप समझ सकते हैं जब
केंद्र में सरकार थी तब भी कर
तो बाकी लोगों ने तो यह नहीं किया आम आदमी
पार्टी की सरकार है उसने भी कर्ज माफी

नहीं
करी लेकिन कांग्रेस ने करी थी जिसके कारण
वहां के किसान आज इस स्थिति में है कि वह
खड़े हो सकते लड़ सकते हैं तो आज वह आवाज
बुलंद कर रहे लेकिन यह कह देना कि वहां के
नहीं है यह गलत होगा 200 किसान यूनियन है

उनका साथ दे
रहे और सभी तो दिल्ली आ नहीं सकते तो कुछ
वहीं से कर रहे हैं कुछ कैसे कर रहे हैं
कुछ मदद भेज रहे हैं कुछ और चीजें कर रहे

और कुछ कुछ अपने प्रतिनिधि भी भेज रहे
पंजाब हरियाणा दिल्ली से बिल्कुल सटा हुआ
है इसलिए उन्हें कोई बहुत समस्या
नहीं तो ऐसी स्थिति में यह इस बात का

उदाहरण है कि झूठा बदनाम मत करिए इसे
सिखों और जाटों में मत बाट इसे सिख जाट और
आदर्श में मत बांट इसे पंजाब हरियाणा का
किसान मत कहिए देश का किसान क्योंकि इस
देश की जीडीपी में 19 पर योगदान उनका है

और 19 पर योगदान होने से आप समझ सकते हैं
कि इस देश की व्यवस्था चलाने में इस देश
की भूख मिटाने में उनका कितना बड़ा योगदान
यह नहीं होता तो आज भी हम अमेरिका जैसे

देशों के सड़े अनाज के लिए हाथ फैला रहे
होते इसीलिए हरित क्रांति जरूरी थी इसीलिए
दुग्ध क्रांति जरूरी थी इसीलिए वैज्ञानिक
क्रांति जरूरी थी और इसीलिए आई
जय जवान जय किसान का जब हम नारा देते हैं

और शास्त्री जी के बेटे ने यही कहा कि मैं
इसलिए जवाइन कर रहा हूं क्योंकि जय जवान
जय किसान का नारा जो दिया था मेरे दादा जी
ने उसको मोदी जी कर रहे हैं तो साहब यह कर
रहे हैं कि किसानों को मरने के लिए छोड़

दिया है और जवानों को अग्निवीर बना दिया
है तो ऐसे में इन सारी चीजों को खेल को
समझ सकते हैं और इस स्थिति में अकेले
राहुल गांधी ही तो है जो किसानों के साथ

खड़े हैं उनके लिए हर मदद करने को
तैयार तो ऐसी स्थिति में हमें सच को
पहचानना जानना हो कि कौन है जो असली है और
कौन है नकली है क्योंकि बीजू जनता दल ने
चिट्ठी दे दी कि हम भाजपा का साथ देंगे

भाजपा के कैंडिडेट को जिताएंगे इसी तरीके
से नितीश का आप चेहरा देख ही चुके हैं
ममता का चेहरा भी आपने देख लिया अरविंद
केजरीवाल का भी चेहरा देख लिया और भी तमाम

सारे जैन का भी चेहरा देख लिया और का देख
लिया तो असली कौन है जो लड़ रहा है
नरेंद्र मोदी से और जो कभी वहां नहीं जा
सकता तो वो तो राहुल गांधी है कांग्रेस
पार्टी उसके अलावा तो और कोई

नहीं तो ऐसी स्थिति में सच को जानना
पहचानना बेहद जरूरी है कि कौन आपका हित
ऐसी है और कौन फर्जी है जो हर जगह अपना
परिवार बना लेता है हर जगह अपना घर बता
देता है

Leave a Comment